ढाई माह में भी नहीं तुल पाई धान, हजारों क्विंटल धान पर मंडरा रहा खतरा

लेटलतीफी के कारण नहीं तुल पाई धान

By: amaresh singh

Updated: 10 Apr 2019, 12:02 PM IST

मंडला। धान उपार्जन को बंद हुए लगभग ढाई महीने का समय हो चुका है। 19 जनवरी को आखिरी तौल की गई थी। इस तिथि को उपार्जन के लिए अंतिम तिथि घोषित की गई थी। जिले के अधिकांश किसानों को इस बार ऐन वक्त पर अपनी धान लेकर उपार्जन केंद्र जाना बहुत भारी पड़ा और जिले में अभी तक ऐसे दर्जनों किसान शेष रह गए हैं, जिनकी धान उनकी लेटलतीफी के कारण नहीं तुल पाई। 19 जनवरी की आधी रात 12 बजे उपार्जन पोर्टल बंद कर दिए गए और जिले के लगभग 3335 किसानों की धान तुलने से रह गई। 19 जनवरी को जिले के कुल 43 उपार्जन केंद्रों में पहुंचे 4 हजार 53 किसानों को टोकन जारी किए गए लेकिन अंतिम तिथि होने के कारण जिले भर से 1 हजार 192 की धान मात्र खरीदी जा सकी और शेष 3 हजार 335 किसानों की धान अब भी तौल के लिए बच गई। 5 मार्च 2019 को जब उपार्जन पोर्टल दूसरी बार खुला तब भी शेष सभी किसानों की धान की तौल नहीं हो पाई क्योंकि निर्धारित समय बाद पोर्टल फिर से बंद कर दिया गया। जिला खाद्य आपूर्ति विभाग के अनुसार, 5 अप्रैल को भी धान उपार्जन का पोर्टल फिर से खोला गया था ताकि शेष किसानों से धान खरीदी जा सके लेकिन अब भी 166 टोकन की धान खरीदी से रह गई है। उक्त धान की मात्रा 6 हजार 260 क्विंटल है जिसकी तौल होना बाकी है।


अब तक की खरीद
विभागीय आंकड़ों के अनुसार, अभी तक 9 लाख 53 हजार 92 क्विंटल धान की खरीदी हो चुकी है जिसकी कीमत समर्थन मूल्य के अनुसार, 16,679 लाख रुपए है। इसमें से 9 लाख 34 हजार 448 क्विंटल धान को स्वीकृत किया गया है। इसका मूल्य 16,352 लाख रुपए है। जिसमें से किसानों को 16,338 लाख रुपए का भुगतान किया जा चुका है।


चार केंद्रों में रखी है धान
गौरतलब है कि जिले के धान उत्पादक क्षेत्रों मेंं दानीटोला, नैनपुर लैम्प्स, जहरमउ और जामगांव शामिल हैं। उक्त चारों क्षेत्रों मेें 166 टोकन की धान अब भी खरीदी के लिए बच गई है। इसमें सबसे अधिक टोकन दानीटोला केंद्र के हैं। इस केंद्र में 1910 क्विंटल धान की खरीदी बाकी है। जामगांव में 42 टोकन के अंतर्गत 2245 क्ंिवटल धान की खरीदी शेष है। नैनपुर लैम्प्स में 26 टोकन की 1844 क्विंटल धान और जहरमउ केंद्र के 7 टोकन की 260 क्ंिवटल धान अब भी खरीदी जानी शेष है।

फैक्ट फाइल
5 अप्रैल को की गई धान खरीदी
9809.20 क्विंटल उपार्जित मात्रा
3067.00 क्विंटल रिजेक्ट मात्रा
2696.08 क्विंटल पोर्टल में तकनीकी समस्या


इनका कहना है

बची हुई धान की खरीदी के लिए पुन: पत्र लिखा गया है। पोर्टल खुलने पर शेष धान की खरीदी की जाएगी।
ओपी पांडेय , जिला खाद्य आपूर्ति अधिकारी, मंडला।

amaresh singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned