scriptThe encroachers do not know when to give shock to the transformer | ट्रांसफार्मर कब दें दें झटका, यह अतिक्रमणकारियों को पता नही | Patrika News

ट्रांसफार्मर कब दें दें झटका, यह अतिक्रमणकारियों को पता नही

जगह-जगह का रहे कब्जा

मंडला

Updated: June 21, 2022 05:35:27 pm

मंडला. बिजली ट्रांसफार्मर की आड़ में लोग लगातार अतिक्रमण कर रहे है जिसके चलते अवव्यवस्था उत्पन्न हो रही है। कई बार इस संबंध में बिजली विभाग के आला अधिकारियों को जानकारी दी गई है बावजूद इसके अधिकारियों में सामंजस की कमी के चलते स्थिति जस की तस बनी हुई है। वर्षों पूर्व बिजली विभाग ने जब ट्रांसफार्मर लगाए थे, तब सड़क की चौड़ाई अधिकतम 10 से 15 फीट थी, लेकिन जैसे-जैसे शहर की आबादी के साथ यातायात का दबाव बढ़ता गया, सड़कों की चौड़ाई 20 से 30 फीट तक बढ़ गई। इस दौरान बिजली ट्रांसफार्मरों को भी सड़क के साथ किनारे किया गया। लेकिन बाकी ट्रांसफार्मर जस के तस होने के कारण वहां अतिक्रमणकारी कब्जा जमाते चले गए। हालत यह है कि शहर में ट्रांसफार्मर के आसपास खाली जगह दिखी नहीं कि ठेले, टुकनिया वाले, चश्मा, गमछा एवं फल विक्रेता आदि सामान बेचने वाले वहां जम गए। शहर में बिजली सप्लाई के लिए जगह-जगह लगाए गए हजारो वॉट के ट्रांसफार्मर पर कब्जा कर लिया गया है। जहां रोजाना सैंकड़ो लोग एकत्रित होते है और लगातार आवाजाही बनी रहती है। ऐसे में किसी भी प्रकार हादसे का असर सभी लोगो पर पड़ेगा। इसके बाद भी इस ओर बिजली कम्पनी का ध्यान है और न ही नगर पालिका कोई कार्रवाई कर रही है। बताया गया है कि बिजली कंपनी के द्वारा नगर में बिजली की सप्लाई के लिए जगह-जगह ट्रांसफार्मर लगाए गए है जिससे आमजनो को बोल्टेज से बिजली का वितरण किया जा सके है। इसके साथ बिजली की लाइन व पोल खींचे गए है। यहां के लोगो ने विज्ञापन के पोस्टर लगाने के लिए बिजली के पोलो का उपयोग शुरू कर दिया है। इतना ही नहीं व्यस्तम बाजार क्षेत्र में लगे ट्रांसफार्मर के आसपास दुकानें चल रही है। ठीक तहसील व एसडीएम कार्यालय के सामने लोग कब्जा जमाए बैठे है। ये अस्थाई दखल वाले विक्रेता नगर पालिका की मेहरबानी से बैठे है और धड़ल्ले से अस्थाई तौर जगह पर कब्जा जमाए हुए है।
ट्रांसफार्मर कब दें दें झटका, यह अतिक्रमणकारियों को पता नही
ट्रांसफार्मर कब दें दें झटका, यह अतिक्रमणकारियों को पता नही
बिजली से जुडे़ जिम्मेदार अधिकारियों का कहना है कि नगर के वार्डो में ट्रांसफार्मर को दूसरी जगह पर शिफ्ट करने में लाखों का खर्च तो होगा ही, सबसे बड़ी दिक्कत नई जगह मिलने की है। कोई भी रहवासी नहीं चाहता कि उसके घर के आसपास ट्रांसफार्मर स्थापित हो। जब भी नई जगह में ट्रांसफार्मर लगाए जाते हैं, वहां के रहवासी तत्काल जनप्रतिनिधियों के साथ विरोध करने लगते हैं। यही नहीं, ट्रांसफार्मर को एक स्थान से दूसरे स्थान पर स्थापित करने से लोगों को बिजली कनेक्शन उपलब्ध कराने में दिक्कत होती है। ऐसे हालात में निगम और जिला प्रशासन की मदद लेकर रहवासियों की सहमति से ट्रांसफार्मर स्थापित किया जाता है।
हो चुके हैं हादसे

बताया गया है कि तीन माह पहले तहसील तिराहा के ट्रांसफार्मर में हादसा हो चुका है। शाम के वक्त ट्रांसफार्मर में अज्ञात कारणों के चलते आग लग चुकी है, उस दौरान बाजार क्षेत्र में भगदड़ की स्थिति बन गई। काफी देर के बाद आग पर काबू पाया गया है, इसके बाद भी मौके पर कोई सुधार नहीं किया गया है। ट्रांसफार्मर आग लगने की घटना आमजनों ने भी गंभीरता नहीं दिखाई और ना ही नगर पालिका के द्वारा कोई एक्शन लिया गया है।
ट्रांसफार्मर से करीब पांच फीट की दूरी

बिजली कंपनी के जानकारों का कहना है कि ट्रांसफार्मर में हाई बोल्टेज करंट रहता है। उसके पास खड़े होने के दौरान भी तेज आवाज आती है। ट्रांसफार्मर से करीब पांच फिट की दूरी जरूरी है। ऐसे में कोई इनके आसपास बैठ रहा है हादसे से इंकार नहीं किया जा सकता है। नगर पालिका को ऐसे कब्जे पर ध्यान देना चाहिए। अतिक्रमण या कब्जा हटाने का पॉवर कम्पनी के पास नहीं है। जरूरी यह है कि नगर पालिका अस्थाई दखल के विक्रेताओं को ट्रासंफार्मर से दूर करें। जिससे जान माल की सुरक्षा हो सके।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

रोहिंग्या शरणार्थियों को फ्लैट देने की खबर है झूठी, गृह मंत्रालय ने कहा- केंद्र ने ऐसा कोई आदेश नहीं दियागुजरात चुनाव से पहले कांग्रेस को बड़ा झटका, वरिष्ठ नेता नरेश रावल और राजू परमार ने थामी भाजपा की कमानलालू यादव ने बताया 2024 का प्लान, बोले- तानाशाह सरकार को हटाना हमारा मकसद, सुशील मोदी को बताया झूठाMaharashtra Monsoon Session: व्हिप को लेकर आमने-सामने हुए शिंदे गुट और ठाकरे खेमा, महाराष्ट्र विधानसभा में विपक्ष का जमकर हंगामाBJP के नए संसदीय बोर्ड और चुनाव समिति का गठन, गडकरी व शिवराज की छुट्टी, देखिए कौन-कौन नेता शामिलजिम्बाब्वे दौरे पर गई भारतीय टीम को BCCI ने दी सख्त हिदायत, पूल में जाने से रोका, ज्यादा देर नहाने से भी किया मानाकिडनैंपिग के आरोपी हैं बिहार के कानून मंत्री कार्तिकेय सिंह, सरेंडर वाले दिन ही ली शपथ, नीतीश बोले-मुझे जानकारी नहींदिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल ने लॉन्च किया ‘मेक इंडिया नंबर-1’ कैंपेन, पूछा - आजादी के 75 वर्ष बाद भी हम बाकी देशों से पीछे क्यों?
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.