खाटू श्याम की निशान यात्रा, गुंजे श्याम के जयकारें

खाटू श्याम की निशान यात्रा, गुंजे श्याम के जयकारें

By: Nilesh Trivedi

Published: 07 Mar 2020, 11:18 AM IST

मंदसौर.
शहर के संजीत रोड स्थित खाटू श्याम बाबा मंदिर पर चल रहे आयोजन में शुक्रवार को निशान यात्रा निकली। इसके दौरान बाबा का अलोकिक श्रृंगार किया गया। खाटु श्याम के मंदिर पर दस दिवसीय फाल्गुन मेले का आयोजन चल रहा है। इस दौरान फाल्गुन एकादशी पर शुक्रवार को निशान यात्रा निकली। जो शहर के विभिन्न मार्गों से होकर गुजरी। इसमें बड़ी संख्या में श्याम भक्त ध्वजा लेकर शामिल हुए। जयकारों के साथ निशान यात्रा निकली। मंदिर परिसर खाटुश्याम के जयकारों से गुंजा।
बाबा को लगा छप्पन भोग, हुआ श्रृंगार
शुक्रवार को ग्यारस पर्व पर्व पर निशान यात्रा निकाली गई। सुबह 10 बजे बालाजी मंदिर महाराणा प्रताप चौराहे से होकर खाटू श्याम मंदिर पहुंची। यात्रा में बाबा के भक्त हाथों में निशान लेकर नाचते गाते पैदल चल रहे थे। महिलाओं और पुरूष खाटू श्याम के भजनों पर थिरकते देखे गए। निशान यात्रा का जगह-जगह पुष्प मालाओं से स्वागत किया गया। शाम 6 बजे खाटू श्याम बाबा को छप्पन भोग लगाया गया। रात्रि में भजन संध्या का आयोजन किया गया। मंदिर परिसर में चल रहे मेले में भी शाम को भक्तों का सैलाब उमड़ पड़ा।
आज होगा समापन
मेला आयोजक शैलेंद्रसिंह राठौर ने बताया कि दस दिवसीय मेले में का शनिवार को समापन होगा। ग्यारस के पर्व पर मंदिर में भक्तों का तांता लगा रहा। सुबह 10 बजे खाटू श्याम की निशान यात्रा निकाली गई। बालाजी मंदिर महाराणा प्रताप बस स्टैंड से शुरू हुई निशान यात्रा में बाबा के हजारों भक्त महिला और पुरूष शामिल हुए। बाबा के जयकारों के साथ नाचते गाते खाटू श्याम मंदिर पहुंचे। निशान यात्रा का जगह-जगह सामाजिक संगठनों ने स्वागत भी किया। जिला धार्मिक उत्सव समिति ने भी बाबा की निशान यात्रा का भाचावत शोरूम के पास पुष्प मालाओं से स्वागत किया। इस अवसर पर खाटूश्याम मंदिर के संस्थापक अर्जुनसिंह राठौर, नरेंद्रसिंह चौहान, हिम्मत लोढ़ा, सत्यप्रकाश गर्ग, सुरेंद्रसिंह राठौर, बालूसिंह सिसोदिया, विनय दुबेला, बीएल टांक, हरीश साल्वी सहित महिलाएं भी निशान यात्रा में शामिल रही।

Nilesh Trivedi Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned