scriptFor two and a half years, the bodies of the district are waiting for t | ढाई साल से जिले की निकायों को है अपनी सरकार का इंतजार, अब पूरी होगी आस | Patrika News

ढाई साल से जिले की निकायों को है अपनी सरकार का इंतजार, अब पूरी होगी आस

ढाई साल से जिले की निकायों को है अपनी सरकार का इंतजार, अब पूरी होगी आस

मंदसौर

Published: May 30, 2022 10:40:20 am


मंदसौर.
पंचायत चुनाव का कार्यक्रम घोषित होने के बाद अब निकाय चुनाव को लेकर चर्चाओं का दौर शुरु हो गया है। एक और जहां प्रशासन व राजनीतिक दलों के साथ ग्रामीण अंचल में दावेदार अपनी तैयारियों में जुट गए है तो वहीं निकायों में अभी कार्यक्रम घोषित होने का इंतजार है। हालांकि माना जा रहा है कि १ जून के बाद कार्यक्रम घोषित हो जाएगा और पंचायत चुनाव की प्रक्रिया के साथ निकाय चुनाव की तैयारियां व प्रक्रिया भी चलेगी। लेकिन इन सबके बीच जिले में कही डेढ़ तो कही ढाई साल से निकायों को अपनी सरकार का इंतजार है। और टलते आ रहे चुनावों के कारण निकायों में अफसरों का राज है। मंदसौर सहित जिले की १० अन्य नगर परिषदों में आलम एक सा है। हालांकि अब चुनावी सुगबुगाहट की शुरुआत होने से आस जागी है कि निकायों को अपनी सरकार जल्द मिलेगी। वहीं शहरी मतदाता भी अपनी सरकार चुनने को उत्साहित है। वर्तमान में शहर में चौराहों से लेकर राजनीतिक गलियारों तक में निकाय चुनाव को लेकर चर्चाओं का दौर जारी है। तो वहीं ३१ को अध्यक्ष के लिए होने वाले आरक्षण पर भी हर किसी की निगाह टिकी हुई है।
Why are big contenders worried about municipal elections this time
चुनाव में देरी के कारण कई वरिष्ठ पूर्व पार्षद क्षेत्र और पार्टी में निश्क्रिय होने पर युवाओं ने ओवरटेक किया

पार्षद के दावेदारों के उलझेंगे टिकिट
इस बार नगर पालिका व नगर परिषद में अध्यक्ष का चुनाव अप्रत्यक्ष प्रणाली से होगा। यानी पार्षद अध्यक्ष चुनेंगे। ऐसे में अध्यक्ष की चाह रखने वाले को पहले पार्षद निर्वाचित होना पड़ेगा। इधर अध्यक्ष के दावेदार अब दोनों ही दल पार्षद के टिकिट और सुरक्षित वार्ड की तलाश में लग गए है। ऐसे में पार्षद का चुनाव लडऩे की इच्छा रखने वाले चेहरों के टिकिट पर उलझन खड़ी हो रही है। वहीं अध्यक्ष के दावेदारों को भी पहले पार्षद निर्वाचित होने की बड़ी चुनौती पार करना होगी। ऐसे में दोनों ही दलों के लिए चुनाव दिलचस्प हो गया है। तो वहीं पार्षद के टिकिट के दावेदारों ने संपर्क करना भी शुरु कर दिया है।

भैंसोदा में पहली बार होना है निकाय चुनाव
मंदसौर नपा के साथ पिपलियामंडी, मल्हारगढ़, नारायणगढ़, गरोठ, भानपुरा, शामगढ़, सीतामऊ, नगरी, सुवासरा में निकाय के चुनाव होना है। इसमें मंदसौर में ४० तो बाकी सभी जगहों पर १५-१५ वार्ड है। जहां पार्षद चुनें जाएंगे। लेकिन वर्ष २०२० में जिले की नवगठित नगर परिषद भैंसोदा में पहली बार निकाय चुनाव होना है। लेकिन गठन के बाद से दो साल का समय पूरा होने को है। लेकिन अब तक चुनाव का इंतजार है। २४ मई को आरक्षण भैंसोदा नगर परिषद के वार्ड के लिए नहीं हुआ था। अब ३१ मई को दोपहर १२ बजे कलेक्ट्रेट परिसर में भैंसोदा नगर परिषद के १५ वार्ड के लिए आरक्षण प्रक्रिया नए निर्देश के तहत होंगे।

कही डेढ़ तो कही ढाई साल से कार्यकाल पूरा होने के बाद प्रशासको के भरोसे
निकाय में पांच वर्षीय कार्यकाल पूरा होने के बाद से जिले में निकायों का चार्ज अफसरों के हाथ में है। जिले में दो जुलाई-२०२० को भैंसोदा नई नगर परिषद बनी। वहीं मंदसौर नगर पालिका में २७ जनवरी-२०२१ की स्थिति में कलेक्टर प्रशासक बने। इसी तरह वर्ष २०२० में जनवरी में जिले की नारायणगढ़ से लेकर मल्हारगढ़ सहित पिपलिया व गरोठ, भानपुरा व सीतामऊ, नगरी, शामगढ़ का कार्यकाल पूरा होने के बाद अफसरो को प्रशासक बनाया गया है। वहीं सुवासरा में वर्ष २०२० में सितंबर में प्रशासक ने चार्ज संभाला है। कार्यकाल पूरा होने के बाद कही डेढ़ तो कही ढाई सालस से अधिक समय से प्रशासको के भरोसे निकायों का संचालन हो रहा है। इस बीच कई बार निकाय चुनाव की सुगबुगाहट भी आई लेकिन फिर चुनाव टल गए तो अफसर के भरोसे निकाय का संचालन जारी रहा। लेकिन अब फिर से वार्ड आरक्षण प्रक्रिया के साथ चुनावी सुगबुगाह शुरु हुई है।

३१ को अध्यक्ष के लिए भोपाल में होगा आरक्षण
सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद वर्ष २०२० का आरक्षण निरस्त कर नए सिरे से निकाय चुनाव को लेकर वार्ड आरक्षण की प्रक्रिया जिलास्तर पर २४ मई को संपन्न हो गई। अब नगर पालिका से लेकर नगर परिषद के अध्यक्ष के लिए होने वाले आरक्षण पर हर किसी की निगाह टिकी हुई है। जो भोपाल में ३१ मई को होंगे। अध्यक्ष के आरक्षण के साथ चुनावी गतिविधियां व तैयारिया भी गति पकड़ेगी।

फैक्ट फाईल...
निकाय प्रशासक को मिला चार्ज
मंदसौर २७ जनवरी २०२१
सुवासरा ८ सितंबर-२०२०
नारायणगढ़ ६ जनवरी-२०२०
मल्हारगढ़ ७ जनवरी-२०२०
पिपलियामंडी ८ जनवरी-२०२०
गरोठ ८ जनवरी-२०२०
शामगढ़ ११ जनवरी-२०२०
भानपुरा ११ जनवरी-२०२०
नगरी ११ जनवरी-२०२०
सीतामऊ १२ जनवरी-२०२०
भैंसोदा २ जुलाई-२०२० (नवगठित)

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू का देश के नाम संबोधन, कहा - '2047 तक हम अपने स्वाधीनता सेनानियों के सपनों को पूरी तरह साकार कर लेंगे'पंजाब में शुरु हुई सेहत क्रांति की शुरुआत, 75 'आम आदमी क्लीनिक' बन कर तैयार, देश के 75वें वर्षगांठ पर हो जाएंगे जनता को समर्पितMaharashtra: सीएम शिंदे की ‘मिनी’ टीम में हुआ विभागों का बंटवारा, फडणवीस को मिला गृह और वित्त, जानें किसे मिली क्या जिम्मेदारीलाखों खर्च कर गुजराती युवक ने तिरंगे के रंग में रंगी कार, PM मोदी व अमित शाह से मिलने की इच्छा लिए पहुंचा दिल्लीशेयर मार्केट के बिगबुल राकेश झुनझुनवाला की मौत ऐसे हुई, डॉक्टर ने बताई वजहBJP ने देश विभाजन पर वीडियो जारी कर जवाहर लाल नेहरू पर साधा निशाना, कांग्रेस ने किया पलटवारIndependent Day पर देशभर के 1082 पुलिस जवानों को मिलेगा पदक, सबसे ज्यादा 125 जम्मू कश्मीर पुलिस कोहरियाणा में निकली 6600 फीट लंबी तिरंगा यात्रा, मनाया जा रहा आजादी के अमृत महोत्सव का जश्न
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.