scripthe former vice-president will be given a rebel by rebelling in the fie | पूर्व अध्यक्ष को बागी होकर पूर्व उपाध्यक्ष देंगे मैदान में चुनोती, नपा के दो पूर्व अध्यक्षों की राह इस बार नहीं आसान | Patrika News

पूर्व अध्यक्ष को बागी होकर पूर्व उपाध्यक्ष देंगे मैदान में चुनोती, नपा के दो पूर्व अध्यक्षों की राह इस बार नहीं आसान

पूर्व अध्यक्ष को बागी होकर पूर्व उपाध्यक्ष देंगे मैदान में चुनोती, नपा के दो पूर्व अध्यक्षों की राह इस बार नहीं आसान

मंदसौर

Published: June 24, 2022 10:56:58 am


मंदसौर.
नाम वापसी के बाद निकाय चुनाव के रण की स्थिति साफ हो गई है। जिले के ११ निकायों में १९० पार्षदों के लिए ६७२ प्रत्याशी चुनाव मैदान में बचे है। २८८ ने नाम वापसी जिले में की है। लेकिन मंदसौर शहर के ४० वार्डो में रोचक जंग देखने को मिलेगी। इस बार के चुनाव में दो पूर्व नपाध्यक्ष व एक बार अध्यक्ष का चुनाव लड़ चुकी महिला चुनाव मैदान में है। इन दो पूर्व अध्यक्षों की राह इस बार आसान नहीं रहने वाली है। इनमें भी सबसे अधिक रोचक जंग वार्ड ११ में है। जहां पूर्व नपाध्यक्ष को पूर्व नपा उपाध्यक्ष ही निर्दलीय रुप से सीधी चुनौती दे रहे है और यहां पर सबसे अधिक ९ प्रत्याशी मैदान में है। वहीं एक अन्य पूर्व उपाध्यक्ष व अध्यक्ष का चुनाव लड़ चुकी महिला जो कांग्रेस के टिकिट पर अलग-अगल जगह प्रत्याशी है उन्हें भी निर्दलीयों के मैदान में होने के कारण कड़ी चुनौती मिल रही है।
Why are big contenders worried about municipal elections this time
चुनाव में देरी के कारण कई वरिष्ठ पूर्व पार्षद क्षेत्र और पार्टी में निश्क्रिय होने पर युवाओं ने ओवरटेक किया

दो पूर्व की अध्यक्ष राह नहीं आसान, पूर्व उपाध्यक्ष ही दे रहे चुनौती
वार्ड ११ से भाजपा ने पूर्व नपाध्यक्ष राम कोटवानी को टिकिट दिया तो कांग्रेस ने कैलाश मनवानी को। वहीं पूर्व नपा उपाध्यक्ष सुनील महाबली बागी होकर निर्दलीय मैदान में है। इसके साथ ही ही दशरथसिंह राठौर से लेकर किशन गोयल, लक्ष्मण रायमलानी, दीपक कोठारी सहित कुल ९ प्रत्याशी है। तो वहीं प्रदेश में कांग्रेस सरकार के समय नपा में अध्यक्ष मनोनीत हुए हनीफ शेख को कांग्रेस ने इस बार वार्ड ३४ से प्रत्याशी बनाया है। यहां से भाजपा ने आबिद हुसैन मच्छीवाला को उतारकर जंग को रोचक बना दिया है। वहीं फारुख हुसैन, मोहम्मद इलियास से लेकर शराफ शेख ने हनीफ को सीधे चुनौती दे रहे है। इस तरह दो पूर्व नपाध्यक्ष की राह इस बार आसान नहीं होने वाली है। वहीं वर्ष २०१० में कांग्रेस के टिकिट पर अध्यक्ष का चुनाव लड़ी रफत पयामी को कांग्रेस ने वार्ड २५ से प्रत्याशी बनाया है। भाजपा ने यहां से संजय डॉलर को टिकिट दिया है तो सिराजउद्दीन कुरैशी, अब्दुल शकील, लक्ष्मी दिनेश पाटीदार भी इसी वार्ड से मैदान में है।

१३ में सीधा, १४ में त्रिकोणीय मुकाबला, सात में चार प्रत्याशी मैदान में
शहर के ४० वार्डो में १२९ प्रत्याशी चुनाव मैदान में है। लेकिन वार्डो के चुनावी समीकरण को समझे तो इन ४० वार्डो में से १३ वार्ड में सीधा मुकाबला है। यानी सिर्फ दो-दो प्रत्याशी है। वहीं १४ वार्ड ऐसे है जिसमें त्रिकोणीय मुकाबला है। तो ७ वार्ड में चार-चार, ५ वार्ड में पांच-पांच प्रत्याशी है और वार्ड ११ में सर्वाधिक ९ प्रत्याशी मैदान में है। और शहर में सबसे अधिक रोचक मुकाबला भी वार्ड ११ में ही है। वार्ड ३, ५, ७, ८, १४, १८, २६, २९, ३२, ३३, ३५, ३७, ३९ में भाजपा-कांग्रेस में सीधा मुकाबला है। वार्ड ६, १३, १६, १७, १९, २३, २४, २७, २८, ३०, ३१, ३६, ३८, ४० में त्रिकोणीय मुकाबला है। तो वार्ड १, २, ४, ९, १०, १५, २२ में चतुष्कोणीय मुकाबला है। वहीं वार्ड १२, २०, २१, २५, ३४ में पांच-पांच प्रत्याशी चुनाव मैदान में है।

९६० में से २८८ ने नाम लिए वापस अब मैदान में बचे ६७२ प्रत्याशी
दो चरणा में ११ निकायों के लिए हो रहे निकाय चुनाव में जिले में १९० पार्षदों के लिए निर्वाचन हो रहा है। इसमें १८ जून को नामांकन की अंतिम तिथि तक ९६० ने नामांकन दाखिल किए थे। इसमेंस े २८८ ने नाम वापस लिए, ऐसे में अब चुनाव मैदान में ६७२ प्रत्याशी बचे है। इन ६७२ में से शहरीय मतदाता १९० पार्षद को चुनेंगे। मंदसौर नपा के ४० वार्डो के लिए २१० ने नामांकन किए थे। ८१ ने नाम वापसी की। अब १२९ मैदान में है। नगरी में 57 में से ९ ने नाम वापस लिए अब ४८ बचे है। मल्हारगढ़ व नारायणगढ़ में 60-६० ने नामांकन किए थे और दोनों ही जगह १२-१२ नाम वापस हुए है। ऐसे में यहां ४८-४८ प्रत्याशी बचे है। पिपलियामंडी में 75 ने नामांकन किए थे अब ५५ बचे है २० ने नाम वापसी की है। सीतामऊ में 83 नामांकन में से १६ नाम वापसी हुई है और अब ६७ प्रत्याशी बचे है। शामगढ़ में 87 नामांकन में से २७ वापसी हुई है और ६० प्रत्याशी बचे है। सुवासरा में 78 नामांकन हुए थे। इसमें से २६ वापस हुई है और अब ५२ चुनाव मैदान में है। गरोठ में 54 नामांकन हुए थे। इसमें से १२ नाम वापसी हुई है। ऐसे में ४२ प्रत्याशी मैदान में है। भानपुरा में 84 नामांकन में से २२ नाम वापसी हुई है। ऐसे में से अब ६२ प्रत्याशी है। भैसौदा में 92 नामांकन में से ३१ नाम वापस हुए है। ऐसे में अब ६१ ही चुनाव मैदान में प्रत्याशी है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

जयपुर में एक स्वीमिंग पूल में रात का सीसीटीवी आया सामने, पुलिसवालें भी दंग रह गएकचौरी में छिपकली निकलने का मामला, कहानी में आया नया ट्विस्टइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलचेन्नई सेंट्रल से बनारस के बीच चली ट्रेन, इन स्टेशनों पर भी रुकेगीNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयधन कमाने की योजना बनाने में माहिर होती हैं इन बर्थ डेट वाली लड़कियां, दूसरों की चमका देती हैं किस्मतCBSE ने बदला सिलेबस: छात्र अब नहीं पढ़ेगे फैज की कविता, इस्लाम और मुगल साम्राज्य सहित कई चैप्टर हटाए

बड़ी खबरें

Maharashtra Politics Crisis: शिवसेना की कार्यकारिणी बैठक खत्म, जानें कौन-कौन से प्रस्ताव हुए पारितMaharashtra Political Crisis: आदित्य ठाकरे का बागी विधायकों पर निशाना, कहा- नहीं भूलेंगे विश्वासघात, हमारी जीत तय हैMaharashtra Political Crisis: महाराष्ट्र में सियासी उलटफेर का खेल जारी, बागी विधायकों को डिप्टी स्पीकर ने जारी किया नोटिसBPSC Paper Leak: पेपर लीक मामले में गिरफ्तार हुए JDU नेता शक्ति कुमार, सबसे पहले पेपर स्कैन कर WhatsApp पर था भेजाAmarnath Yatra: अमरनाथ यात्रा से 4 दिन पहले प्रशासन अलर्ट, सुरक्षा व्यवस्था को लेकर उठाया बड़ा कदमMumbai News Live Updates: महाराष्ट्र विधानसभा के डिप्टी स्पीकर नरहरि जिरवाल के खिलाफ नया अविश्वास प्रस्ताव पेशMaharashtra Political Crisis: शिवसेना में बगावत के बाद अब उपद्रव का डर! पोस्टर वॉर के बीच एकनाथ शिंदे के गढ़ ठाणे में धारा 144 लागूAmit Shah on 2002 Gujarat Riots: गुजरात दंगों पर SC के फैसले के बाद बोले अमित शाह, PM मोदी को इस दर्द को झेलते हुए देखा है
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.