scriptThe darkness of the evening became the trouble of the people, the torc | शाम का अंधेरा लोगो की मुसीबत, मोबाइल की टार्च बना अंधेरा का सहारा | Patrika News

शाम का अंधेरा लोगो की मुसीबत, मोबाइल की टार्च बना अंधेरा का सहारा

गुमराह करके दिया प्लाट

मंडला

Published: April 27, 2022 04:40:28 pm

मंडला. अवैध कॉलोनियों के निर्माण पर अंकुश लगाने के लिए सरकार ने नियम तो बना दिए हैं लेकिन इनका पालन कराने में नगर पालिका व स्थानीय प्रशासन नाकाम है। यही वजह है कि शहर के अधिकांश इलाकों में नियम विरुद्ध कॉलोनी काटने का सिलसिला जारी है। जिसका खामियाजा कॉलोनी वासियों को सुविधाओं के अभाव में भुगतना पड़ रहा है। जिसका एक उदाहरण उपनगर महाराजपुर के ज्वाला जी वार्ड के आशियाना कॉलोनी का है। यहां कॉलोनाईजर पार्टरशिप में है जो आशियाना कॉलोनी में विगत 5 से 6 वर्षो से प्लाटिंग कटाने का कारोबार कर रहा है। कॉलोनाईजर द्वारा बुकलेट के आधार पर नागरिकों को अच्छे-अच्छे सपने दिखाया गया लेकिन दरअसल उन्हें सुविधाएं के नाम पर गुमराह किया गया है। जानकारी अनुसार जिले के तीन लोग पार्टनशिप में आशियाना कॉलोनाईजर का कारोबार कर रहे है और जिले के नागरिक को गुमराह करके सुविधाओं के नाम पर प्लाटिंग काट रहे है। कॉलोनीवासियों का कहना है कि कॉलोनाईजर के द्वारा आशियाना कॉलोनी को नगर पालिका के हेंडओवर नहीं किया गया है जिसके कारण यहां बिजली, पानी, निकासी नाली एवं स्ट्रीट लाईट की काफी परेशनी है। विगत दिनों अपनी समस्याओं को लेकर कॉलोनीवासियों द्वारा सामुहिक रूप से ज्वाला जी वार्ड क्रमांक 21 की पार्षद शिखा श्रीवास्तव को आवेदन किया था और पार्षद द्वारा आवेदन की प्रतिलिपि संलग्न करके नगर पालिका अध्यक्ष एवं मुख्य नगर पालिका अधिकारी को प्रस्तुत किया गया था। लेकिन नगर पालिका का कहना है कि आशियाना कॉलोनी ज्वाला जी वार्ड क्रमांक 21 के अंतर्गत आता तो जरूर है लेकिन कॉलोनाईजर द्वारा हमे कॉलोनी को हेंडओवर नहीं किया गया है जिसके चलते सुविधाएं उपलब्ध नहीं करा पा रहे हैं।
सुविधाएं के नाम पर किया गुमराह
कॉलोनीवासी अधिकारियों से बार-बार शिकायत कर थक चुके हैं लेकिन अभी तक कोई भी समस्या का समाधान नहीं हो सका है। चिंताजनक बात यह है कि ऐसी कोई समस्या नहीं है जो आशियाना कॉलोनी में नहीं है। यहां रहने वाले लोगों ने बताया कि उन्हें कॉलोनाइजर ने प्लाट देते समय उन्हें हर सुविधा उपलब्ध करवाने के सब्जबाग दिखाए थे लेकिन बाद में वह अपनी सभी बातों से मुकर गए। प्रशासनिक अधिकारियों से जब शिकायत करने पहुंचे तो उन्होंने भी जिम्मेदारी से पल्ला झाड़ लिया। अब उन्हें समझ नहीं आ रहा है कि उनकी समस्याएं कौन दूर करेगा।
रात का अंधेरा कॉलोनीवासियों की परेशान
आशियाना कॉलोनी में जैसे-जैसे रात का अंधेरा होता है वैसे-वैसे कॉलोनीवासी अपने घर में दुबक कर रहते है। यहां सुविधाओं के नाम पर रात्रि के समय कॉलोनी में अंधेरा छाया रहता है। यहां स्ट्रीट लाईट न होने से काफी परेशानियों का सामना कॉलोनीवासी को करना पड़ता है। शासकीय कर्मचारी, प्राईवेट कर्मचारी एवं बिजनेसमेन सभी प्रकार के लोग रहते है जो अपने दफ्तर से घर की ओर रात्रि के समय जाते हैं, लेकिन उन्हें मोबाईल की टॉर्च या गाड़ी की हेडलाईट के सहारे घर तक पहुंचना पड़ता है। क्योंकि रात्रि के समय कॉलोनी के बीचो-बीच खाली प्लाट में नशेडिय़ों का जमावड़ा बना रहता है। जिससे विवाद की स्थिति भी निर्मित होती है। विगत दिनों को सिटी कोतवाली में भी इसकी शिकातय की गई थी लेकिन यहां गश्ती नहीं बढ़ाई गई है।
लालच में लिया प्लाट पड़ा महंगा
लोगों ने व्यवस्थित कॉलोनी से कम दाम व सड़क किनारे प्लाट मिलने के लालच में प्लाट खरीदकर मकान तो बना लिया। लेकिन अब सुविधाएं के नाम पर दूर-दूर तक कुछ नजर नहीं आ रहा है। सड़क, नाली, बिजली सहित सफाई जैसी मूलभूत सुविधाओं के लिए कॉलोनीवासियों को जूझना पड़ रहा है। बताया जाता है कि वर्तमान मेें आशियाना कॉलोनी में करीब 109 प्लॉट काटे गए है। यहां के स्थानीय निवाससियों का कहना है कि वार्ड पार्षद शिखा श्रीवास्तव द्वारा हमारी समस्या को सुना जाता है उसको दूर करने का प्रयास भी किया जाता है लेकिन विभागीय कार्यवाही नहीं हो रही है।
इनका कहना-
स्ट्रीट लाईट न होने से असामाजिक तत्वों का जमावड़ा बना रहता है। यहॉ असामाजिक तत्वों से विवाद की स्थिति बनी रहती है। शाम के समय महिलाएं अपने घर से बाहर नही निकल पाती है।
राकेश श्रीवास्तव, आशियाना कॉलोनी महाराजपुर
नलजल योजना की यहां कोई सुविधाएं नही है। यहां बोरिंग का पानी पीने योग्य न होने से कॉलोनी वासियों को अतिरिक्त खर्च करना पड़ रहा है।
आरपी मर्सकोले, आशियाना कॉलोनी महाराजपुर
नक्शे और बुकलेट में कॉलोनाईजर द्वारा रोड़ को दर्शाया गया है। लेकिन वर्तमान में रोड़ को अतिक्रमण कर लिया गया है। जिसके कारण कॉलोनीवासियों को आवागमन करने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।
मनीष जंघेला, आशियाना कॉलोनी महाराजपुर
कॉलोनाईजर द्वारा रजिस्ट्री पूर्ण होने तक आश्वासन दिया गया कि आपकों बुललेट के आधार पर सारी सुविधाएं दी जाएगी। जब हम लोग घर बनाकर रहने लगे तो पता चलता है कि लाईट और पानी की तो कोई सुविधाएं ही नहीं दी गई।
प्रेम नारायण गुप्ता, आशियाना कॉलोनी महाराजपुर
बुकलेट में हमे सुविधाएं बताई गई कि आपकों नलजल सुविधा, स्ट्रीट लाईट जैसे अनेक सुविधाएं बताई गई लेकिन यहां सुविधाएं के नाम पर दूर-दूर तक कुछ भी नहीं है। कॉलोनाईजर द्वारा हमारी बातों पर कोई ध्यान नहीं दिया जाता है।
अरविंद परस्ते, आशियाना कॉलोनी महाराजपुर
हमारी कॉलोनी में पानी और बिजली की अत्याधिक परेशानी है। कॉलोनी में रात के समय जुंआ, शराब का जमावड़ा रोज बना रहता है। जिसकी शिकायत दो से तीन बार थाने में भी की जा चुकी है। लेकिन पेट्रोलिंग न होने से यहां असुविधाएं हो रही है।
नवनीत पटैल, आशियाना कॉलोनी महाराजपुर

शाम का अंधेरा लोगो की मुसीबत, मोबाइल की टार्च बना अंधेरा का सहारा
शाम का अंधेरा लोगो की मुसीबत, मोबाइल की टार्च बना अंधेरा का सहारा

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

मौसम अलर्ट: जल्द दस्तक देगा मानसून, राजस्थान के 7 जिलों में होगी बारिशइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलस्कूलों में तीन दिन की छुट्टी, जानिये क्यों बंद रहेंगे स्कूल, जारी हो गया आदेश1 जुलाई से बदल जाएगा इंदौरी खान-पान का तरीका, जानिये क्यों हो रहा है ये बड़ा बदलावNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयमोदी सरकार ने एलपीजी गैस सिलेण्डर पर दिया चुपके से तगड़ा झटकाजयपुर में रात 8 बजते ही घर में आ जाते है 40-50 सांप, कमरे में दुबक जाता है परिवार

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: महा विकास अघाड़ी सरकार को बड़ा झटका, शिंदे खेमे में शामिल होंगे उद्धव के 8वें मंत्रीRanji Trophy Final: मध्य प्रदेश ने रचा इतिहास, 41 बार की चैम्पियन मुंबई को 6 विकेट से हरा जीता पहला खिताबBypoll results 2022 LIVE: UP की दोनों सीटों पर बीजेपी का कब्जा, झारखंड की मांडर सीट पर कांग्रेस को मिली जीतअगरतला उपचुनाव में जीत के बाद कांग्रेस नेताओं पर हमला, राहुल गांधी बोले- BJP के गुड़ों को न्याय के कठघरे में खड़ा करना चाहिएKarnataka: नाले में वाहन गिरने से 9 मजदूरों की दर्दनाक मौत, सीएम ने की 5 लाख मुआवजे की घोषणाSangrur By Election Result 2022: मजह 3 महीने में ही ढह गया भगवंत मान का किला, किन वजहों से मिली हार?सिद्धू मूसेवाला की हत्या के बाद, फिर से सामने आया कनाडाई (पंजाबी) गिरोहMumbai News Live Updates: शिवसेना सांसद संजय राउत ने बागी विधायकों को जिंदा लाश बताया
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.