जिला अस्पताल में फिर से शुरू होगी सोनोग्राफी की सुविधा

बढ़ते कोविड संक्रमण के चलते बंद की गई थी मरीजों की सोनोग्राफी

By: Mangal Singh Thakur

Published: 28 May 2021, 12:26 PM IST

मंडला. कोरोना महामारी का असर सिर्फ व्यावसायिक, शैक्षिक क्षेत्रों, सार्वजनिक आयोजनो इन पर ही नहीं पड़ा। चिकित्सा के क्षेत्र में भी ऐसी कुछ सेवाएं हैं जिन्हें कोविड 19 के बढ़ते संक्रमण के चलते बंद करना पड़ा। इनमें से एक है सोनोग्राफी सेवा। जबकि सोनोग्राफी सीधे सीधे तौर पर मरीजों की जान और उनके स्वास्थ्य की सुरक्षा से जुड़ी हुई है। इनमें भी सबसे अधिक संवेदनशील है किसी गर्भवती महिला की स्वास्थ्य संबंधी सुरक्षा। गर्भवती महिला के गर्भ में पल रहे शिशु की सलामती के साथ उस महिला के स्वास्थ्य संबंधी परेशानी से जुडी समस्याओं के समाधान के लिए सोनोग्राफी अत्यंत महत्वपूर्ण है। इन सबके बावजूद इस सेवा को जिला अस्पताल में बंद कर दिया गया था।
इसका कारण बताते हुए सिविल सर्जन डॉ केआर शाक्य ने कहा कि दरअसल अस्पताल के सभी चिकित्सकों को कोविड चिकित्सक घोषित किया गया था। सभी चिकित्सक कोविड मरीजों की देखभाल में संलग्न थे। ऐसे में सोनोग्राफी की जांच मे सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं हो पाता और कोविड संक्रमण का खतरा बना रहता। यही कारण है कि जिला अस्पताल में रूटीन सोनोग्राफी को स्थगित किया गया था। चूंकि अब कलेक्टर कार्यालय से सोनोग्राफी सेवा को पुन: बहाल करने के लिए निर्देश जारी किए गए हैं इसलिए यह सेवा जिला अस्पताल में शुरू की जा रही है।

Mangal Singh Thakur
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned