भक्ति, प्रेम व समर्पण से ही मिलेंगे परमात्मा

- पंडित जोशी की स्मृति में वल्लभाचार्य सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता सम्पन्न

By: vikram ahirwar

Published: 24 Apr 2017, 11:19 AM IST


मंदसौर/रतलाम.
पुष्टिमार्ग के प्रवर्तक महाप्रभु श्रीमद्वल्लभाचार्य जयंती के अवसर पर श्री गोवर्धननाथ मंदिर में भागवताचार्य पंडित मदनलाल जोशी की स्मृति में श्रीमद् वल्लभाचार्य सप्तम सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता का आयोजन सम्पन्न हुआ। समारोह में उच्च न्यायालय के निवर्तमान न्यायधीश गिरिराजदास सक्सेना ने कहा कि महाप्रभु वल्लभाचार्य जी ने मानव मात्र को परमात्मा से जोडऩे के लिए पुष्टिमार्ग के सिद्धांत को प्रतिपादित किया। भक्ति, प्रेम व समर्पण से ही परमात्मा को प्राप्त किया जा सकता है, यही पुष्टिमार्ग है। सक्सेना ने कहा कि पंडित जोशी ने पुष्टि दर्शन के तत्व चिंतन को अपनी विद्वता से जन-जन तक पहुंचाया। डॉ घनश्याम बटवाल ने कहा कि महापुरुषों का जीवन व कृतित्व हमारे लिए प्रेरणा का पुंज होता है। वल्लभाचार्य जी ने पुष्टि मार्ग का सूत्रपात कर प्राणीमात्र को कृष्ण भक्ति से जोड़ा। जिला महिला सशक्तिकरण अधिकारी रविन्द्र कुमार महाजन ने कहा कि वल्लभाचार्यजी ने कृष्ण भक्ति का सुगम मार्ग पुष्टिमार्ग से वैष्णवजनों को जोड़ा। मनीष पारिख, सुनिल राठौर, माधुरी पारिख, रीता पारिख ने भी संबोधित किया। सिद्धि व श्रुति पारिख ने मंगलाचरण के श्लोक प्रस्तुत किए। बालक शौर्य पारिख ने महाप्रभुजी की वार्ता सुनाई।
यह रहे प्रतियोगिता के विजेता
इस अवसर पर सप्तम सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता में प्रथम पुरस्कार मधुबाला पारिख, द्वितीय पुरस्कार स्नेहलता पारिख व तृतीय पुरस्कार कमला देवी पारिख ने प्राप्त किया। अतिथियों ने पुरस्कार वितरित किए। प्रतियोगिता संबधी जानकारी ब्रजेश जोशी ने प्रस्तुत की। समारोह में कैलाश जोशी, प्रशांत जोशी, मुकुंद जोशी, अपना घर स्वाध्यायमंच के संस्थापक राव विजय सिंह, पंतजलि योग समिति के जिलाध्यक्ष बंशीलाल टांक, हेमंत भाई शाह, जीतू पारिख, सचिन पारिख व अनेक श्रद्धालु वैष्णवजन व महिलाएं सम्मिलित हुए। संचालन मंदिर समिति के न्यासी प्रबोध पारिख ने किया।


vikram ahirwar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned