निकल पड़ा हूं बदल डालूंगा मिजाज, हक के लिए उठा रहा हूं आवाज...

निकल पड़ा हूं बदल डालूंगा मिजाज, हक के लिए उठा रहा हूं आवाज...
Mandsaur news

- कवि सम्मेलन के साथ हुआ पांच दिवसीय मेले का समापन, रात 3 बजे तक चला कविताओं का दौर

मंदसौर/रतलाम
नगरी के नगराज भेरुजी मेले में अंतिम दिन सांस्कृतिक मंच पर कवि सम्मेलन हुआ। रात्रि 11 बजे प्रारंभ हुआ कविताओं का दौर, रात तीन बजे तक चला। कार्यक्रम का आगाज कवियत्री भुवन मोहिनी की सरस्वती वंदना 'शब्द के वितान पर भक्ति की शक्ति दे मां...' से हुआ। मंच संचालन कवि जानी बैरागी ने 'मत उंगली उठाया करो सरहदों पर, वहां भारत के भगवान रहते है..., पंक्तियां पढ़कर कवि सम्मेलन को आगे बढ़ाया। इसके बाद विनोद 9560 ने मालवी भाषा में 'कांदा-कांदा करने वईग्या मांदा... से उपस्थित लोगो को गुदगुदाया। इसके बाद मंच कविता पढने आए ख्यात कवि अख्तर हिंदुस्तानी ने अपने अलग अंदाज में 'निकल पड़ा हूं, बदल डालूंगा मिजाज, हक के लिए उठा रहा हूं आवाज...' पढ़ी तो पूरा परिसर तालियों से गूंज उठा। अख्तर की 'महाभारत में तुम ही तुम लड़े, कर्बला में हम ही हम लड़े, भगवान नही लड़े, अल्ला नहीं लड़े तो फिर हिन्दु-मुसलमान क्यू लड़े...' पंक्तियों पर कवि सम्मेलन में बैठे हर श्रोता ने जोरदार तालियां बजाई।
यह धरती है वीर शिवा महाराणा प्रताप की...
इसके बाद नवोदित कवि विजय सोनी ने 'कभी धर्मवाद कभी वंशवाद कभी जातिवाद से देश जला...' तो कवि राहुल राष्ट्रवादी ने 'अहिंसा परमो धर्म रहे, और शहीदों का सम्मान रहे...' एवं कवि गोपाल कावलिया की 'बेटी है तो कल है यह अटल है...' कविता को श्रोताओं ने खासा सराहा। औज के धुंरधर कवि मुकेश मोलवा ने हिंदुत्व का शंखनांद करते हुए अपनी पंक्तियां 'यह धरती है वीर शिवा महाराणा प्रताप की...' पड़ी तो पूरा परिसर जय-जय सियाराम के नारों से गूंज गया। इसके बाद श्रृंगार पर कवियत्री भुवन मोहिनी ने 'धड़के दिल वो जवानी तो मुझमें भी है, एक मीरा दिवानी तो मुझमें भी है... ने कवि सम्मेलन को शीर्ष पर पहुंचाया। इसके बाद कवि शांति तुफान ने उपस्थित श्रोताओं को खूब हंसाते हुए अपनी पंक्तियां 'बात कही पर बिगड़ी तो इक बात तय समझों, अगर कई गोधरा किया तो गुजरात का होना तय समझों...' से कवि सम्मेलन को अंतिम पड़ाव की और ले गए।
यह रहे कार्यक्रम में अतिथि, हुआ सम्मान
कार्यक्रम में विधायक यशपालसिंह सिसोदिया, भाजयुमोर्चा जिलाध्यक्ष नानालाल अटोलिया, मंडल अध्यक्ष चंद्रशेखर मंडलोई, दीपक पोरवाल, विवेक पाटीदार, घनश्याम बग्गड़, रामप्रताप वाकतरिया, नप अध्यक्ष रविशंकर सोनी, मोतीलाल पटेल, रमेश अटोलिया, विनोद धाकड़, भेरुलाल पटेल सहित कई लोगों ने किया। मेला समिति ने खेत मालिक अशोक अटोलिया व नानालाल अटोलिया का सम्मान किया। संचालन विजय सोनी ने किया। आभार मेला सभापति चंद्रशेखर अटोलिया ने माना।


MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned