रेत चोरों ने पटवारी पर किया जानलेवा हमला

दो पहिया वाहन पर टै्रक्टर से मारी टक्कर, थाना कोतवाली में मामला दर्ज

By: shivmangal singh

Published: 24 May 2018, 08:00 PM IST

 

मंडला। रेत चोरों के हौसले अब इतने बुलंद हो चुके हैं कि वह अब जिले के शासकीय कर्मचारियों पर हमला करने से भी नहीं चूक रहे हैं। मंडला तहसील के ग्राम मोहनिया पटपरा में नर्मदा नदी में हो रहे अवैध खनन के दौरान रेत से भरी ट्रैक्टर-ट्राली रोकने पर रेत चोरों ने पटवारी श्याम मरावी और कोटवार रामबिहारी के साथ गालीगलौच की और उन पर हमला कर दिया। मामले की शिकायत थाना कोतवाली में की गई है। गौरतलब है कि नई रेत नीति का जितना हो हल्ला शासकीय तौर पर मचाया जा रहा हैं और आम उपभोक्ता को लाभ पहुंचाने की बात कही जा रही हैं उसके परिणाम दूर-दूर तक दिखाई नही दे रहे हैं। आम नागरिक रेत के लिए परेशान हो रहे हैं और जरूरत पडऩे पर महंगे दामों पर रेत खरीदनी पड़ रही हैं। यही नहीं, इस अवैध कारोबार में जुड़े लोग आये दिन लड़ाई-झगड़ा मार-पीट करने से भी नही चूक रहे हैं। जिम्मेदारों के संरक्षण में पूरा खेल चल रहा हैं। जिसकी बानगी गुरूवार को दिखाई दी। जब पटवारी श्याम मरावी ने रेत से भरे ट्रेक्टर को पूृछ-ताछ के लिए रोका तो रेत अपराधियों ने हमला करते हुए जान से मारने की धमकी दे डाली। जानकारी के अनुसार मुख्यालय से लगी ग्राम पंचायत मोहनिया पटपरा में लम्बे समय से रेत का अवैध कारोबार स्थानीय नदी पर किया जा रहा हैं। अवैध रेत से भरे ट्रेक्टर का चालक शिवरतन गौड़ निवासी मोहनिया पटपरा को जब पटवारी ने रोकने का प्रयास किया तो तेज गति से ट्रेक्टर को भगाते हुए पटवारी के दुपहिया वाहन में चढ़ाने का प्रयास किया और धमकी देते हुए मौके से ट्रैक्टर छोड़कर फरार हो गया। पटवारी की शिकायत पर सिटी कोतवाली में प्रकरण पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया है। जानकारी के अनुसार तहसीलदार के निर्देश पर पटवारी और कोटवार झीरो बाई का सीमांकन करने मोहनिया पटपरा गए थे। घटना क्रम से घबराए पटवारी ने वरिष्ठ अधिकारियों के साथ साथी पटवारियों को सूचना दी। काफी संख्या में पटवारी सिटी कोतवाली में एकत्रित हो गए। पूरे मामले में कलेक्टर ने संज्ञान लेते हुए थाना प्रभारी को आवश्यक कार्यवाही के निर्देश दिए है। गौरतलब है कि रेत चोरों के हौसले बढ़ते ही जा रहे है। नर्मदा नदी से लगे क्षेत्रों में अवैध खनन के साथ रेत चोरी का सिलसिला सुबह से लेकर देर रात तक दिखाई दे रहा है। वहीं विभागीय कार्यवाही न होने से रेत माफियाओं के हौसले बुलंदी पर हैं।
बॉक्स:
नेता के संरक्षण में रेत चोरी
जिला मुख्यालय से नजदीक हिरदेनगर क्षेत्र के तलैया टोला और कटंगा टोला में रेत का अवैध उत्खनन अब भी जारी है। रेत चोरों को मिल रहे राजनीतिक संरक्षण के कारण पुलिस और खनिज विभाग ने भी उक्त दोनों टोलों में कार्रवाई न करने की ठान रखी है। पुलिस की मनमानी से त्रस्त अनेक ट्रैक्टर चालकों का कहना है कि चंदा वसूली का हिस्सा न बनने पर ही वाहन चालकों पर कार्रवाई की जा रही है। जिला मुख्यालय के कुछ राजनेताओं के कार्यकर्ताओं द्वारा टै्रक्टर चालकों को सीधी चुनौती दी जा रही है कि या तो चोरी का चंदा दो या फिर कहीं और से रेत भराव करो। पुलिस विभाग द्वारा भी राजनेताओं के दबाव का पूरा पालन किया जा रहा है। यही कारण है कि रेत का अवैध परिवहन करते वाहनों की धमाचौकड़ी पर नियंत्रण करने से पुलिस बच रही है। पीडि़़त टै्रक्टरचालकों का कहना है कि कटंगाटोला और तलैयाटोला में राजीनिक रसखू रखने वाले जिला मुख्यालय निवासी नेता के निर्देश पर हर ट्रॉली का हिसाब निर्धारित कर रखा गया है। नियम का पालन करते हुए जो ट्रैक्टर ट्रॉली चालक क्षेत्र में रेत परिवहन के लिए पहुंच रहे हैं। उनके द्वारा चंदा वसूली का हिस्सा नहीं बनने पर न केवल हिरदेनगर चौकी द्वारा कार्रवाई की जा रही है। बल्कि खनिज विभाग भी ऐसे ट्रैक्टर चालकों को ही अपना लक्ष्य बना रहे हैं। मनमाना चंदा देने वाले टै्रक्टर चालक सारे नियमों की धज्जियां उड़ाते हुए न केवल बेलगाम सड़कों पर भाग रहे हैं बल्कि उन्हें राजनीतिक संरक्षण देने वाले नेता के गुर्गों द्वारा खुली छूट दी गई है कि कोई रास्ता रोके तो उस पर टै्रक्टर ही चढ़ा दो। यही कारण है कि पटवारी पर हमला करने की हिम्मत टै्रक्टर चालक द्वारा की गई।
वर्जन:
पटवारी पर हुए हमले से सभी पटवारियों में गहरा अक्रोश है। पुलिस प्रशासन से मांग की गई है कि आरोपियों को जल्द से जल्द गिरफ्तार किया जाए।
गीतेन्द्र बैरागी, जिलाध्यक्ष, पटवारी संघ।
००००००००

shivmangal singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned