बिजली बिल के लिए शासकीय विभागों से लाखों की वसूली

बिजली बिल की बकाया राशि वसूलने में विभाग ने बरती सख्ती

By: Mangal Singh Thakur

Published: 03 Apr 2021, 11:26 AM IST

मंडला। जिले के जिन शासकीय विभागों की लापरवाही के कारण विद्युत विभाग की बकाया वसूली का सारा गणित गड़बड़ा गया। बिल वसूली के लिए लाखों रुपए की लेनदारी का संकट विद्युत विभाग पर आ गया। ऐसे में मार्च 2021 में अपने लक्ष्य पूर्ति के लिए बिजली विभाग सख्ती पर उतर आया और सबसे पहले टारगेट बनाया गया उन शासकीय विभागों को, जिन पर लाखों रुपयों का बकाया शेष था। जानकारी के अनुसार, विद्युत विभाग के लक्ष्य को पीछे करने में सबसे अधिक बकाया नल जल योजना पर था। इसके अलावा पुलिस विभाग, शिक्षा विभाग, राजस्व विभाग ने भी लाखों रुपए के बिल भुगतान को रोक रखा था। इन सबकी वसूली के लिए विद्युत विभाग ने जमकर सख्ती बरती। घरेलू कनेक्शनधारियों पर भी लाखों रुपयों की देनदारी रही। इसके लिए 10 हजार रुपए से अधिक बकाया राशि वाले घरेलू कनेक्शनधारियों को कुर्की और बैंक एकाउंट सीज करने का नोटिस जारी किया गया। नतीजा यह रहा कि मार्च 2021 खत्म होते होते विद्युत विभाग ने लाखों रुपयों की वसूली कर ली और उसका खजाना भर गया।


विभाग ने की शत प्रतिशत वसूली विद्युत विभाग के अधीक्षण अभियंता शरद बिसेन ने बताया कि शासकीय विभाग में बकाया राशि मिल जाने से बढ़ी राहत मिली। सर्वाधिक बकाया भुगतान नल जल योजना से हुआ। इस योजना से 3 करोड़ 94 लाख रुपए की वसूली की गई। इसके अलावा पुलिस विभाग से 55 लाख, शिक्षा विभाग से 24 लाख, राजस्व से 12 लाख रुपए की वसूली की गई। औद्योगिक और व्यवसायिक प्रतिष्ठानों ने भी लाखों रुपयों का बिल भुगतान महीनों से नहीं किया था। औद्योगिक क्षेत्र से कुल 78 लाख और व्यवसायिक प्रतिष्ठानो से 161 लाख रुपए की वसूली की गई। जिले में मार्च माह में 1098.12 लाख रुपए का लक्ष्य निर्धारित किया गया था। जिसमें क्रमबद्ध कार्य करते हुए विभाग ने 1114.83 लाख रुपए की वसूली की है।
अभियंता शरद बिसेन ने बताया कि समय पर भुगतान न करने वाले उपभोक्ताओं पर कानूनी कार्रवाई करने की चेतावनी दी गई है।


विभाग वसूली
नलजल 3.94 करोड़
पुलिस 55 लाख
शिक्षा 24 लाख
राजस्व 12 लाख
औद्योगिक 78 लाख
व्यावसायिक 161 लाख


वर्जन:
अभी कुछ उपभोक्ताओं की राशि बकाया है जिसकी वसूली के लिए मुनादी कराई जा रही है। वहीं नोटिस भी जारी किए जा रहे हैं।
शरद बिसेन, अधीक्षण अभियंता, विद्युत विभाग, मंडला।

Mangal Singh Thakur
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned