कंाग्रेस को सबसे पहले छोडऩे वाले डंग को मिला इनाम, बने केबिनेट मंत्री


कंाग्रेस को सबसे पहले छोडऩे वाले डंग को मिला इनाम, बने केबिनेट मंत्री

By: Vikas Tiwari

Published: 02 Jul 2020, 01:06 PM IST

मंदसौर.
मुख्यमंत्री शिवराज ङ्क्षसह चौहान ने मंत्रीमंडल का गठन किया। इस मंत्री मंडल में जिले के दो मंत्री मिले है। इसमें एक सीनियर विधायक जगदीश देवड़ा तो दूसरे पूर्व विधायक हरदीप ङ्क्षसह डंग। पूर्व विधायक हरदीप ङ्क्षसह डंग को मुख्यमंत्री िशवराज ङ्क्षसह चौहान ने केबिनेट मिनिस्टर बनाकर उनको सबसे पहले कांग्रेस छोडऩे का इनाम दिया है। बताते दे कि सबसे पहले मार्च में विधायक हरदीप ङ्क्षसह डंग ने कांग्रेस से बगावत की थी और पार्टी से इस्तीफा दिया था। हम पूर्व विधायक हरदीप ङ्क्षसह डंग के राजनीतिक सफर देखें तो वे पहले सरपंच का चुनाव जीत चुके है। उसके बाद युथ कांग्रेस में कार्य किया और उसी दौरान २००८ में उनको सुवासरा विधानसभा सीट से प्रत्याशी बनाया गया। लेकिन वे भाजपा के राधेश्याम पाटीदार से चुनाव हार गए। उसके बाद २०१३ और २०१८ के विधानसभा चुनाव में वे लगातार जीते। और उन्होंने भाजपा के राधेश्याम पाटीदार को हराया था। पूर्व विधायक मीनाक्षी नटराजन गुट के नेता थे। पूर्व विधायक हरदीप ङ्क्षसह डंग के मंत्री बनने के बाद भाजपा कार्यकर्ताओं ने आतिशबाजी कर एक-दूसरे को मिठाई खिलाई।
30 साल में तीसरी बार
बडी बात यह है कि एमपी की राजनीति में तीसरी बार सिक्ख समाज को मंत्रिमंडल में प्रतिनिधित्व मिला है। सबसे पहले दिग्विजयसिंह सरकार में खंडवा के तंवन्तसिंह कीर मंत्री रहे। इनके बाद इटारसी के सरताजसिंह को शिवराजसिंह चौहान मंत्रिमंडल में जगह मिली थी। अब फिर सिक्ख समाज के प्रतिनिधि को मंत्रिमंडल में जगह मिली है।

Vikas Tiwari Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned