scriptGandhisagar will quench the thirst of 21 lakh people of 1700 villages | दो साल में गांधीसागर बुझाएगा तीन जिलों के 1700 गांवों के 21 लाख लोगों की प्यास | Patrika News

दो साल में गांधीसागर बुझाएगा तीन जिलों के 1700 गांवों के 21 लाख लोगों की प्यास

दो साल में गांधीसागर बुझाएगा तीन जिलों के 1700 गांवों के 21 लाख लोगों की प्यास

मंदसौर

Published: July 28, 2022 12:12:28 pm


मंदसौर.
जिले में स्थित गांधीसागर अब सिर्फ मंदसौर ही नहीं बल्कि रतलाम व नीमच जिले के गांवों की भी प्यास बुझाएगा। इसके लिए निविदा हो चुकी है और प्रारंभिक काम की शुरुआत भी हो गई है। आने वाले समय में गांधीसागर का पानी तीन जिलों के 1700 गांवों के 21 लाख लोगों की प्यास बुझाएगा। इसके लिए 2700 करोड़ रुपए की बड़ी राशि खर्च की जाएगी। गांवों में पेयजल के लिए दूर-दूर भटकते हुए लोगों के घरों तक इस समूह जलप्रदाय योजना में गांधीसागर का पानी पहुंचेगा। इससे प्यास कंठ तर होंगे। वर्तमान में केंद्र सरकार के जलजीवन मिशन के तहत गांवों में काम चल रहा है। अब इस योजना में जलनिगम काम करेगा।
Gandhisagar
Patrika

दो साल में होगा तेजी से काम
गांधीसागर का पानी 2700 करोड़ में संसदीय क्षेत्र के 1700 गांवों तक पहुंचेगा और चंबल का यह पानी 21 लाख की आबादी के सुखे कंठों को तर करेगा। इसके साथ ही गांधीसागर बांध से 1700 गांवों में पेयजल की समस्या का स्थाई हल होगा। इसके लिए समूह जलप्रदाय योजना के तहत काम होगा। दो चरणों में पूरी होने वाली इस योजना के टैंडर जारी हो चुके है। पहले चरण व दूसरे चरण में रतलाम, मंदसौर व नीमच जिले के अलग-अलग विकासखंडों के जिले इसमें शामिल है। मंदसौर व नीमच जिले को इस योजना का सबसे अधिक लाभ मिलेगा। जलसंकट की समस्या संसदीय क्षेत्र से यह योजना हमेशा के लिए दूर कर देगी। जलजीवन मिशन के तहत केंद्र के इस योजना में गांधीसागर से बनी समूह जलप्रदाय योजना लाखों ग्रामीणों की पेयजल की समस्या का स्थायी हल करेगा। आगामी दो सालों में इस पर तेजी से काम होगा और जल निगम इसकी मॉनीटरिंग करेगा।

दो चरण में योजना पर खर्च होंगे 2746.66 करोड़
पेयजल के लिए पानी की कमी हमेशा के लिए इस योजना से दूर होगी। लोगों को घरों तक चंबल का पानी पहुंचेगा। गांधीसागर के बैक वॉटर का लोगों के घरों तक नल कनेक्शन से जोडक़र पहुंचाने की योजना है। जल निगम की इसकी डीपीआर तैयार की है और अब टैंडर हो चुके है। हर घर तक पर्याप्त पानी पहुंचाने के लिए तैयारियां शुरू हो गई हैं। सरकार के इस पायलेट प्रोजेक्ट में क्षेत्र को दो सालों में गांवों की प्यास बुझाने का काम होगा। समूह जलप्रदाय योजना के अंतर्गत गांधीसागर का जल लोगों को पीने के लिए भी उपलब्ध होगा। दो चरण के तहत योजनाओं पर कार्य होगा। इसमें मंदसौर, नीमच व रतलाम जिले के लिए कुल 2746.66 करोड़ रुपए की मंजूरी हुई है। इस योजना में 1700 से अधिक ग्रामों में पेयजल के लिए पानी पहुंचेगा।

यह है दो चरणों की पूरी योजना
दो चरणों में होने वाले इस काम में गांधीसागर फेस-1 में मंदसौर व रतलाम जिले के 820 ग्रामों में काम होगा। इससे मंदसौर जिले के मंदसौर के अलावा भानपुरा, गरोठ, सीतामऊ, मल्हारगढ़ विकासखंडों के गांवों में काम होगा और मंदसार के अलावा रतलाम जिले के 10 लाख 76 हजार से अधिक लोग इस योजना से लाभाविंत होंगे। पहले चरण में 1263.52 करोड़ रुपए की मंजूरी हुई है। वहीं गांधीसागर फेस-दो के तहत मंदसौर के अलावा नीमच जिले के मनासा, जावद, सिंगोली ब्लॉक के 915 ग्रावों के 10 लाख 46 हजार नागरिक लाभांवित होंगे। इस योजना में 1483.14 करोड़ रुपए की प्रशासनिक स्वीकृति हो चुकी है। वहीं योजना के अंतर्गत टैंडर भी जारी कर दिए गए है।

24 माह में करना है काम पूरा
जल निगम इस योजना पर काम कर रहा है। गांधीसागर समूह जलप्रदाय योजना में 24 माह में काम पूरा होना है। इसमें तीन जिलों के 1700 गांवों की पेजयल जलापूर्ति की जाना है। टैंडर हो चुके है। जल्द ही इस पर काम शुरु होगा।
-संदीप दुबे, कार्यपालन यंत्री, पीएचई
फैक्ट फाइल....
योजना का नाम-समूह जल प्रदाय योजना
दो चरणों में पूरी होगी योजना
पहले चरण में गांवों की संख्या-820
दूसरे चरण में गांवों की संख्या-915
योजन पर खर्च होने वाली राशि - करीब 2700 करोड़
पहले चरण में होंगे खर्च-1263.52 करोड़
दूसरे चरण में होंगे खर्च-1483.14 करोड़
वर्तमान स्थिति-टैंडर हो चुके जारी, अब शुरु होगा काम
योजना से मिलेगा पानी- 21 लाख की आबादी को

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Rakesh Jhunjhunwala Net Worth: परिवार के लिए इतने पैसे छोड़ गए राकेश झुनझुनवाला, एक दिन में कमाए थे 1061 करोड़पिता ने नहीं दिए पैसे, फिर भी मात्र 5000 के निवेश से कैसे शेयर बाजार के किंग बने राकेश झुनझुनवालाRakesh Jhunjhunwala: PM मोदी और अमित शाह समेत कई बड़े दिग्गजों ने झुनझुनवाला को दी श्रद्धांजलिRajasthan: तीसरी कक्षा के दलित छात्र को निजी स्कूल के शिक्षक ने पानी का कंटेनर छूने को लेकर पीटा, मौत के बाद तनाव, इंटरनेट सेवा बंदVinayak Mete Passes Away: विनायक मेटे का सड़क हादसे में निधन, सीएम एकनाथ शिंदे और शरद पवार सहित अन्य नेताओं ने जताया शोकRakesh Jhunjhunwala Rajasthan connection: राजस्थान के झुंझुनूं जिले से जुड़ी है राकेश झुनझुनवाला की जड़ेJ-K: स्वतंत्रता दिवस से पहले आतंकियों का ग्रेनेड से हमला, कुलगाम में पुलिसकर्मी शहीदIndependence Day 2022: क्रिकेट के वो खास पल, जिन्होंने फैन्स को रोने पर कर दिया मजबूर
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.