मंदसौर में शिवराज 24 घंटे के धरने में रात्रिजागरण के साथ सरकार की सद्बुद्धि के लिए करेंगे भजन

मंदसौर में शिवराज 24 घंटे के धरने में रात्रिजागरण के साथ सरकार की सद्बुद्धि के लिए करेंगे भजन
Shivraj wrote letter to Kamal Nath, said - officers did not survey

Nilesh Trivedi | Updated: 20 Sep 2019, 11:57:18 AM (IST) Mandsaur, Mandsaur, Madhya Pradesh, India

मंदसौर में शिवराज 24 घंटे के धरने में रात्रिजागरण के साथ सरकार की सद्बुद्धि के लिए करेंगे भजन


मंदसौर.
पूर्व मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान २१ सितंबर को मंदसौर आ रहे है। वे यहां कलेक्टोरेट के बाहर धरना देंगे। कार्यक्रम अनुसार यह धरना दिनभर का तय किया गया। इसके पहले बाढ़ प्रभावितों के बीच मंदसौर-नीमच जिले में दो दिनों तक भ्रमण कर लोगों के बीच पहुंचे थे। अब २१ को फिर प्रभावितों के समर्थन में वह कलेक्टोरेट कार्यालय के बाहर धरना देंगे।

यहां वह किसानों को शतप्रतिशत फसल नुकसानी पर राहत के साथ बाढ़ प्रभावितों को राहत देने की मांग करेंगे। इतना ही नहीं जिन लोगों के मकान टूट गए , उन लोगों के साथ रहेंगे। इसके लिए भाजपा ने मंदसौर व नीमच जिले के अलावा जावरा क्षेत्र से भी पीडि़तों को यहां बुलाया है।


मंदसौर में पूर्व मुख्यमंत्री २४ घंटे पीडि़तों के समर्थन में धरना देने के साथ ही रात्रि जागरण भी करेंगे और भजन-कीर्तन के साथ सरकार की सद्बुद्धि के लिए प्रार्थना करेंगे।


भाजपा का २० को किसानों व बाढ़ प्रभावितों के समर्थन में प्रदर्शन था, लेकिन शिवराजसिंह चौहान ने २१ को मंदसौर में धरना देने की बात जिले में दौरे के दौरान कही थी। इस पर २० का धरना २१ को ही मर्ज किया गया। भाजपा शिवराज के इस धरने को व्यापक बनाने के लिए हर स्तर पर तैयारी में जुट गई है। वहीं चौहान का दौरा बढऩे के साथ प्रशासन भी सकते में है। विधायक यशपालसिंह सिसौदिया ने बताया कि २१ को सुबह १० बजे पूर्व मुख्यमंत्री मंदसौर पहुंचेगे और नवीन कलेक्टोरेट भवन के बाहर धरना देंगे। दो जिलों के लोगों को यहां बुलाया गया है। दोनों जिलों के पीडि़तों के साथ शासन के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए उन्हें राहत देने की मांग की जाएगी। यह धरना अनिश्चितकालीन भी हो सकता है। यहां रात्रि जागरण के साथ भजन-कीर्तन भी होंगे और २४ घंटे तक धरना चलेंगा।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned