टे्नों के डिब्बों में यात्री प्यास से बेहाल तो स्टेशन पर ठंडे पानी को तरसे

टे्नों के डिब्बों में यात्री प्यास से बेहाल तो स्टेशन पर ठंडे पानी को तरसे

Vikas Tiwari | Updated: 14 Jun 2019, 02:51:17 PM (IST) Mandsaur, Mandsaur, Madhya Pradesh, India

टे्नों के डिब्बों में यात्री प्यास से बेहाल तो स्टेशन पर ठंडे पानी को तरसे

मंदसौर.
ट्रेनों में गर्मी के कारण सफर कर रहे यात्रियों को प्यास और गर्मी से परेशान होना पड़ रहा है। स्टेशन के आते ही इस आस में कई यात्री मंगलवार को जोधपुर-इंदौर ट्रेन से उतरे की मंदसौर स्टेशन पर उनको ठंडा पानी मिल जाएगा। लेकिन कई यात्रियों को ठंडा पानी तो जिस नल में वे पानी भरने गए वहां पर नल में पानी ही नहीं मिला। जिनको मिला उनको गर्म पानी मिला। ऐसे में कुछ यात्रियों ने मजबूरी में बॉटल में गर्म पानी लिया और वापस टे्रन में चढ़ गए। तो कई यात्रियों को गर्म पानी आने पर स्टेशन पर लगे स्टॉल पर दौडकर जाते हुए देखा और ठंडे पानी की बॉटल लेकर फिर से टे्रन में चढ़े। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि स्टेशनों पर यात्री सुविधाओं को लेकर रेलवे के अधिकारी कितने गंभीर है।
दोनों प्लेटफार्म पर कई नल पड़े बंद तो कई नलों में गर्म पानी
शहर के रेलवे स्टेशन पर नलों की व्यवस्था तो है। लेकिन उन नलों में पानी कैसा आ रहा है। इसके लिए किसी भी जिम्मेदार अधिकारी ने ध्यान नहीं दिया है। कई नल वहां पर बंद पड़े है। कई नल चालू अवस्था में है। जिसमें से भी कई नलों में गर्म पानी आ रहा है। ऐसे में यात्रियों की फजीहत हो रही है। प्लेटफार्म नंबर दो पर वॉटर कूलर लगा रखा है। लेकिन उसमें वॉटर कूलर के हिसाब से ठंडा पानी नहीं आ रहा है। एक नल बंद पड़ा हुआ है। तो दूसरे नल में गर्म पानी आ रहा है।
मजबूरी में लेना पड़ा गर्म पानी
नीमच से रतलाम का सफर करने वाले यात्री श्योब ने कहा कि मैं नीमच से इस ट्रेन में चढ़ा हूं। गर्म के कारण सफर में हालात खराब हो रही है। बॉटल में पानी खत्म हो गया तो मैंने सोचा मंदसौर स्टेशन पर ठंडा पानी मिल जाएगा। और जैसे ही स्टेशन पर आया। अन्य यात्रियों के साथ मैं भी तत्काल उतरा और नल के पास आया। लेकिन यहां पर गर्म पानी मिला। तो मैंने उसे बॉटल में भर लिया। कुछ देर उसको खुला रख ठंडा करूंगा और फिर प्यास बुझाऊंगा।
नल में नहीं आ रहा पीने लायक पानी
इंदौर की ओर सफर करने वाले यात्री नीरज माली ने बताया कि बहुत अधिक प्यास टे्रन में लग रही थी। बीच स्टेशन पर ठंडा पानी नहीं मिला। तो मैंने सोचा मंदसौर स्टेशन पर पानी भर लूंगा। लेकिन यहां पर तो नल में जैसे ही बॉटल लगाई। वैसे ही गर्म पानी आ गया। जो पीने लायक ही नहीं था। फिर पानी की बॉटल लेना पड़ी। और प्यास बुझाई। स्टेशन पर पानी की पर्याप्त व्यवस्था होना चाहिए।
डिब्बों में गर्म हवा के साथ लू के थपेड़े
सामान्य और आरक्षित डिब्बों में यात्रियों को गर्मी से हाल बेहाल था। पंखे तो है लेकिन गर्म लू के थपेड़ों से यात्रियों को भारी परेशानी हो रही थी। कोई अखबार से हवा कर रहा था तो कोई पानी की छिंटे मुंह पर डाल रहा था। पानी सही ठंडा नहीं मिलने के कारण यात्रियों को काफी परेशानी का सामना स्टेशन पर करना पड़ा।द्ध

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned