scriptworld forestry day celebrated in school students distribute trees | स्कूल में मनाया गया 'विश्व वानिकी दिवस', छात्रों ने पेड़, पौधे और बीज बांटकर समझाया इनका महत्व | Patrika News

स्कूल में मनाया गया 'विश्व वानिकी दिवस', छात्रों ने पेड़, पौधे और बीज बांटकर समझाया इनका महत्व

-विश्व वानिकी दिवस आज
-जगन्नाथ उत्कृष्ट विद्यालय में हुआ समारोह
-छात्र-छात्राओं को बांटे पौधे व बीज
-प्रकृति को बचाने का दिया बड़ा संदेश

मंडला

Updated: March 21, 2022 08:26:26 pm

मंडला. शासकीय जगन्नाथ उत्कृष्ट विद्यालय में विश्व वानिकी दिवस के अवसर पर विद्यालय के छात्र-छात्राओं को वनों की तरफ प्रोत्साहित करने के लिए पौधे और बीज का वितरण किया गया, ताकि छात्र इन पौधों को तैयार कर प्रकृति एवं समुदाय में लगाए जिससे कि, वो जंगलों को प्रोत्साहन में आगे आ सके एवं उसका संरक्षण कर सकें।

News
News Impact - सड़क चौड़ीकरण में देरी पर मोर्चे का ऐलान, बस स्टैंड में प्रदर्शन कर पीडबल्यूडी कायार्लय घेरेंगे भाजपाई,News Impact - सड़क चौड़ीकरण में देरी पर मोर्चे का ऐलान, बस स्टैंड में प्रदर्शन कर पीडबल्यूडी कायार्लय घेरेंगे भाजपाई,स्कूल में मनाया गया 'विश्व वानिकी दिवस', छात्रों ने पेड़, पौधे और बीज बांटकर समझाया इनका महत्व

इस आयोजन में प्रताप सिंह मसराम सेवानिवृत्त वन मंडल अधिकारी शामिल हुए। उन्होंने विद्यार्थियों को विश्व वानिकी दिवस के महत्तव की जानकारी प्रदान की कार्यक्रम में आभा चौरसिया प्रचार्य के द्वारा छात्रों को वनों को विकसित करने में योगदान देने की अपील की। साथ ही, इस मौके पर छात्रों को अंकुर अभियान के तहत विद्यालय में पौधरोपण भी कराया गया। कार्यक्रम में योगेश श्रीवास्तव, आरके हरदहा, सीएस श्याम, बीके चौरसिया उपस्थित रहे।

यह भी पढ़ें- ऑपरेशन के वक्त 4 साल की बच्ची के दिल में छूट गया था डिवाइस, डॉक्टरों ने बिना सर्जरी किये निकाला


समस्याओं से निपटने के लिए समय रहते ध्यान देना जरूरी

ईको क्लब प्रभारी आरके क्षत्री ने बताया कि, जंगलों को बचाए रखने तथा पेड़ों के महत्व के विषय में आम जनता को जागरूक करने के लिए 21 मार्च विश्व वानिकी दिवस के रूप में मनाया जाता है, जिसका मुख्य उद्देश्य वानकी के प्रति सुरक्षा उत्पादन और वन विहार के बारे में लोगों को प्रेरित करना है, ताकि प्रकृति में जीव जंतु पेड़ पौधे की पतंग एक दूसरे पर निर्भर रह कर अपना जीवन बिता सकें। कुछ वर्षों से मानव प्रकृति के साथ-साथ भौतिक व्यवस्था में पढ़कर भौतिक विलासिता में पढ़कर प्रकृति से छेड़छाड़ करते आ रहा हैं, जिसके कारण जलवायु परिवर्तन ग्लोबल वार्मिंग ग्लेशियर का पिघलना जैसी विकट समस्याएं बढ़ी हैं, जिससे निपटने के लिए समय रहते ध्यान देना होगा।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन बर्थ डेट वालों पर शनि देव की रहती है कृपा दृष्टि, धीरे-धीरे काफी धन कर लेते हैं इकट्ठाLiquor Latest News : पियक्कडों की मौज ! रात एक बजे तक खरीदी जा सकेगी शराबशुक्र देव की कृपा से इन दो राशियों के लोग लाइफ में खूब कमाते हैं पैसा, जीते हैं लग्जीरियस लाइफMorning Tips: सुबह आंख खुलते ही करें ये 5 काम, पूरा दिन गुजरेगा शानदारDelhi Schools: दिल्ली में बदलेगी स्कूल टाइमिंग! जारी हुई नई गाइडलाइनMahindra Scorpio 2022 का लॉन्च से पहले लीक हुआ पूरा डिजाइन और लुक, बाहर से ऐसी दिखती है ये पावरफुल कारबैड कोलेस्‍ट्राॅल और डिमेंशिया को कम करके याददाश्त को बढ़ाता है ये लाल खट्‌टा-मीठा फल, जानिए इसके और भी फायदेAC में लगाइये ये डिवाइस, न के बराबर आएगा बिजली बिल, पूरे महीने होगी भारी बचत

बड़ी खबरें

Punjab Borewell Accident: 8 घंटे के बचाव अभियान के बाद 6 साल के रितिक को बोरवेल से निकाला गया, अस्पताल में भर्तीBJP को सरकार बनाने के लिए क्यूँ जरूरी है काशी और मथुरा? अयोध्या से बड़ा संदेश देने की तैयारी..पुजारा और कार्तिक की टीम में वापसी, उमरान मालिक को भी मिला मौका, देखें दक्षिण अफ्रीका और इंग्लैंड दौरे का पूरा स्क्वाडपश्चिम बंगाल का पूर्व मेदिनीपुर जिला बम धमाकों से दहला, तलाशी के दौरान बरामद हुए 1000 से अधिक बमआम आदमी पार्टी में शामिल होंगे कपिल देव! हरियाणा चुनाव से पहले AAP का बड़ा दांव, केजरीवाल संग फोटो वायरलपश्चिम बंगाल में BJP को बड़ा झटका, बैरकपुर के भाजपा सांसद अर्जुन सिंह TMC में हुए शामिलएशिया कप हॉकी: पहले ही मैच में भिड़ेंगे भारत और पाकिस्तान, ऐसा है दोनों टीमों का रिकॉर्डचार धाम यात्रा: केदारनाथ में श्रद्धालुओं ने फैलाया कचरा, वैज्ञानिक बोले - यही बनता है तबाही का कारण
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.