तीन वार्ड के वाशिंदे एक हैंडपंप के भरोसे

एक किमी दूर से ला रहे पानी

By: Mangal Singh Thakur

Published: 11 Apr 2021, 11:39 AM IST

मंडला. इस वर्ष बारिश कम हुई है। इस कारण मार्च माह से ही जिले के ग्रामीण अंचलों में जल संकट गहराने लगा था। गर्मी अपना रूद्र रूप दिखाना शुरू कर दिया है। अप्रैल माह का प्रथम पखवाड़ा समाप्त होने को है और ग्रामीण क्षेत्रों में लोग पानी के परेशान दिख रहे है। दूर-दूर से लोग पीने के पानी की व्यवस्था कर रहे है। पेयजल के लिए लोग हैंडपंप, कुंआ, नदी समेत अन्य जल स्त्रोत का सहारा लेने मजबूर है, लेकिन ये जल स्त्रोत भी अब धोखा देने लगे है। ग्रामीणों की जल समस्या के लिए विभाग कोई पुख्ता इंतजाम नहीं कर रहा है। जिसके कारण ग्रामीण क्षेत्रों में पानी के लिए ग्रामीणों में आक्रोश पनप रहा है।
जानकारी अनुसार जिले के 1209 गांवों को वर्ष 2024 तक हर घर नल कनेक्शन का लक्ष्य जल जीवन योजना के तहत रखा गया है। जिससे हर परिवार को शुद्ध पेयजल उपलब्ध हो सके। इस शुद्ध पेयजल के लिए अभी कई ग्रामों के ग्रामीणों को इंतजार करना पड़ेगा। फिलहाल ग्रामीण पानी के लिए कुंए, हैंडपंपों में घंटो लाईन लगाकर पेयजल की व्यवस्था कर रहे है।
बता दें कि जिले के विकासखंड नारायणगंज के ग्राम टिकरिया में जल संकट गहरा गया है। टिकरिया के वार्ड नंबर 16, 17 और 18 में नलजल योजना समेत यहां लगे हैंडपंप हवा उगल रहे है। इन तीन वार्ड के वंशिदे पानी के लिए एक किमी दूर से पेयजल की व्यवस्था करने मजबूर है। विगत वर्ष तक नलजल योजना और यहां लगे करीब चार हैंडपंपों से लोगों को पर्याप्त पानी मिलता थाए लेकिन इस वर्ष करीब एक माह से ना तो नलजल योजना से घर तक पानी पहुंच रहा है और ना ही हैंडपंपों से पानी निकल रहा है।

शाम, सुबह लगती है भीड़
ग्राम टिकरिया के वार्ड 16, 17 और 18 में पानी के लिए फिलहाल एक ही हैंडपंप है जिसमें से पानी निकल रहा है। जहां लोग पानी के लिए अलसुबह से हैंडपंप पहुंच जाते है। पानी के लिए लोगों को दो-दो घंटे इंतजार करना पड़ता है। इसके साथ लोग एक किमी दूर वार्ड नंबर 11 हाईवे पार करके पानी के लिए जा रहे हैं। जिससे दुर्घटना की अशंका भी रहती है।नलजल योजना को संचालित करने के लिए पंचायत द्वारा एक व्यक्ति को लगाया गया था, जो दोनो समय पानी सप्लाई के लिए किए गए बोर के कनेक्शन को चालू करता था, लेकिन उक्त व्यक्ति द्वारा किसी भी वक्त नल चालू कर दिया जाता था। इस बोर के कनेक्शन को वार्ड का कोई भी व्यक्ति आकर चालू कर लेता था, इस तरफ भी पंचायत का कोई ध्यान नहीं है।

एक बोर में है पानी, फिर भी प्यासे
ग्राम टिकरिया के तीन वार्ड की उमा यादव, कला बाई, भगवती यादव, लता बाई, रामवती यादव, बसंती यादव, बिसरती यादव, आशा सिंगरौरे, ज्योति यादव, अंजना यादव, अजीत यादव समेत अन्य ग्रामीणों ने बताया कि 16, 17 और 18 नंबर वार्ड के हैंडपंंपों का जल स्तर तो नीचे चला गया है। वहीं नलजल योजना के बोर में भी पानी नहीं आ रहा है। एक बोर में पानी है, लेकिन पंचायत द्वारा कहा जाता है कि इसका जल स्तर भी नीचे चले गया है, ग्रामीणों ने मौके पर जाकर इस बोर को चालू करके देखा। इस बोर से पानी तो आ रहा है, लेकिन जितने फोर्स के साथ नलजल योजना के आना चाहिए वैसा नहीं आ रहा है। ग्रामीणों का कहना है कि यहां मोटर में कुछ खराबी है, जिसके कारण पानी फोर्स से नहीं आ पा रहा है।

Mangal Singh Thakur
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned