कमेटी ने कहा नहीं घटाईतैलिया तालाब के वेस्टवियर की ऊंचाई

कमेटी ने कहा नहीं घटाईतैलिया तालाब के वेस्टवियर की ऊंचाई

By: harinath dwivedi

Published: 11 Dec 2017, 10:14 PM IST



- कांग्रेस जिला उपाध्यक्ष ने उठाए जांच कमेटी पर सवाल

मंदसौर.
तैलिया तालाब में अतिक्रमण और उसकी डूब क्षेत्र की जमीनों को तत्कालीन कलेक्टर द्वारा डूब क्षेत्र से बाहर करने का मुद्दा शहर में सुलगने लगा है। अधिकारी भी मानते है कि यह मुद्दा बहुत संवेदनशील हो गया है। डूब क्षेत्र में एक दर्जन से अधिक कॉलोनियां बन गईहै। जिन लोगों तालाब में कॉलोनिया उगाई है। वे सभी बड़े रसूखदार है। और राजनेताओं से जुड़े हुए है। यही वजह हैकि तैलिया तालाब का मुद्दा अब जनमानस के मन में घर करने लगा है। हांलाकि तैलिया तालाब के वेस्टवियर की ऊंचाई पर उठे सवालों को लेकर घटित टीम ने दावा किया है कि उन्होंने तालाब की देानों वेस्टवियर की ऊंचाईनापी है। और पुराने रिकार्डमें लिखी ऊंचाईसे तुलना की है। नगर पालिका ने जो वेस्टवियर बनाईहै वे दोनों वेस्टवियर में ऊंचाईकम नहीं पाईगईहै।
दूसरी और कांग्रेस के जिला उपाध्यक्ष महेंद्र ङ्क्षसह गुर्जर ने जंाच टीम पर सवाल उठाए है। उन्होंने कहा कि तैलिया तालाब की निष्पक्ष जांच को लेकर जिला प्रशासन द्वारा गठित जाँच कमेटी प्रथम दृष्टया ही भाजपा जनप्रितिनिधियों के दबाव में होकर सन्देह के घेरे में है। जांच दल के सभी सदस्यों का जिले में ही पदस्थ होने के कारण निष्पक्ष जांच होना संदेह के दायरे में है। उन्होंने राज्य शासन की स्वतंत्र जांच एजेंसी से इस पूरे मामले की निष्पक्ष जांच कराने की मांग की है।
जल संसाधन विभाग ने नहीं दी एनओसी
जल संसाधन विभाग के कार्यपालन यंत्री बीएल निनामा ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट का भी निर्णय हैकि तालाब के डूब क्षेत्र भूमि (एमडब्लयूएल)में निर्माण कार्य नहीं किया जा सकता है। जल संसाधन विभाग ने तैलिया तालाब डूब क्षेत्र में निर्माण करने की अनुमति कभी नहीं दी। विभाग ने किसी को भी एनओसी नहीं दी है। विभाग डूब क्षेत्र के निर्माण को लेकर हमेशा सजग रहा है। जिन्होंने भी तालाब डूब क्षेत्र में निर्माण किया। नियमानुसार उन्हें नोटिस जारी किए है। उन्हें सूचित किया है कि वे अवैध निर्माण कर रहे है। टाउन एंड कंट्री प्लानिंग ने भी जल संसाधन विभाग के निर्णय से परे हो कॉलोनियों के लिए अनुमति जारी की है।
डूब क्षेत्र की जमीनें बाहर होने को लेकर होगी जांच
निनामा ने कहा कि वेस्टवियर की ऊंचाईमें कोईकमी नहीं की गई है। तालाब की डूब क्षेत्र की जमीन डूब क्षेत्र से बाहर आने के मामले की जांच की जाएगी। इसके लिए जल संसाधन विभाग व अन्य विभागों की तकनीकि टीम के साथ ही राजस्व विभाग का अमला भी जांच दल में शामिल होगा। टीम एमडबल्यूएल क्षेत्र में वर्षों पुरानी क्या स्थिति थी और वर्तमान में क्या स्थिति है। तालाब डूब क्षेत्र में निर्माण से पहले एमडबल्यू एल मार्ग कहां तक था और कहां है। यह स्थिति क्यों निर्मित हुई। चिह्ंित जगह में परिर्वतन क्यों हुआ।जलभराव क्षेत्र में नियमों के विपरीत जमीन में भराव कर ऊंचा किया गया है या नहीं। ऐसे मामलों का खासतौर पर देखेगी।
जनसेवा मित्र मंडल दो दिन धरने पर
तैलिया तालाब को बचाने को लेकर मध्यप्रदेश जनसेवा मित्र मंडल एवं शिवसेना १४ एवं १५ दिसबंर को गांधी चौराहा पर धरना प्रदर्शन करेगी। वहीं १४ दिसबंर को आधा दिन शहर बंद का आव्हान भी किया जाएगा। मित्र मंडल के प्रदेशध्यक्ष दिनेश चंद्र शर्मा ने कहा कि मंडल और शिवसेना तैलिया तालाब के मामले की सीबीआई से जांच कराने की मांग सरकार से करेगी। शर्मा ने कहा कि १२ दिसबंर को तैलिया तालाब की जमीनों की हेराफेरी करने के मामले को लेकर भोपाल में मुख्यमंत्री शिवराज ङ्क्षसह चौहान को ज्ञापन दिया जाएगा।
---------------------------------

२८ पेटी देशी शराब सहित एक गिरफ्तार
मंदसौर.
सुवासरा पुलिस ने सोमवार को ग्राम धामनिया दिवान में एक व्यक्ति के घर से २८ पेटी देशी शराब जप्त कर एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है। पुलिस आरोपी से पूछताछ कर रही है। पुलिस ने बताया कि मुखबिर से सूचना मिली कि धामनिया में पंकज गिरी गोस्वामी नाम के व्यक्ति के घर पर अवैध रूप से शराब रखी हुई है। इस पर पंकज के घर दबिश देकर तलाशी ली तो वहां से २८ पेटी देशी शराब बरामद हुए। पंकज को गिरफ्तार कर लिया गया है। आरोपी से पूछताछ की जा रही है।
००००००००००००००००००००

harinath dwivedi Editorial Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned