जिले में मंडराया कोरोना कम्युनिटी स्प्रेडिंग का खतरा

संक्रमित लोगों की नहीं मिल रही ट्रैवल हिस्ट्री

By: Mangal Singh Thakur

Published: 17 Mar 2021, 09:49 AM IST

मंडला. जिले में कोरोना का खतरा दिनोंदिन बढ़ता ही जा रहा है। पिछले 15 दिनों में लगभग 18 नए कोरोना संक्रमित मरीज जिले भर में ढूंढे गए हैं। इनमें से 4 एवं 7 वर्ष के बच्चे भी शामिल हैं। इसके अलावा युवा, महिला एवं वृद्धों को भी कोरोना ने अपनी चपेट में ले लिया है। इस बार मिल रहे कोविड-19 के मरीजों के कारण स्वास्थ्य विभाग की परेशानी कई गुना बढ़ चुकी है। जानकारी के अनुसार, पिछले पखवाड़े मिले संक्रमित मरीजों में किसी की भी ट्रैवल हिस्ट्री सामने नहीं आई है। यानी संक्रमित हुए लोग, उनके आसपास ही संक्रमित व्यक्तियों की चपेट में आकर कोविड 19 से संक्रमित हो चुके हैं। यही कारण है कि इसे जिला प्रशासन कम्यूनिटी स्प्रेडिंग की आशंका बता रहा है। इससे पहले के महीनों में जो भी संक्रमित सामने आए थे। उनकी ट्रैवल हिस्ट्री उपलब्ध थी। लेकिन इस बार स्थिति उलट होने के कारण परेशानी बढ़ गई है।
हर ब्लॉक में हो रही सैंपलिंग
कोरोना का संक्रमण बढऩे के कारण जिले के हर ब्लॉक में संदिग्धों की संैंपलिंग बढ़ा दी गई है। बताया जा रहा है कि किसी भी तरह के सर्दी, खांसी, बुखार, जुकाम होने वाले मरीज की सैंपलिंग की जा रही है। पिछले तीन दिनों में जिले भर में 500 से अधिक लोगों की सैंपलिंग की जा चुकी है। जिले के सभी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र निवास, नारायणगंज, नैनपुर, मोहगांव, मवई, घुघरी, बीजाडांडी, बिछिया, बम्हनी एवं जिला चिकित्सालय में संदिग्धों के नमूने टेस्टिंग के लिए लिए जा रहे हैं। इस बारे में सीएमएचओ डॉ एसएन सिंह का कहना है कि मैदानी अमले को विशेष निर्देश दिए गए हंै कि किसी भी तरह के बीमार अथवा सर्दी, खांसी, बुखार, जुकाम आदि से पीडि़त व्यक्तियों को सीएचसी लेकर आएं एवं वहां संंबंधित को सूचित अवश्य करें।

Mangal Singh Thakur
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned