scriptRambagh to Purva road, villagers demand repair | रामबाग से पुरवा मार्ग, ग्रामीणों ने की मरम्मत की मांग | Patrika News

रामबाग से पुरवा मार्ग, ग्रामीणों ने की मरम्मत की मांग

हुए गड्डे, हादसे का अंदेशा

मंडला

Published: December 29, 2021 09:46:45 pm

रामबाग से पुरवा मार्ग, ग्रामीणों ने की मरम्मत की मांग
मंडला। मुख्यालय से लगे हुए क्षेत्रों के मार्गो की हालत अब जर्जर हो गई है। मार्ग में बने गड्डे राहगीरों और स्थानीय लोगों के लिए मुसीबत बन गए है। मरम्मत के नाम पर कुछ स्थानों में गड्डें भरकर इतिश्री कर ली गई है। ऐसा ही एक मार्ग झूला पुल से लेकर रामबाग पुरवा मार्ग प्रशासन की उपेक्षा का शिकार है। विगत कई महिनों से यह मार्ग जर्जर हो चुका है लेकिन अभी तक मरम्मत कार्य नहीं किया गया है। करीब दो किमी के मार्ग पर जगह जगह गहरे गढ्डे हो गए है। इस वजह से लोगो को आवाजाही में कई तरह की परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। विगत दिनों इसी मार्ग में कुछ स्थानों के गड्डों को भरकर इतिश्री कर ली गई, लेकिन झूला पुल के पास रामबाग में सकरे मार्ग में बने गड्डे हादसों को आंमत्रण दे रहे है। यहां बारिश के दौरान कई बार हादसे भी हो चुके है इसके बाद भी किसी ने ध्यान नहीं है। इसको लेकर ग्रामीणों में रोष देखा जा रहा है।
जानकारी अनुसार वर्ष 2014 के बाद नर्मदा नदी में झूला पुल का निर्माण हो जाने पर इस मार्ग का निर्माण किया गया है। पहले रामबाग सकवाह पहुंचने के लिए नर्मदा नदी को पार करके या महाराजपुर के अस्थाई पुल से या पौंडी होकर दस किमी का चक्कर लगाकर लोग पहुंचते थे, लेकिन झूला पुल निर्माण के बाद नर्मदा नदी के इस पार के करीब 50 गांव मंडला से सीधे जुड़ गए है। इस मार्ग का निर्माण भी उसी समय हुआ है लेकिन इसके बाद से मार्ग का रखरखाव नहीं किया गया।
भारी वाहनों से मार्ग हुआ खराब :
बता दे कि कोरोना काल के पहले झूला पुल के एक छोर पर बड़े वाहनों, ट्रेक्टर ट्राली ना गुजरे इसके लिए लोहे के पाईप मार्ग में लगाए गए थे, यहां से सिर्फ छोटे चौपहिया और दोपहिया वाहनों का आवागामन हो रहा था। लेकिन कोरोना काल में यहां लगाए गए लोहे के पोल लग कर दिए गए। जिसके बाद यहां ट्रेक्टर ट्राली वाहनों की धमाचौकड़ी शुरू हो गई। जिसके कारण भी यह मार्ग जर्जर हो गया है। विरोध के बाद यहां लगे लोहे के तीन पाईप लगाए गए, जिसमें एक एक पाईप गायब हो गया है। जिसके कारण यहां ट्रेक्टरों का आवागमन हो रहा है। रेत वाहन किसी समय धमाचौकड़ी मचाते रहे है जिससे यह मार्ग जर्जर हो गया है। पंचायत के द्वारा नाली निर्माण नहीं कराने से गंदा पानी भी मार्ग पर बहता रहता है। जिससे मार्ग और खराब हो गया है। रामबाग से सकवाह तक कई जगह गहरे गढ्डे हो गए है। जिनमें कई बार दुर्घटनाएं हो चुकी है। बारिश के दौरान इन गढ्डो में पानी भर जाता है जो और भी खतरनाक हो जाते है।

करीब दो किमी मार्ग सकरा :
पुल निर्माण के बाद रामबाग सकवाह की जमीन कीमती हो गई। इसके चलते जिन लोगो की जमीन सड़क से लगी हुई वे किसी भी हाल में एक फिट जमीन छोडऩे तैयार नहीं है। इस मार्ग पर सरकारी भूमि पर मनमाना कब्जा भी किया गया है। जिससे मार्ग संकीर्ण हो गया है। खतरनाक मोड़ भी है। जिससे कभी भी हादसा हो सकता है। करीब पांच साल पहले मंडला तहसीलदार के द्वारा सड़क चौड़ीकरण के लिए अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई की गई थी इसके बाद प्रशासन द्वारा कोई कार्रवाई नहीं की गई। जिसके कारण यहां दोबारा अतिक्रमण हो गया है।
मार्ग में फैल रहा गंदा पानी :
बता दे कि पुरवा से होते हुए रामबाग झूला पुल मार्ग से करीब 50 गांव का सीधा संपर्क जुड़ा है। वर्तमान में मार्ग जर्जर हो गया है। इसको लेकर ग्रामीणों ने निर्माण विभाग से मरम्मत कार्य कराए जाने की मांग की है। इसके अलावा मार्ग के दोनो ओर अतिक्रमण राजस्व विभाग के द्वारा हटाया जाए। इस मार्ग पर अभी तक नाली का निर्माण भी नहीं हुआ है। इसके कारण रहवासी घरो से निकलने वाला गंदा पानी भी सड़क पर जमा हो रहा है। पंचायत से मांग की गई है कि पानी निकासी की व्यवस्था बनाई जाए।
रामबाग से पुरवा मार्ग, ग्रामीणों ने की मरम्मत की मांग
रामबाग से पुरवा मार्ग, ग्रामीणों ने की मरम्मत की मांग

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Subhash Chandra Bose Jayanti 2022: आज इंडिया गेट पर सुभाष चंद्र बोस की होलोग्राम प्रतिमा का PM Modi करेंगे लोकार्पणCovid-19 Update: भारत में कोरोना के 3.37 लाख नए मामले, मौत के आंकड़ों ने तोड़े सारे रिकॉर्डUP चुनाव में PM Modi से क्यों नाराज़ हो रहे हैं बिहार मुख्यमंत्री नितीश कुमारU19 World Cup: कौन है 19 साल का लड़का Raj Bawa? जिसने शिखर धवन को पछाड़ रचा इतिहासSubhash Chandra Bose Jayanti 2022: पढ़ें नेताजी सुभाष चंद्र बोस के 10 जोशीले अनमोल विचारCG-महाराष्ट्र सीमा पर चेकिंग में लगे पुलिस जवानों से मारपीट, कोरोना जांच पूछा तो गाली देते हुए वाहन सवार टूट पड़े कांस्टेबल परसरकार का बड़ा फैसला, नई नीति में आमजन व किसानों को टोल टैक्स से छूटछत्तीसगढ़ में 24 घंटे में 11 कोरोना मरीजों की मौत, दुर्ग में सबसे ज्यादा 4 संक्रमितों की सांसें थमी, ज्यादातार वे जिन्होंने वैक्सीन नहीं लगाया
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.