scriptBudha-Badri Road is shedding tears on its plight | बुढ़ा-बादरी रोड़ अपनी बदहाली पर बहा रहा आंसू | Patrika News

बुढ़ा-बादरी रोड़ अपनी बदहाली पर बहा रहा आंसू

३३९.५३ लाख की लागत से बनी थी सड़क

मंदसौर

Updated: January 10, 2022 05:59:53 pm

मंदसौर/लिंबावास. समीप के क्षेत्र में बुढ़ा-बादरी रोड वर्तमान में अपनी बदहाली पर आंसू बहा रहा है। कीचड़ से लथपथ मार्ग में अनेक गड्ढें हो गए है। यहां से गुजरने वाले राहगीरों को परेशानियों का सामना करना पड़ता है।
बुढ़ा-बादरी रोड़ अपनी बदहाली पर बहा रहा आंसू
बुढ़ा-बादरी रोड़ अपनी बदहाली पर बहा रहा आंसू
जानकारी अनुसार बुढ़ा से बादरी रोड़ करीब ९ किमी की दूरी है। जो कि प्रधानमंत्री सडक योजना के तहत 2015 में यह सड़क बनी थी लेकिन ट्रैफिक के दबाव के कारण मार्ग भी पूरी तरह अब जर्जर होता जा रहा है। कई जगहों से सड़क टूट रही है तो कई जगहों पर गड्ढें हो चुके है। वही कई जगहों पर डामर भी पूरी तरह से साफ हो चूका है और बड़े पत्थर और गिट्टी के साथ गड्ढें उभर आए है। इसके कारण दुपहिया से लेकर चारपहिया वाहन चालको को अब आवाजाही में दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। पूर्व में इस मार्ग की मरमत की औपचारिकता पूरी हुई लेकिन अब पूरा मार्ग जब खराब हो गया तो इस और कोई ध्यान नहीं दे रहा है।
राहगीर कारूलाल, मदनलाल ने बताया कि बुढ़ा से बादरी रोड़ कि हालत इतनी खराब हो गई है कि बुढा से बादरी पहुचने में भी करीब 30 से 40 मिनट लग जाते है। गांव के दिलीपसिंह, राजू धनगर, नवल सिंह, सरताज, रामदयाल ने बताया कि बुढा से बादरी रोड़ करीब २०१५ में बना था लेकिन दबाव के कारण यह बदहाल होता चला गया और अब पूरी तरह इस मार्ग की हालात खस्ता हो गई। इस कारण मार्ग से आवागमन करना भी मुश्किल हो गया है। बारिश के बीच सड़क पर ही तालाब की तरह पानी भरा है और इस पानी और कीचड़ से भरे मार्ग से होकर ग्रामीणों को मजबुरी में आवाजाही करना पड़ रही है। इसी कारण हर दिन यहां वाहन भी खराब हो रहे है तो वाहन चालक गिर भी रहे है।
३३९.५३ लाख की लागत से बनी थी सड़क
प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत ठेकेदार नाथुलाल पाटीदार कनावटी नीमच द्वारा इस सड़क का निर्माण किया गया था। मार्ग का प्रारंज्ञ २०१४ में ३१ अक्टूबर को किया था। और २०१५ में ३० अक्टूबर को काम पूरा हुआ था। करीब 339.53 लाख की लागत से यह सड़क बनी थी लेकिन अनदेखी के कारण धीरे-धीरे अब यह मार्ग पूरी तरह बदहाल हो चुका है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.