घर को बुझाने गांव में नहीं मिला पानी, दमकल ने भी दिया धोखा

पांच किलोमीटर के सफर में दमकल को लगे 40 मिनट

निवास. निवास मुख्यालय से 5 किमी दूर मंगलवार की रात लगभग 7.30 बजे पिपरिया बाजार चौक पर कांजी हाऊस से लगे महिला सफाई कर्मी के घर में अचानक आग लग गई। एक परिवार जो गांव की साफ सफाई करके अपने परिवार का भरण पोषण कर रहा था। उसी गांव में आग बूझाने के लिए उसे पानी नहीं मिला। मंगलवार को उस समय सफाई कर्मी पर दूख का पहाड़ टूट पड़ा जब उसे अपने घर में आग लगने की जानकारी लगी। उसकी गैर मौजूदगी में आग कैसे लगी इसकी जानकारी नहीं लग सकी। ग्रामीणों ने इसकी सूचना डायल 100 के माध्यम से पुलिस को दी। स्थानीय दमकल वाहन को भी सूचना दी गई थी। लेकिन समय में दमकल वाहन नहीं पहुंच पाया। और घर कुछ ही मिनटो में धू-धूकर के जल गया। ग्रामीणों ने आग बूझाने का काफी प्रयास किया लेकिन पानी की कमी के कारण असफल रहे। ग्रामीणों ने बताया कि पिपरिया पर नल जल योजना तो संचालित है लेकिन मशीन खराब के चलते पिछले एक सप्ताह से घरों पर पानी नहीं आ रहा है। जिन ग्रामीणों के घर में थोड़ा पानी था बुझाने का प्रयास किया लेकिन उतने पानी में कुछ नहीं हो पाया। ग्रामीणों का कहना है कि अगर नलजल योजना सप्लाई चालू रहती तो घर पर पानी रहता तो शायद इस आग पर काबू पाया जा सकता था। वहीं घटना की जानकारी स्थानीय लोगों ने तत्काल निवास नगर परिषद के आधिकारी को फोन पर दी तो उन्होंने पुलिस को सूचना देने को कहा। लेकिन जब तक बहुत देर हो चुकी थी घटना के समय परिवार को इस की कोई जानकारी नहीं हो पाई थी। वहीं आधे 45 मिनट बाद दमकल वाहन पहुंचा। जबकि पिपरिया ग्राम की दूरी निवास से महज 5 किमी दूर है। पीडि़त परिवार ने मुआवजे की मांग की है।

Mangal Singh Thakur
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned