यहां नगर परिषद अध्यक्ष से प्रताडि़त होकर पार्षद ने दिया इस्तीफा

जातिसूचक शब्दों से अपमानित करने का लगाया आरोप

By: harinath dwivedi

Published: 13 Mar 2018, 05:43 PM IST

मंदसौर/गरोठ. सुवासरा क्षेत्र के वार्ड क्रमांक-4 के पार्षद ताहेरअली ने नगर परिषद सुवासरा अध्यक्ष से प्रताडि़त होकर सोमवार को तहसीलदार के नाम रीडर अजय गोयल इस्तीफा दे दिया। साथ ही नगर परिषद अध्यक्ष पर जातिसूचक शब्दो से प्रताडि़त करने का आरोप भी लगाया।


पार्षद द्वारा दिए गए आवेदन में कहा गया कि वह भाजपा से वर्तमान में वार्ड क्रमांक-4 में पार्षद हूं। नगर परिषद अध्यक्ष मगनलाल सूर्यवंशी द्वारा मुझे आए दिन प्रताडि़त किया जा रहा है। विगत समय में भी सूर्यवंशी ने जातिसूचक शब्दों से अपमानित किया था। पार्षद ने कहा कि 7 मार्च को वह नगर परिषद सुवासरा में पदस्थ कर्मचारी बाबूलाल जैन से मीटिंग संबंधित पर्ची बताकर बात कर रहा था इस दौरान नगर परिषद अध्यक्ष सूर्यवंशी ने मुझे कहा कि तुम्हारा कोई काम नहीं किया जाएगा। सूर्यवंशी ने कर्मचारी बाबूलाल को कहा कि पार्षद ताहेरअली के सारे काम निरस्त कर दो। 7 मार्च को जब मैं सीतामऊ से आया तो जीनिंग फैक्ट्री में जेसीबी द्वारा पाइप लाइन डालने के लिए खुदाई की जा रही थी। कुछ देर बाद काम रुक गया। शाम करीब 4 बजे नगर परिषद गया तो यहां सभापति नंदकिशोर धनोतिया ने नगर परिषद अध्यक्ष के सामने मुझे अपशब्दो से अपमानित किया। 9 मार्च को नगर परिषद अध्यक्ष सूर्यवंशी अपने केबिन में बैठे थे, मैं शाम करीब 4 बजे नगर परिषद गया तो अध्यक्ष मगनलाल ने नगर परिषद के कर्मचारी गोपाल माली को बुलाया और कहा कि वहां पाइपलाइन डालने का कार्य रोक दिया जाए तो गोपाल माली ने कहा कि सीएमओ के आदेश से डल रही है। 10 मार्च को नप अध्यक्ष सूर्यवंशी, नंदकिशोर धनोतिया, रामगोपाल चौधरी, हंसपालसिंह सिसौदिया, उमेश सोनी ने थाने में जाकर मेरे खिलाफ झूठी एवं मनगढंत रिपोर्ट दर्ज करा दी। इसी से प्रताडि़त होकर मैने पार्षद पद से इस्तीफा दे दिया। प्रभारी टीआई राकेश चौधरी ने कहा कि नगर परिषद अध्यक्ष ने आवेदन दिया था। अभी मामले की जांच जारी है।


मुझे प्रताडि़त किया जाता है : आए दिन नगर परिषद अध्यक्ष द्वारा मुझे प्रताडि़त किया जाता है, मेरे खिलाफ थाने में भी झूठी शिकायत दर्ज करा दी है। निर्माण कार्याे को लेकर भी नगर परिषद द्वारा आपत्ति की जाती है। मैने किसी के दबाव व प्रभाव में आकर इस्तीफा नहीं दिया है, बल्कि अपनी स्वेच्छा से इस्तीफा दिया है। - ताहेरअली, पार्षद, वार्ड क्रमांक-४ सुवासरा


बातचीत करने का लहजा ठीक नहीं : पार्षद ताहेरअली के वार्ड में ४० लाख के विकास कार्य करवा चुके है। ४५ लाख के विकास कार्यो के टैंडर निकलना शेष है। पार्षद का बातचीत करने का लहजा ठीक नहीं है, मेरे द्वारा इन्हें प्रताडि़त नहीं किया गया। पार्षद के रवैये को लेकर नगर में किसी से भी पूछा जा सकता है। - मगनलाल सूर्यवंशी, अध्यक्ष, नगर परिषद सुवासरा

harinath dwivedi Editorial Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned