scriptWard residents angry due to cutting of green trees | हरे-भरे पेड़ काटने से वार्डवासी आक्रोशित | Patrika News

हरे-भरे पेड़ काटने से वार्डवासी आक्रोशित


बिजली की लाईन प्रभावित होने के नाम पर काटे गए हरे-भरे पेड़

मंडला

Published: December 25, 2021 08:47:08 pm

मंडला. शहरी क्षेत्र में बिजली आपूर्ति दुरुस्त रखने के लिए पेड़ों की छटाई की जा रही है। लेकिन कुछ स्थानो में पेड़ों को जड़ से काट देने से वार्डवासियों में आक्रोष है। जिला अस्पताल के पीछे रानी दुर्गावती वार्ड में नगरपालिका द्वारा चंद्रशेखर आजाद की प्रतिमा लगाई गई थी और आसपास पौधरोपण कराया गया था ये पौधे समय के साथ हरे-भरे पेड़ में तब्दील हो गए, लेकिन अचानक इन सभी पेड़ों को नीचे से काटकर अलग कर दिया गया है। जिससे वार्डवासियों में रोष भी देखने को मिला। स्थानीय लोगों ने बताया कि गर्मी के दिनों में इन पेड़ों से आसपास ठंड का अहसास होता था इसी के साथ हरियाली होने से लोग यहां कुछ समय विश्राम भी करते थे, स्थानीय लोगों ने बताया कि अचानक दो-तीन दिन पूर्व बिजली विभाग के कर्मचारियों ने इन पेड़ों को नीचे से काटकर अलग कर दिया। उन कर्मचारियों का कहना था कि इन पेड़ों के कारण उपर से गई बिजली की लाईन प्रभावित हो रही थी जिसके चलते इन पेड़ों को काटा गया है। अखिल भारतीय मानव अधिकार संगठन के जिलाध्यक्ष सुनील मिश्रा ने बताया कि शहर में विकास के नाम पर आए दिन हरे-भरे पेड़ों की कटाई कराई जा रही है। जिस तरह से ऑक्सीजन प्लांट लगाने की आवश्यकता महसूस की जा रही है। यह इसी तरह के पेड़ों की कटाई का ही नतीजा है। शहर में हरियाली के लिए पौधरोपण कराए जाने चाहिए। बिजली की लाईन यदि पेड़ों के कारण प्रभावित होती भी है तो पेड़ों की शाखाओं की छटाई कराकर समस्या का निराकरण कराया जा सकता है। इसके लिए पेड़ों को काटकर ही अलग करना किसी भी रूप में ठीक नहीं है। मिश्रा ने कहा कि अनावश्यक पेड़ों की कटाई करने वालों पर कार्यवाही होनी चाहिए।
स्मारकों का हो जीर्णाेद्धार
शहर भर में नगरपालिका परिषद द्वारा से कुछ साल पहले सभी वार्डों में शहीदों, महापुरूषों की प्रतिमा लगवाई गई थी ताकि लोग इन महापुरूषों को याद करें उनके संदेशों को आत्मसात कर सकें। लेकिन समय के साथ-साथ इनमें से अधिकांश स्मारकों की स्थिति दयनीय हो गई है। प्रतिमाएं जर्जर हो गई है जिनका जीर्णोद्धार आवश्यक है। इसी तरह शहर में कॉलोनियों में बगीचों के नाम पर स्थान तो निर्धारित किया जाता है लेकिन कॉलोनाईजरों द्वारा बगीचों के नाम पर आरक्षित स्थान पर भी निर्माण करा दिया जाता है। हाल ही में मुख्यमंत्री द्वारा किसी भी निर्माण के पूर्व पौधा लगाने के लिए कहा गया है लेकिन इस नियम का पालन शहर में होता दिखाई नहीं दे रहा है।

हरे-भरे पेड़ काटने से वार्डवासी आक्रोशित
हरे-भरे पेड़ काटने से वार्डवासी आक्रोशित

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Video Weather News: कल से प्रदेश में पूरी तरह से सक्रिय होगा पश्चिमी विक्षोभ, होगी बारिशVIDEO: राजस्थान में 24 घंटे के भीतर बारिश का दौर शुरू, शनिवार को 16 जिलों में बारिश, 5 में ओलावृष्टिदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगश्री गणेश से जुड़ा उपाय : जो बनाता है धन लाभ का योग! बस ये एक कार्य करेगा आपकी रुकावटें दूर और दिलाएगा सफलता!पाकिस्तान से राजस्थान में हो रहा गंदा धंधाइन 4 राशि वाले लड़कों की सबसे ज्यादा दीवानी होती हैं लड़कियां, पत्नी के दिल पर करते हैं राजहार्दिक पांड्या ने चुनी ऑलटाइम IPL XI, रोहित शर्मा की जगह इसे बनाया कप्तानName Astrology: अपने लव पार्टनर के लिए बेहद लकी मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.