न्याय के देवता हैं शनि, ये है पूजा करने का सही तरीका

न्याय के देवता हैं शनि, ये है पूजा करने का सही तरीका

Amaresh Singh | Publish: Jun, 10 2019 01:28:57 PM (IST) Mandla, Mandla, Madhya Pradesh, India

शनिदेव की मिलती है असीम कृपा

मंडला। शनि देवता को न्याय का देवता कहा जाता है. ऐसी मान्यता है कि वह सभी के कर्मों का फल देते हैं. कोई भी बुरा काम उनसे छिपा नहीं, शनिदेव हर एक बुरे काम का फल मनुष्य को ज़रूर देते हैं. जो गलती जानकर की गई उसके लिए भी और जो अंजाने में हुई, दोनों ही गलतियों पर शनिदेव अपनी नजर रखते हैं. इसीलिए उनकी पूजा का बहुत महत्व है.

यह भी पढ़ें-पिता तीन माह से पुत्री के साथ कर रहा था ज्यादती, पुत्री की शिकायत के बाद गिरफ्तार

ग्रहों की दशा भी सुधरती है

हर शनिवार शनि देवता कि पूजा की जाती है. मान्यता है कि अगर पूजा सही तरीके से की जाए तो इससे शनिदेव की असीम कृपा मिलती है और ग्रहों की दशा भी सुधरती है. यहां जानिए कि हर शनिवार शनिदेव की पूजा कैसे की जाती है. पं आनंद शास्त्री से जानें पूजा का तरीका।

यह भी पढ़ें-जब शनि अशुभ फल देने लगे तो करें ये उपाय

सरसों के तेल का दीयां जलाएं

हर शनिवार मंदिर में सरसों के तेल का दीया जलाएं. ध्यान रखें कि यह दीया उनकी मूर्ति के आगे नहीं बल्कि मंदिर में रखी उनकी शिला के सामने जलाएं और रखें. अगर आस-पास शनि मंदिर ना हो तो पीपल के पेड़ के आगे तेल का दीया जलाएं. अगर वो भी ना हो तो सरसों का तेल गरीब को दान करें.

यह भी पढ़ें-इन राशि वालों को किसी अपने व्यक्ति से विवाद की आशंका, स्वास्थ्य खराब हो सकता है

शनि चालीसा का जाप करे

शनिदेव को तेल के साथ ही तिल, काली उदड़ या कोई काली वस्तु भी भेंट करें. भेंट के बाद शनि मंत्र या फिर शनि चालीसा का जाप करे. शनि पूजा के बाद हनुमान जी की पूजा करें. उनकी मूर्ति पर सिन्दूर लगाएं और केला अर्पित करें. शनिदेव की पूजा के दौरान इस मंत्र का जाप करें ऊ प्रां प्रीं प्रौं स शनैश्चराय नम:

 

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned