scriptThe delay in the test report increased the business of adulteration | टेस्ट रिपोर्ट की देरी ने बढ़ाया मिलावट का कारोबार | Patrika News

टेस्ट रिपोर्ट की देरी ने बढ़ाया मिलावट का कारोबार

हफ्तों बाद पहुंचती है सैंपल रिपोर्ट, मिलावटखोरों के हौसले बुलंद

मंडला

Published: December 22, 2021 10:16:05 pm

मंडला. आदिवासी बहुल जिले में मिलावट का कारोबार तेजी से फैल रहा है और मिलावट के जहर से आम लोगों की सेहत पर भी दुष्प्रभाव पड़ रहा है। भले ही विभागीय अधिकारी दावा करें कि जिले में मिलावट के कारोबार को रोकने के लिए प्रयास जारी है लेकिन यह सारे दावे उस वक्त फेल हो रहे हैं जब प्रयोगशाला को भेजे गए सैंपल की रिपोर्ट आने में हफ्तों और कई बार महीने भी लग जाते हैं। गौरतलब है कि जिले में खाद्य नमूनों के परीक्षण के लिए एक भी प्रयोगशाला उपलब्ध नहीं है। जिले के अधिकारियों को जिले के खाद्य संबंधित दुकानों से लिए गए सैंपलों को एकत्र करके भोपाल स्थित प्रयोगशाला में भेजना पड़ता है। यूं तो प्रयोगशाला से 14 दिनों के अंदर सैंपल की रिपोर्ट वापस जिला मुख्यालय भेजा जाना चाहिए लेकिन सैंपल की अधिकता के कारण भोपाल स्थित प्रयोगशाला से सैंपल के रिपोर्ट आने में हफ्तों लग जाते हैं और कई बार महीने भी। गौरतलब है कि प्रदेश में खाद्य सैंपलिंग के नमूनों के परीक्षण के लिए भोपाल में ही एक प्रयोगशाला उपलब्ध है। जहां विभागीय अधिकारियों द्वारा सैंपल भेजे जाते हैं। विशेष परिस्थितियों में ही इंदौर स्थित प्रयोगशाला में सैंपल भेजे जाते हैं।
बताया गया है कि प्रदेश में 52 जिले हैं जहां से भेजे जाने वाले सैंपल का परीक्षण भोपाल स्थित प्रयोगशाला में ही होता है। अंदाजा लगाया जा सकता है कि जिले से भेजे जाने वाले नमूनों की रिपोर्ट कब तक आती होगी?
वर्ष भर का लक्ष्य 210
विभागीय अधिकारियों के द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार जिले को 3 जोन में बांटा गया है। और प्रत्येक जोन में एक खाद्य सुरक्षा अधिकारी की नियुक्ति की गई है जो अपने क्षेत्र से खाद्य नमूनों को एकत्र कर भोपाल स्थित प्रयोगशाला में भेजते हैं। प्रत्येक जोन के लिए वर्ष भर में 70 नमूनों का एकत्रीकरण का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। इस तरह 3 जोन से कुल 210 सैंपल लिए जाने का लक्ष्य रखा गया है।
जिले के 1 जोन में निवास एवं बीजाडांडी विकासखंड को शामिल किया गया है दूसरे जोन में मंडलाए मोहगांव एवं दूरस्थ अंचल मवई को शामिल किया गया है। तीसरे जोन में नैनपुर बिछिया एवं घुघरी विकासखंड शामिल किए गए हैं।
एक माह में एक बार आती है वैन
आदिवासी बाहुल्य जिले को शासन की ओर से मोबाइल फूड टेस्टिंग लैब वैन भी उपलब्ध कराई गई है। यह एक महीने में एक बार जिले में भेजी जाती है। वैन पहुंचने पर खाद्य सुरक्षा अधिकारी मौके पर ही सैंपल लेकर उसकी टेस्टिंग करते हैं और नमूने में किसी भी तरह की गड़बड़ी की आशंका होने पर उसे भोपाल स्थित प्रयोगशाला भेजा जाता है।
7 वर्षों बाद आया निर्णय
खाद्य सुरक्षा अधिकारी वंदना थांगले द्वारा 9 जनवरी 2013 को ग्राम मोहगांव स्थित मलिक किराना दुकान पर जाकर विक्रेता खाद्य कारोबार कर्ता मोहम्मद सईम की दुकान में जांच की थी। जिसमें सेल्फ में रखे कंपनी पैक मिलन शक्ति मसाले, स्टैण्डर्ड ग्रेड, हल्दी पाउडर 500 ग्राम के पैकटों में अमानक एवं असुरक्षित खाद्य होने की आशंका होने पर विक्रेता से उक्त खाद्य पदार्थ का नमूना जांच के लिए लिया गया। विधि अनुसार नमूना लेते हुए चार भागों में सीलबंद किया गया तथा लिए गए नमूने को अभिहित अधिकारी के माध्यम से राज्य खाद्य प्रयोगशाला परीक्षण के लिए भेजा गया। राज्य प्रयोगशाला की रिपोर्ट में भेजे गए नमूना असुरक्षित होने पर विक्रेता, डायरेक्टर द्वारा केन्द्रीय प्रयोगशाला से लिए गए सेंपलों का परीक्षण कराया गया। जिसकी रिपोर्ट भी असुरक्षित होने से मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी मंडला के समक्ष खाद्य सुरक्षा अधिकारी द्वारा परिवाद प्रस्तुत किया गया। हाल ही में न्यायालय के द्वारा अभियुक्तगण मोहम्मद सईम पिता मोहम्मद हमीद को सजा सुनाई गई।

The delay in the test report increased the business of adulteration
The delay in the test report increased the business of adulteration

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Health Tips: रोजाना बादाम खाने के कई फायदे , जानिए इसे खाने का सही तरीकाCash Limit in Bank: बैंक में ज्यादा पैसा रखें या नहीं, जानिए क्या हो सकती है दिक्कतSchool Holidays in January 2022: साल के पहले महीने में इतने दिन बंद रहेंगे स्कूल, जानिए कितनी छुट्टियां हैं पूरे सालVideo: राजस्थान में 28 जनवरी तक शीतलहर का पहरा, तीखे होंगे सर्दी के तेवर, गिरेगा तापमानJhalawar News : ऐसा क्या हुआ कि गुस्से में प्रधानाचार्य ने चबाया व्याख्याता का पंजामां लक्ष्मी का रूप मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां, चमका देती हैं ससुराल वालों की किस्मतAaj Ka Rashifal - 24 January 2022: कुंभ राशि वालों की व्यापारिक उन्नति होगीMaruti की इस सस्ती 7-सीटर कार के दीवाने हुएं लोग, कंपनी ने बेच दी 1 लाख से ज्यादा यूनिट्स, कीमत 4.53 लाख रुपये

बड़ी खबरें

Covid-19 Update: दिल्ली में बीते 24 घंटों में आए कोरोना के 5,760 नए मामले, संक्रमण दर 11.79%Republic Day 2022 parade guidelines: कोरोना की दोनों वैक्सीन ले चुके लोग ही इस बार परेड देखने जा सकेंगे, जानिए पूरी गाइडलाइन्सएमपी में तैयार हो रही सैंकड़ों फूड प्रोसेसिंग यूनिट, हजारों लोगों को मिलेगा कामकांग्रेस के तीन घोषित प्रत्याशी पार्टी छोड़ कर भागे, प्रियंका गांधी हुई हैरानDelhi Metro: गणतंत्र दिवस पर इन रूटों पर नहीं कर सकेंगे सफर, DMRC ने जारी की एडवाइजरीदलित का घोड़े पर बैठना नहीं आया रास, दूल्हे के घर पर तोड़फोड़, महिलाओं को पीटाNational Voters' Day: पहली बार वोट देने वाले जानें अपने अधिकार और जिम्मेदारी के बारे मेंराज्य की तकदीर बदलने वाली योजनाएं केन्द्र में अटकी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.