scriptLeft his house and village for employment, the family working as labor | रोजगार के लिए छोड़ा अपना घर और गांव, मजदूरी कर पाल रहे परिवार | Patrika News

रोजगार के लिए छोड़ा अपना घर और गांव, मजदूरी कर पाल रहे परिवार


रोजगार के लिए छोड़ा अपना घर और गांव, मजदूरी कर पाल रहे परिवार

मंदसौर

Published: May 02, 2022 10:48:16 am


मंदसौर.
सुबह उठते ही चूल्हें पर खाना बनाना और फिर मजदुरी की तलाश में निकल जाना। इसके बाद दिनभर मजदुरी कर जो कमाया उससे शाम के भोजन की व्यवस्था कर अपनी अस्थायी झोपड़ी पर पहुंचकर शाम को अंधेरा होने के बाद खाना बनाना। यही हर दिन की कहानी है। जिले के गांव कनघट्टी में रहने वाले इन श्रमिक परिवारों की। रोजगार के लिए अपना घर छोड़ा तो गांव से पलायन कर यहां पहुंचे। झाबुआ क्षेत्र के गांवों से यहां आए राम सिंघाड़ पूरे परिवार के साथ यहां है। रबी के सीजन में खेतों में मजदूरी का काम कर रहे है। उनका कहना है कि इस क्षेत्र में मजदूरी मिल जाती है इसलिए यहां पर परिवार सहित आते है। उनके गांव व आसपास गांव के भी अनेक लोग यहां आते है।
Migrant laborers stranded in Rohtak and Katra reached Chhatarpur by Shramik Express
सोमवार को पीडि़त मजदूर कलेक्ट्रेट पहुंचे और अधिकारियों को परेशानी बताई.,खरगोन. घायल बाल मजदूरों को इलाज के लिए जिला अस्पताल पहुंचाया गया।,सोमवार को पीडि़त मजदूर कलेक्ट्रेट पहुंचे और अधिकारियों को परेशानी बताई.,खरगोन. घायल बाल मजदूरों को इलाज के लिए जिला अस्पताल पहुंचाया गया।,Migrant laborers stranded in Rohtak and Katra reached Chhatarpur by Shramik Express

कई मजदूर परिवार, सभी की एक ही कहानी
रोजगार और परिवार पालने की मजबुरी में ही अपना घर और परिवार छोड़ा। अब यहां गांवों में कोई एक कोना पकड़कर रह रहे है। यहां मजदूरी कर परिवार पाल रहे है। छोटे बच्चों को बड़े बच्चों के भरोसे छोड़कर या अपने साथ लेकर जाना भी मजबुरी है। आयुष्मान, संबल और बीपीएल जैसी सरकारी योजनाओं पर पूछा तो इनका जवाब था यह क्या होता है इन्हें नहीं पता। सरकारी योजना नहीं हमें तो बस यहीं पता है कि सुबह उठने के साथ मजदूरी की तलाश में जाना है। रबी सीजन और इससे जुड़ा खेती का काम चल रहा है तो यहां मजदुरी भी अच्छी मिल रही है। इसके अलावा निर्माण कार्यों के साथ अन्य काम के भरोसे पर ही उनका परिवार चलता है। ना तो इन्हें कोई श्रम कानून पता है और ना ही कोई सरकारी योजना, दिनभर काम कर इतना कमाना है कि शाम को चूल्हा जल जाए। इसी जुगत में दिनभर काम में जुटे रहना है।

आदिवासी क्षेत्र से बड़ी तादाद में रोजगार के लिए आए है श्रमिक
शहर सहित पूरे जिले में आदिवासी क्षेत्र पेटलावद, थांदला, झाबुआ, आलीराजपुर सहित कई अन्य जगह के श्रमिक परिवार के साथ रोजगार के लिए आते है और यहां पर मजदूरी कर परिवार का गुजर-बसेरा करते है। सड़को के किनारों पर रहकर रात गुजारने के साथ सुबह होते ही मजदूरी की तलाश में हर दिन निकल जाते है। हजारों की संख्या में शहर व जिले के नगरीय व ग्रामीण क्षेत्रों में श्रमिक अपने-अपने गांवों से रोजगार के लिए पलायन कर यहां पहुंचे है।

दस्तावेज जहां वहां मिलता है लाभ
श्रमिक परिवार मजदूरी के लिए आते है और अस्थायी रुप से यहां रहते है और मजदूरी के बाद निकल जाते है। गांवों में अधिकांश फसलेां के समय आते है। लेकिन आधार कार्ड सहित अन्य दस्तावेज जहां के होते है वहीं पर सरकारी योजनाओं का लाभ दिया जा सकता है। -भगतराम चड़ावत, सचिव, ग्राम पंचायत कनघट्टी

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन बर्थ डेट वालों पर शनि देव की रहती है कृपा दृष्टि, धीरे-धीरे काफी धन कर लेते हैं इकट्ठाLiquor Latest News : पियक्कडों की मौज ! रात एक बजे तक खरीदी जा सकेगी शराबशुक्र देव की कृपा से इन दो राशियों के लोग लाइफ में खूब कमाते हैं पैसा, जीते हैं लग्जीरियस लाइफMorning Tips: सुबह आंख खुलते ही करें ये 5 काम, पूरा दिन गुजरेगा शानदारDelhi Schools: दिल्ली में बदलेगी स्कूल टाइमिंग! जारी हुई नई गाइडलाइनMahindra Scorpio 2022 का लॉन्च से पहले लीक हुआ पूरा डिजाइन और लुक, बाहर से ऐसी दिखती है ये पावरफुल कारबैड कोलेस्‍ट्राॅल और डिमेंशिया को कम करके याददाश्त को बढ़ाता है ये लाल खट्‌टा-मीठा फल, जानिए इसके और भी फायदेAC में लगाइये ये डिवाइस, न के बराबर आएगा बिजली बिल, पूरे महीने होगी भारी बचत

बड़ी खबरें

अफगानिस्तान के काबुल में भीषण धमाका, तालिबान के पूर्व नेता की बरसी पर शोक मना रहे लोगों को बनाया गया निशानाPunjab Borewell Accident: बोरवेल में गिरे 6 साल के बच्चे की नहीं बचाई जा सकी जान, अस्पताल में हुई मौतBJP को सरकार बनाने के लिए क्यूँ जरूरी है काशी और मथुरा? अयोध्या से बड़ा संदेश देने की तैयारी..पश्चिम बंगाल का पूर्व मेदिनीपुर जिला बम धमाकों से दहला, तलाशी के दौरान बरामद हुए 1000 से अधिक बमIPL 2022, SRH vs PBKS Live Updates: पंजाब ने हैदराबाद को 5 विकेट से हरायाकपिल देव के AAP में शामिल होने की चर्चा निकली गलत, सोशल मीडिया पर पूर्व कप्तान ने खुद साफ की स्थितिआख़िर क्यों असदुद्दीन ओवैसी बार-बार प्लेसेज ऑफ़ वर्शिप एक्ट का रो रहे हैं रोना, यहां जानेंपुजारा और कार्तिक की टीम में वापसी, उमरान मालिक को भी मिला मौका, देखें दक्षिण अफ्रीका और इंग्लैंड दौरे का पूरा स्क्वाड
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.