scriptVillagers for drop by drop drinking water | बूंद-बूंद पेयजल के लिए तरह से ग्रामीण | Patrika News

बूंद-बूंद पेयजल के लिए तरह से ग्रामीण

कुंए के भरोसे आधा गांव, एक दूसरे के घर से लाते है पानी

मंडला

Published: April 24, 2022 11:45:32 am

मंडला/बबलिया. वर्षों से सत्ता में रहने वाले केन्द्रीय मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते के ग्राम ही जल संकट दूर नहीं हो रहा है। पीएचई द्वारा किया गया आधा अधूरा कार्य लोगों के लिए मुसीबत बन रहा है। जानकारी के अनुसार समीपस्थ ग्राम पंचायत जेवरा के पौषक ग्राम ददरगांव व भैंसवाही की आधी आबादी कुंए के पानी पर निर्भर है। गर्मी के साथ ही पानी की त्राहि-त्राहि मची हुई है। ग्राम जेवरा निवासी डॉ पूशू हरिसंह मरकाम, किशनसिंह वरकड़े, फूलचंद कुलस्ते, तारासिंह परस्ते, चिरंजीव कोकडिय़ा आदि ग्रामीणों ने बताया कि लगभग तीन माह बीत चुके हैं। जहां नल जल योजना ठप्प पड़ी हुई है। पीएचई विभाग एवं ग्राम पंचायत विशेष ध्यान नहीं दे रहे हैं। कभी पाईपलाईन सुधार तो कभी मशीन जलने का बहाना बताया जाता है। लंबे समय से पानी के जद्दोजद कर रहे ग्रामीणों में अब अक्रोश दिखाई देने लगा है। ग्राम पंचाय जेवरा से ही जिला पंचायत सदस्य के साथ ही सासंद व केन्द्रीय मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते सीधा संबध रखते हैं। केन्द्रीय मंत्री का गृह ग्राम जेवरा है। जब यहां के लोगों को ही पेयजल की सुविधाएं नहीं मिल रही है तो दूर दराज के ग्रामों का अंदाजा लगाया जा सकता है। जानकारी के अनुसार केन्द्रीय मंत्री में भी पेयजल के लिए एक किलोमीटर दूर से स्थित हैंडपंप से पानी लाया जाता है। जिसका परिवहन वाहनों से किया जाता है। केन्द्रीय मंत्री के घर में कुंआ है जिसका उपयोग निस्तारी पानी के लिए किया जाता है। गांव में जहां-जहां हैंडपंप है वहां सुबह शाम फोर व्हीलर टू व्हीलर एवं सिर बोझ से पानी भरने वालों का तांता लगा रहता है। अभी तो गर्मी का प्रथम चरण शुरू हुआ है शेष तीन चरण बाकी है जिसको लेकर ग्रामीणजनों में चिंता की लकीरें अभी से खींच गई है।
ये है पाइप लाईन विस्तार के हाल
जानकारी के अनुसार ग्राम पंचायत जेवरा में 8 वार्ड हैं वार्ड क्रमांक 3 तक आधे गांव तक ही पाईप लाईन विस्तार हुआ है। वार्ड क्रमांक 4, 5, 6, 1 में पाईप लाईन विस्तार नहीं किया गया है। वार्ड क्रमांक 6 में हैंडपंप है जहां पर पेयजल के लिए भीड़ की लंबी लाईन रहती है। महुआ टोला में भी हैंडपंप है। एक हैंडपंप टिकरा टोला में है। जहां पर पानी भरने वालों का भारी भीड़ रहती है। ग्राम पंचायत जेवरा के पोषक ग्राम ददरगांव में वार्ड 5 है जहां पर एक कुंआ है वह भी वर्षा ऋतु में गिर चुका है। ददरगांव के चट्टी टोला में यादव टोला में पानी के लिए लगभग 2 किमी दूर जामुन टोला से पानी लेकर आते हैं। इस तरह से ग्रामीणों में भी आज भी बुनियादी सुविधाओं से कोसो दूर है। जेवरा पंचायत का पोषक ग्राम भैंसवाही में भी तीन हैंडपंप है पेयजल व्यवस्था पर्याप्त है लेकिन नल जल योजना के तहत घर-घर पानी नहीं पहुंच रहा है।

उल्टी दस्त से हाल बेहाल बढ़ रहे मरीज
उल्टी दस्त से हाल बेहाल बढ़ रहे मरीज

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

मौसम अलर्ट: जल्द दस्तक देगा मानसून, राजस्थान के 7 जिलों में होगी बारिशइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलस्कूलों में तीन दिन की छुट्टी, जानिये क्यों बंद रहेंगे स्कूल, जारी हो गया आदेश1 जुलाई से बदल जाएगा इंदौरी खान-पान का तरीका, जानिये क्यों हो रहा है ये बड़ा बदलावNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयमोदी सरकार ने एलपीजी गैस सिलेण्डर पर दिया चुपके से तगड़ा झटकाजयपुर में रात 8 बजते ही घर में आ जाते है 40-50 सांप, कमरे में दुबक जाता है परिवार

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: खतरे में MVA सरकार! समर्थन वापस लेने की तैयारी में शिंदे खेमा, राज्यपाल से जल्द करेंगे संपर्क?Maharashtra Political Crisis: एकनाथ शिंदे की याचिका पर SC ने डिप्टी स्पीकर, महाराष्ट्र पुलिस और केंद्र को भेजा नोटिस, 5 दिन के भीतर जवाब मांगाMaharashtra Political Crisis: सुप्रीम कोर्ट से शिंदे खेमे को मिली राहत, अब 12 जुलाई तक दे सकते है डिप्टी स्पीकर के अयोग्यता नोटिस का जवाब"BJP से डर रही", तीस्ता की गिरफ़्तारी पर पिनाराई विजयन ने कांग्रेस की चुप्पी पर साधा निशानाअंबानी परिवार की सुरक्षा को लेकर सुप्रीम कोर्ट कल करेगा सुनवाई, जानिए क्या है पूरा मामलाMumbai News Live Updates: सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर एकनाथ शिंदे ने कहा- यह बालासाहेब के हिंदुत्व और आनंद दिघे के विचारों की जीत हैMaharashtra Political Crisis: शिंदे खेमा काफी ताकतवर, उद्धव ठाकरे के लिए मुश्किल होगा दोबारा शिवसेना को खड़ा करनासचिन पायलट बोले-गहलोत मेरे पितातुल्य, उनकी बातों को अदरवाइज नहीं लेता
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.