scriptBribery changed the color of the paint, then the EOW seized it by gett | रिश्वत ने बदला पेंट का रंग तो उतरवाकर ईओडब्ल्यू ने की जप्त | Patrika News

रिश्वत ने बदला पेंट का रंग तो उतरवाकर ईओडब्ल्यू ने की जप्त

रिश्वत ने बदला पेंट का रंग तो उतरवाकर ईओडब्ल्यू ने की जप्त

मंदसौर

Published: May 07, 2022 10:28:44 am


मंदसौर.
ईओडब्ल्यू उज्जैन की टीम ने शुक्रवार को पीएचई कार्यालय में पस्थ सहायक ग्रेड-३ मुजीम रहमान को २० हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए रंगेहाथ पकड़ा है। रिश्वतखोर बाबू ने रुपए पेंट में रखें तो पेंट का रंग भी बदला और हाथ का भी। इस पर ईओडब्ल्यू की टीम ने बाबू की पेंट भी उतरवा ली और उसे जप्त कर लिया। कई घंटों तक पीएचई कार्यालय में कार्रवाई चलती रही। सेवानिवृत्त कर्मचारी प्रेमशंकर प्रधान से सेवानिवृत्ति के बाद शासन से मिलने वाली राशि को निकालने के एवज में बाबू १ लाख रुपए की रिश्वत मांग रहा था। उसी पर २० हजार रुपए शुक्रवार को लेते हुए पकड़ा।
रिश्वत ने बदला पेंट का रंग तो उतरवाकर ईओडब्ल्यू ने की जप्त
रिश्वत ने बदला पेंट का रंग तो उतरवाकर ईओडब्ल्यू ने की जप्त

राशि जारी करने के लिए बाबू मांग रहा था रिश्वत
पीएचई कार्यालय में बाबू सैयद मुजीब रहमान सहायक ग्रेड 3 स्थापना एवं लेखा शाखा प्रभारी सेवानिवृत्त कर्मचारी प्रेमशंकर प्रधान से रिटायरमेंट के बाद शासन से दी जाने वाली सुविधा में जीपीएफ , जीआईएस और समर्पित अवकाश पेंशन की राशि के बदले 1 लाख रुपए की मांग कर रहा था। इस पर प्रधान ने ईओडब्ल्यू में शिकायत करने के बाद उनके कहे अनुसार उसे शुक्रवार को २० हजार रुपए कार्यालय में जाकर दिए तो वहां टीम ने पहुंचकर उसे रंगेहाथ पकड़ लिया। डीएपी अजय कैथवास निरीक्षक अनिल शुक्ला, पीके व्यास, एएसआई अशोक राव, प्रधान आरक्षक मोहन पाल, विशाल बादल, फिरोज खान, लोकेंद्र देवड़ा, आरक्षक भरत, प्रकाश गोलावद मौजूद थे।

यह है पूरा घटनाक्रम
उज्जैन ईओडब्ल्यू के डीएसपी अजय कैथवास ने बताया कि मार्च में प्रेमशंकर प्रधान पीएचई से हेंडपंप तकनीकिशियन के पद से रिटायर्ड हुए थे। इसके बाद शासन से दी जाने वाली सुविधा और भुगतान उनका बाकी थी। इसके लिए उन्होंने यहां कई चक्कर लगाए। इस पर यहां लेखा का काम करने वाले बाबू मुजीम रहमान ने उनसे १ लाख रुपए की मांग की और तभी फाईल आगे बढ़ाने की बात कही। इस पर जब वह परेशान हो गए तो प्रधन ने ईओडब्ल्यू उज्जैन एसपी दिलीप सोनी के यहां लिखीत में शिकायत की। इसके बाद विभाग ने इसका सत्यापन कराया तो यह शिकायत सही पाई गई। इस पर डीएसपी और दो टीआई रेंक के अधिकारी सहित एसआई व आरक्षक के साथ पूरी टीम शुक्रवार को यहां पहुंची और कार्रवाई की। इस दौरान रहमान के हाथ धुलवाए और जिस पेंट में उन्होंने लिए गए २० हजार रुपए रखे थे। वह भी रंगीन हुए तो हाथ भी रंगीन हो गए। रिश्वत लेने के मामले में भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम की धारा में रहमान पर मामला दर्ज किया गया है। अभी प्रारंभिक कार्रवाई है। आगे विवेचना होगी।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

जयपुर में एक स्वीमिंग पूल में रात का सीसीटीवी आया सामने, पुलिसवालें भी दंग रह गएकचौरी में छिपकली निकलने का मामला, कहानी में आया नया ट्विस्टइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलचेन्नई सेंट्रल से बनारस के बीच चली ट्रेन, इन स्टेशनों पर भी रुकेगीNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयधन कमाने की योजना बनाने में माहिर होती हैं इन बर्थ डेट वाली लड़कियां, दूसरों की चमका देती हैं किस्मतCBSE ने बदला सिलेबस: छात्र अब नहीं पढ़ेगे फैज की कविता, इस्लाम और मुगल साम्राज्य सहित कई चैप्टर हटाए

बड़ी खबरें

Maharashtra Politics Crisis: शिवसेना की कार्यकारिणी बैठक खत्म, जानें कौन-कौन से प्रस्ताव हुए पारितMaharashtra Political Crisis: आदित्य ठाकरे का बागी विधायकों पर निशाना, कहा- नहीं भूलेंगे विश्वासघात, हमारी जीत तय हैMaharashtra Political Crisis: महाराष्ट्र में सियासी उलटफेर का खेल जारी, बागी विधायकों को डिप्टी स्पीकर ने जारी किया नोटिसBPSC Paper Leak: पेपर लीक मामले में गिरफ्तार हुए JDU नेता शक्ति कुमार, सबसे पहले पेपर स्कैन कर WhatsApp पर था भेजाAmarnath Yatra: अमरनाथ यात्रा से 4 दिन पहले प्रशासन अलर्ट, सुरक्षा व्यवस्था को लेकर उठाया बड़ा कदमMumbai News Live Updates: महाराष्ट्र विधानसभा के डिप्टी स्पीकर नरहरि जिरवाल के खिलाफ नया अविश्वास प्रस्ताव पेशMaharashtra Political Crisis: शिवसेना में बगावत के बाद अब उपद्रव का डर! पोस्टर वॉर के बीच एकनाथ शिंदे के गढ़ ठाणे में धारा 144 लागूAmit Shah on 2002 Gujarat Riots: गुजरात दंगों पर SC के फैसले के बाद बोले अमित शाह, PM मोदी को इस दर्द को झेलते हुए देखा है
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.