तीसरी भाषा के साथ शुरु हुई 10वीं परीक्षा

सख्त पहरे में शांतिपूर्ण ढंग से पेपर संपन्न

By: Vikhyaat Mandal

Updated: 02 Mar 2019, 11:51 AM IST

मंडला। माध्यमिक शिक्षा मंडल मध्यप्रदेश की हाईस्कूल परीक्षा शुक्रवार की सुबह 9 बजे तीसरी भाषा के साथ शुरु हो गई। कक्षा 10वीं का पहला पर्चा तीसरी भाषा का रहा जिसमें कुल 16 भाषाओं की परीक्षाएं होनी थी। जिले भर से 18 हजार 710 विद्यार्थियों को यह परीक्षा देनी थी लेकिन मात्र एक ही भाषा संस्कृत को ही परीक्षार्थियों ने चुना। परीक्षा प्रभारी महेंद्र श्रीवास द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार, हजारों की संख्या में छात्र-छात्राएं कल की परीक्षा में शामिल हुए लेकिन संस्कृत के अलावा अन्य किसी तीसरी भाषा में पर्चे नहीं दिए गए। जानकारी के अनुसार, कक्षा 10वीं की परीक्षा के लिए संस्कृत के अलावा उर्दु, मराठी, बंगाली, गुजराती, तेलुगु, तमिल, पंजाबी, सिंधी, मलयालम, परशियन, अरेबिक, फ्रेंच, रशियन, कन्नड़ एवं उडिय़ा में भी परीक्षा देने की सुविधा जिले के सभी निर्धारित परीक्षा केंद्रों में उपलब्ध कराई गई थी। परीक्षा प्रभारी के अनुसार, जिले भर में कुल 487 परीक्षार्थियों की अनुपस्थिति रही।
छह परीक्षा केन्द्र संवेदनशील
जानकारी के अनुसार, जिले के छह परीक्षा केंद्रों को संवेदनशील की श्रेणी में रखा गया है। 84 केन्द्रों में से 6 परीक्षा केन्द्र शासकीय कन्या शाला महाराजपुर, शासकीय हाईस्कूल पड़ाव, शासकीय हाईस्कूल बिंझिंया, शासकीय नवीन शाला नैनपुर, शासकीय कन्या शाला बिछिया, शासकीय हाईस्कूल बीजाडांडी संवेदनशील हैं। इन परीक्षा केन्दों में प्रेक्षकों की नियुक्ति के साथ ही एक चार का सशस्त्र पुलिस बल भी तैनात रहा। बताया गया है कि इन सभी छह परीक्षा केंद्रों मे निजी अथवा स्वाध्यायी परीक्षार्थियों को शामिल किया गया था। इसलिए उक्त केंद्रों को संवेदनशील माना गया।
जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय में कन्ट्रोल रूम स्थापित किया गया है। कन्ट्रोल रूम का दूरभाष क्रमांक 07642-251518 है। जिला शिक्षा अधिकारी अशोक झारिया ने बताया कि कन्ट्रोल रूम पूरी परीक्षा अवधि के दौरान सतर्क रहेगा ताकि परीक्षा केन्द्रों में किसी भी प्रकार की कठिनाईयों का निराकरण अविलंब किया जा सके।
प्रतिबंधित रहे मोबाइल
जिले के सभी परीक्षा केन्द्रों में मोबाइल फोन पूर्णत: प्रतिबंधित रहा। परीक्षा अवधि के दौरान कोई भी अनाधिकृत व्यक्ति परीक्षा केन्द्र के 100 मीटर के दायरे में प्रवेश नहीं कर सके, ऐसी व्यवस्था की गई। परीक्षाएं सुबह 9 बजे से प्रारम्भ होनी थी इसलिए छात्रों को केवल 8.45 बजे तक ही परीक्षा केन्द्र में प्रवेश दिया गया। परीक्षा प्रारम्भ होने के 10 मिनिट पूर्व उत्तर पुस्तिका दी गई ताकि छात्र उत्तर पुस्तिका के मुख्य पृष्ठ की सभी प्रविष्टियां पूर्ण कर सकें। उत्तर पुस्तिका वितरण के 5 मिनिट के बाद प्रश्नपत्र वितरित किए गए।

Vikhyaat Mandal
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned