scriptThe parking system is not improving in the city, the pedestrians are g | शहर में नही सुधर रही पार्किंग व्यवस्था राहगीर हो रहे परेशान | Patrika News

शहर में नही सुधर रही पार्किंग व्यवस्था राहगीर हो रहे परेशान

चिलमन चौक से डिंडोरी नाका तक मुख्य मार्ग में होती है लोडिंग अनलोडिंग

मंडला

Updated: April 22, 2022 12:44:23 pm

मंडला. नगर में पार्किंग ना होने से यातायात व्यवस्था पर असर पड़ रहा है। वहीं सड़क में ही लोडिंग अनलोडिंग के कारण आमजन हलाकान है। मुख्य बाजार सहित पड़ाव मार्ग में वाहन पार्किंग की पर्याप्त जगह नहीं है जिससे कभी भी जाम की स्थिति बन जाती है। बाजारों और व्यावयायिक दुकानों में पार्किंग की व्यवस्था नहीं होने के कारण चालक कहीं भी वाहन खड़ा कर देते हैं। पड़ाव की दुकानों के सामने खड़ी गाडिय़ों की वजह से लोगों को आने जाने में काफी दिक्कत होती है। यहां हर समय जाम की स्थिति निर्मित होती है। पड़ाव क्षेत्र में तो रोजाना हजारों मोटर साइकिल, आटो, रिक्शा, कार से लोग खरीदारी करने पहुंचते हैं। इसके अलावा व्यापारी भी अपने-अपने वाहन से दुकान आते हैं। कई व्यापारी तो अपनी दुकान के बाहर ही गाड़ी खड़ी कर देते हैं तो कई सामान को गेट के सामने रख देते हैं। जिससे फुटपाथ पर व्यापारियों का ही कब्जा रहता है। फुटपाथ पर कब्जा करने वालों को नगर पालिका का कोई भी भय नहीं है। जिला प्रशासन ने करोड़ों की लागत से फुटपाथ इस मकसद से बनवाये थे, ताकि गरीब, विकलांग, महिलाएं व बच्चों के साथ पैदल चलने वाले लोग सुरक्षित यात्रा तय कर सकें। लेकिन कुछ लोग फुटपाथ पर ही कब्जा करके इसे व्यापार का हब बना लिया है स्थानीय लोगों का कहना है कि नगर में अतिक्रमण के चलते सड़कें संकरी हो रही हैं। जिससे यातायात तो प्रभावित हो ही रहा है वहीं शहर की सुंदरता भी खराब हो रही है। मुख्य बाजार की सड़कों में छोटे दुकानदारों ने कब्जा किया है। लेकिन चिलमन चौक से पड़ाव मार्ग में बड़े व्यापारी नगर पालिका को ठेंगा दिखा रहे हैं। यहां व्यापारी के लिए फूटपाथ में कब्जा करना तो आम बात है अब तो फूटपाथ को तोड़कर अपनी दुकान की सुविधा के अनुसार निर्माण करा रहे हैं।
लंबे समय से नहीं हटा कब्जा
नगरपालिका व यातायात विभाग द्वारा अतिक्रमण हटाने के लिए अभियान तो चलाया जाता है लेकिन उसको प्रभावी रूप नहीं दिया जाता है। जिससे अतिक्रमण करने वालों के हौसले बुलंद हैं। यहां वर्षो से अतिक्रमण नहीं हटाया गया है। जिसके कारण एक के बाद एक व्यापारी सड़कों तक सामग्री फैलाना शुरू कर दिए हैं। ऐसा कोई स्थान नहीं है जहां पर फुटपाथ या पटरी सुरक्षित हो। हर तरफ दुकानदारों ने कब्जा कर लिया है। चाय पान की दुकानों से लेकर टीन शैड के नीचे होटल तक संचालित हो रहे हैं जिसके चलते लोगों को निकलने की जगह नहीं रह जाती है।
फुटपाथ तोड़कर कर रहे सतलीकरण
व्यापारियों ने शहर की यातायाता व्यवस्था को सुधारने के लिए कलेक्टर को लिखित आवेदन दिया था। जिसमें अनुमति मांगी गई थी की फुटपाथ को तोड़कर दुकान के सामने समतल कर सकें। ताकि वाहन पार्किंग में दुकानदारों को सुविधा हो सके। सड़क पर वाहन ना खड़ाकर उपभोक्ता फुटपाथ में वाहन खड़ा कर सकें। इसके लिए कलेक्टर के निर्देश के बाद परिषद में विचार विमर्श किया गया और व्यापरियों की सुझाव पर सहमति दे दी गई। व्यापारी चाहें तो स्वयं के व्यय से फुटपाथ को तोड़कर समतल करवा सकते हैं। लेकिन इसमें सीढिय़ां या अन्य निर्माण नहीं करा सकते। इसके बाद भी कुछ दुकान दार फुटपाथ तोड़कर सीढिय़ां का निर्माण करा रहे हैं। तो कुछ दुकानदारों ने फुटपाथ में ही टीन शेड लगा दिया है।
शहर में नही सुधर रही पार्किंग व्यवस्था राहगीर हो रहे परेशान
शहर में नही सुधर रही पार्किंग व्यवस्था राहगीर हो रहे परेशान

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Bharat Drone Mahotsav 2022: दिल्ली में ड्रोन फेस्टिवल का उद्घाटन कर बोले मोदी- 2030 तक ड्रोन हब बनेगा भारतपहली बार हिंदी लेखिका को मिला International Booker Prize, एक मां की पाकिस्तान यात्रा पर आधारित है उपन्यासजम्मू कश्मीर: टीवी कलाकार अमरीन भट की हत्या का 24 घंटे में लिया बदला, तीन दिन में सुरक्षा बलों ने मारे 10 आतंकीखिलाड़ियों को भगाकर स्टेडियम में कुत्ता घुमाने वाले IAS अधिकारी का ट्रांसफर, पति लद्दाख तो पत्नी को भेजा अरुणाचलपाकिस्तान में 30 रुपए महंगा हुआ पेट्रोल-डीजल, Pak सरकार को घेरते हुए इमरान खान ने की मोदी की तारीफRenault Kiger: फैमिली के लिए बेस्ट है ये किफायती सब-कॉम्पैक्ट SUV, कम दाम में बेहतर सेफ़्टी और महज 40 पैसे/Km का मेंटनेंस खर्चअजमेर शरीफ दरगाह में मंदिर होने के दावे के बाद बढ़ाई गई सुरक्षा, पुलिस बल तैनातचांदी के गहने-सिक्के की भी हो सकती है हॉलमार्किंग
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.