सौभाग्य योजना के घोटाले में ठेकेदारों पर भी गिरेगी गाज

बिछिया विधायक ने पत्र देकर ऊर्जा मंत्री से की एफआईदर्ज करावाने की मांग

By: Mangal Singh Thakur

Updated: 06 Jan 2020, 11:27 AM IST

मंडला. आदिवासी बाहुल्य मंडला व डिंडोरी जिले में विद्युत विभाग अंतर्गत सौभाग्य योजना में हुए घोटाले को लेकर बिछिया विधायक नारायण सिंह पट्टा ने भोपाल मुख्यमंत्री कार्यालय में ऊर्जा मंत्री प्रियव्रत सिंह से मुलाकात की है। जहां मंडला-डिंडोरी में हुए सौभाग्य योजना में घोटाले पर ठेकेदारों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने की मांग की। बताया गया कि शिकायत के आधार पर की गई विभागीय जांच में दोषी अधिकारियों के विरुद्ध निलंबन व वसूली की कार्यवाही की गई है। इस योजना के तहत दोनो जिलों को मिलाकर लगभग 70 करोड़ रुपये के कार्य किये गए थे जिसमें अधिकारियों व ठेकेदारों ने मिलकर घोटाला किया था जिसकी जांच में अब तक 20 करोड़ रुपये से अधिक की हेराफेरी व अधिक भुगतान प्रमाणित हो चुका है जांच अब भी जारी है। इस घोटाले को लेकर मंडला व डिंडोरी जिले के दोनों अधीक्षण यात्रियों व कार्यपालन अभियंताओं को निलंबित कर उन्हें लगभग 13 करोड़ की वसूली के नोटिस जारी किए गए हैं। वहीं इस मामले में दोषी ठेकेदारों के विरुद्ध भी एफआईआर दर्ज कर उन्हें ब्लैक लिस्टेड करने की मांग भी की जा रही है। इस संदर्भ में बिछिया विधायक नारायण सिंह पट्टा ने शनिवार को भोपाल मुख्यमंत्री कार्यालय में ऊर्जा मंत्री प्रियव्रत सिंह से मिलकर दोषी ठेकेदारों के विरुद्ध भी कार्यवाही करने की मांग की, साथ ही इस आशय का पत्र भी ऊर्जा मंत्री को दिया गया। जिस पर ऊर्जा मंत्री ने इस परिपेक्ष्य में कार्यवाही करने के लिए आश्वासन दिया है। ऊर्जा मंत्री ने कहा कि जितने दोषी अधिकारी हैं उतने ही दोषी ठेकेदार भी हैं और इन पर कार्यवाही होना जरूरी भी है। इस संदर्भ में उन्होंने विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों को निर्देशित कर शीघ्र कार्यवाही करने के लिए कहा है। वहीं विधायक ने कहा है कि विधानसभा सत्र में भी इस विषय को लेकर ध्यानाकर्षण प्रस्ताव दिया जाएगा। जब तक इस मामले को लेकर कार्यवाही पूरी नहीं होती तब तक वे प्रयास करते रहेंगे।

Mangal Singh Thakur
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned