scriptViral fever patients started increasing in the district | जिले में बढऩे लगे वायरल फीवर के मरीज | Patrika News

जिले में बढऩे लगे वायरल फीवर के मरीज

सिर दर्द, बुखार के साथ उल्टी-दस्त के मरीज पहुंच रहे अस्पताल

मंडला

Updated: July 28, 2022 10:58:11 am

मंडला. जिला अस्पताल में इन दिनों रोजाना बड़ी संख्या में वायरल फीवर के मरीज इलाज के लिए पहुंच रहे हैं। इनमें बच्चों की संख्या अपेक्षाकृत अधिक है। इन बच्चों में जहां बुखार, पेट दर्द, उल्टी दस्त के लक्षण दिखाई दे रहे हैं, वहीं युवा से लेकर बुजुर्ग अपने गले में दर्द, सिर दर्द, बुखार की समस्या को लेकर इलाज के लिए पहुंच रहे हैं।

जिले में बढऩे लगे वायरल फीवर के मरीज
जिले में बढऩे लगे वायरल फीवर के मरीज

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाना जरूरी

डॉक्टरों का कहना है कि इन दिनों सामान्य दिनों की अपेक्षा शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता कम हो जाती है। शरीर की इम्युनिटी बढ़ाने के लिए योग करना चाहिए। वहीं तेल मसाला युक्त खाद्य सामग्री का प्रयोग न करें। पानी आरओ का पिएं नहीं तो पानी को उबाल कर ठंडा कर लें उसके बाद उसका सेवन करें। बासी भोजन कतई न करें, घर में बना ताजा पका भोजन करें। हरी सब्जियां व ताजे मौसमी फल खाएं। सं₹मण की रफ्तार का अंदाजा इसी से लगा सकते हैं कि जिले के लगभग सभी सरकारी और निजी अस्पतालों की ओपीडी 60 फीसदी तक बढ़ गई है, शहर में भी वायरल बुखार तेजी से फैल रहा है। हालांकि इस बार सामान्य लक्षणों के साथ मरीजों को कमर में तेज दर्द, घुटने और जोड़ों में दर्द भी हो रहा है। अस्पताल में भर्ती मरीजों में अधिकांश को बुखार की शिकायत है। पहले जहां गले में खराश की समस्या सामने आ रही थी अब मरीजों को चलने में तकलीफ हो रही है। इसके साथ ही कमर और जोड़ों में बहुत तेज दर्द भी हो रहा है। कुछ बच्चों में बुखार, उल्टी, दस्त के अलावा सांस लेने में तकलीफ की शिकायत भी सामने आ रही है।

मरीजों को दिया जा रहा पानी मिला दूध

एक ओर डॉक्टर मरीजों को पोषण आहार की सलाह देते हुए रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने की सलाह दे रहे हैं वहीं जिला अस्पताल में मरीजों को जो भोजन दिया जा रहा है उस पर सवाल खड़े हो रहे हैं। सरकारी अस्पताल में मरीजों को भोजन देने की व्यवस्था ठेकेदार को सौंपी गई है। अस्पताल में बच्चा वार्ड में भर्ती कई बच्चों की परिजनों ने बताया कि सुबह जो बच्चों के लिए अस्पताल से जो दूध दिया जाता है वह बिल्कुल पतला होता है, जिसे बच्चे पीना पसंद ही नहीं करते।

इसी तरह जो भोजन दिया जाता है उसमें भी कुछ कच्ची रोटियां, पतली दाल दी जाती है, भोजन के साथ मरीजों के लिए सबसे जरूरी सलाद तो कभी दी ही नहीं जाती। मरीज इसकी शिकायत करते हैं। गौरतलब है कि सरकारी अस्पतालों में मरीजों को सुविधाओं के नाम साफ-सफाई, भोजन व्यवस्था से लेकर सुरक्षा व्यवस्था में हर महिने लाखों रूपये खर्च किए जाते हैं लेकिन न ढंग का भोजन दिया जाता, न साफ-सफाई पर ध्यान दिया जाता और आए दिन मरीजों के जरूरी सामान की चोरियों से अस्पताल की सुरक्षा व्यवस्था पर भी सवाल खड़े होते रहे हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

'फ्री रेवड़ी ' कल्चर व स्कूल के मुद्दे पर संबित्र पात्रा ने AAP को घेरा, कहा- 701 स्कूलों में प्रिंसिपल नहीं, 745 स्कूलों में नहीं पढ़ाया जाता विज्ञानPM मोदी ने कॉमनवेल्थ गेम्स में हिस्सा लेने वाले दल से मुलाकात की, कहा- विजेताओं से मिलकर हो रहा गर्वप्रियंका के बाद अब सोनिया गांधी भी दोबारा हुईं कोरोना पॉजिटिव, तेजस्वी यादव ने कल ही की थी मुलाकातजम्मू कश्मीर में टेरर लिंक मामले में बिट्टा कराटे की पत्नी समेत चार सरकारी कर्मचारी बर्खास्तFlag Code Of India: 'हर घर तिरंगा' अभियान शुरू, 15 अगस्त से पहले जानिए तिरंगा फहराने के नियम, अपमान पर होगी जेल3 PAK खिलाड़ी बन सकते हैं टीम इंडिया की गले की हड्डी, Asia Cup 2022 में रहना होगा अलर्टशहर को गाजर घास मुक्त करने निगम ने चलाया विशेष अभियान, कुछ ऐसे चलेगा Operation 7 खिलाड़ी जो भारत पाकिस्तान 2021 T20 वर्ल्डकप मैच का थे हिस्सा, लेकिन एशिया कप 2022 मैच में नहीं मिली जगह
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.