सुविधाओं का मैदान छोड़ असुविधाओं के बीच करवा दी संभागीय स्पर्धा

सुविधाओं का मैदान छोड़ असुविधाओं के बीच करवा दी संभागीय स्पर्धा

By: Nilesh Trivedi

Published: 05 Sep 2019, 11:27 AM IST

मंदसौर.
संभागीय क्रिकेट स्पर्धा के मुकाबलें पीजी कॉलेज ग्राउंड पर खेले गए। शहर में अत्याधुनिक सुविधाओं वाला नूतन स्टेडियम होने के बाद भी धुल-मिट्टी और कंकड़ के मैदान में असुविधाओं के बीच संभागीय स्पर्धा आयोजको ने करवा दी। जहां संभाग से आए खिलाड़ी परेशान होते रहे। मैच खेलने के दौरान कीट में आने के लिए कपड़े बदलने के लिए जिन वाहनों से वह यहां खेलने आए उन्हीं की आड़ लेना पड़ी तो अपनी बारी का इंतजार करने के लिए जमीन पर धुल में ही बैठना पड़ा।

ग्राउंड पर खेले के लिए जो पिच तैयार करते हुए मेट लगाई गई। वह भी फटी थी। इस प्रकार असुविधाओं के बीच बुधवार को संभागीय क्रिकेट स्पर्धा करवा ली गई। इतना ही नहीं दिनभर हुई मैच के दौरान कामेंट्री की व्यवस्था भी नहीं थी। नूतन स्टेडियम जहां रणजी स्तर के मैच की तमाम सुविधाएं है, फिर भी वहां मैच नहीं कराए गए तो जवाबदार इसके पीछे मैदान गिला होने व घास बड़ी होने का तर्क देते रहे।


7 जिलों से पहुंचे खिलाडिय़ों सहित 150 लोग
१४ वर्ष आयु की संभागीय स्पर्धा में संभाग के ७ जिलों के ११२ खिलाडिय़ों सहित इनके साथ आए २८ कोच व अधिकारी सहित १५० लोग शहर में पहुंचे थे। यहां से संभाग की टीम तैयार होगी जो राज्य स्तरीय स्पर्धा में भाग लेगी। जिन्हें दिनभर पीजी कॉलेज के मैदान में असुविधाओं के परेशान होते हुए खेलना पड़ा। मैदान पर खिलाडिय़ों के लिए बैठने की कोई व्यवस्था नहीं थी। पिच पर बिछाई मेट भी फटी हुई थी। जिनते भी खिलाड़ी थे वह छाया के लिए पेड़ों के नीचे जगह तलाशते रहे। पीजी कॉलेज ग्राउंड में दो मैदान तैयार किए थे। उसमें एक कोने में बनाया था। वहां अधिक अव्यवस्था थी। बारिश के कारण अब बचे हुए मुकाबलें गुरुवार को खेले जाएंगे।


कुर्सिया व माईक शुभारंभ होते ही वापस ले गए
विडबंना तो यह रही की संभागीय स्तरीय स्पर्धा तमाम अव्यवस्थाओं और असुविधाओं के बीच चलती रही। लेकिन यहां शुभारंभ करने जब विधायक यशपालसिंह सिसौदिया व खेल अधिकारी मौजूद थे। यहां स्वागत व भाषण के बाद जब विधायक निकलें तो कुर्सिया व माईक भी वापस ले गए। बावजूद दूसरे जिलों से आए कोच व अन्य अधिकारी अव्यवस्थाओंके कारण परेशानी तो बताते रहे लेकिन फिर यहीं कहा कि किसी के लिए क्या कहे, क्रिकेट स्पर्धाओं में इन्हीं लोगों से मुलाकात होती रहती है। क्यों किसी से बुराई ले। मैदान गिला होने व घास बड़ी होने का तर्क देते रहे।


बारिश के कारण हुई दिक्कत
बारिश के कारण मैदान गिला होकर कीचड़ हो रहा था। काली मिट्टी के अलावा घास भी बड़ी हो रही थी। बारिश के कारण मैदान क्रिकेट खेलने के लिए वर्तमान में उपयुक्त नहीं था। इसी कारण यह निर्णय लेते हुए पीजी कॉलेज के मैदान पर मैच करवाना पड़े। -अशोक पाटीदार, जिला क्रिडा अधिकारी

Nilesh Trivedi Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned