scriptLotus blossomed in Mandsaur Napa election, once again BJP's city gover | मंदसौर नपा चुनाव में खिला कमल, एक बार फिर से भाजपा की शहर सरकार | Patrika News

मंदसौर नपा चुनाव में खिला कमल, एक बार फिर से भाजपा की शहर सरकार

मंदसौर नपा चुनाव में खिला कमल, एक बार फिर से भाजपा की शहर सरकार

मंदसौर

Published: July 18, 2022 10:56:20 am

मंदसौर.
मंदसौर नगर पालिका में एक बार फिर से भाजपा की परिषद बनेगी। ६ जुलाई को हुए मतदान के बाद रविवार को जनता के दिए हुआ फैसला सामने आया। इसमें भाजपा की एकतरफा अंदाज में जीत हुई और कांग्रेस को करारी हार का सामना करना पड़ा। इसके साथ ही पिछले ४० सालों से मंदसौर नपा पर चला आ रहा भाजपा का कब्जा इस बार भी बरकरार रहा। पिछले चुनाव से भी आधी ही सीटें इस बार कांग्रेस को मिली। ४० में से भाजपा ने २९ सीटों पर जीत हासिल की और स्पष्ट बहुमत प्राप्त किया। वहीं कांग्रेस ८ सीटों पर ही सीमट गई तो तीन पर निर्दलीय जीतकर आए है। मतगणना की शुरुआत के साथ ही भाजपा के पक्ष में रुझान आने का दौर शुरु हुआ। जो अंत तक जारी रहा। एक-एक वार्ड के नतीजों के साथ भाजपा के खेमे में उत्साह का दौर शुरु हुआ। वहीं हार के बाद कांग्रेस के प्रत्याशी व नेता से लेकर पदाधिकारी एक-एक कर निराश होकर घर लौट गए। सबसे पहले वार्ड ९ का परिणाम आया। गणना के बाद निर्वाचन प्रमाण पत्र कलेक्टर ने सभी जीते हुए प्रत्याशियों को दिए।
मंदसौर नपा चुनाव में खिला कमल, एक बार फिर से भाजपा की शहर सरकार
मंदसौर नपा चुनाव में खिला कमल, एक बार फिर से भाजपा की शहर सरकार

भाजपा ने जीत के बाद निकाला जुलूस, मनाई होली-दीवाली
गणना के साथ रुझान आने के साथ ही भाजपा में जश्न का दौर शुरु हो गया था। दोपहर में १२ बजे गणना पूरी होने और प्रमाण पत्र मिलने के बाद शहर में जुलूस निकलने का दौर शुरु हुआ। शहर के श्रीकोल्ड चौराहा पर सभी वार्डो के कार्यकर्ताओं से लेकर समर्थको की भीड़ जमा हो गई। भाजपा ने आतिशबाजी करने के साथ रंग-गुलाल भी जमकर उड़ाया। परिणाम के बाद भाजपा ने होली-दीवाली एक साथ मनाई। और पूरे शहर में सभी जीते हुए प्रत्याशियों का जुलूस निकाला गया। वहीं कांग्रेस खेमा निराशा नजर आया। हालांकि भाजपा की जीत और जुलूस में सांसद-विधायक शहर में मौजूद नहीं रहेें। राष्ट्रपति चुनाव के चलते सांसद दिल्ली तो विधायक भोपाल में होने के कारण वह शहर में मौजूद नहीं रहे।

सांसद के वार्ड में मिली हार तो विधायक के वार्ड में मिली जीत
शहर के ४० वार्ड में चुनाव के दौरान सबसे अधिक फोकस वार्ड ७ और वार्ड ३९ पर था। वार्ड ७ सांसद का गृहवार्ड है तो वार्ड ३९ विधायक का। गणना के बाद आए परिणाम में सांसद सुधीर गुप्ता के वार्ड ७ में भाजपा के पूर्व मंडल अध्यक्ष संजय मुरडिय़ा हार गए और यहां कांग्रेस के तरुण शर्मा को जीत मिली, जबकि विधायक के वार्ड ३९ में भाजपा की भारती पाटीदार जीत गई।

६ वार्ड में कांग्रेस तीसरे नंबर पर तो १७ वार्डो में ५०० से अधिक वोटो से हारी
४० वार्डाे में अधिकांश में कांग्रेस नंबर दो पर रही लेकिन ६ वार्ड ऐसे है जहां पर कांग्रेस ३ नंबर पर रही। यहां विजेता प्रत्याशियों को निर्दलीय ने टक्कर दी तो कुछ जगह पर कांग्रेस जमानत भी नहीं बचा पाई। वार्ड ६, वार्उ ११, वार्ड १२, वार्ड १९ व वार्ड २०, वार्ड २१ में कांग्रेस तीसरे नंबर पर रही है। वहीं वार्ड ३४ में कांग्रेस दूसरे व भाजपा तीसरे नंबर पर रही है। वहीं करीब १७ वार्ड ऐसे है जहां कांग्रेस को ५०० या इससे अधिक मतों के अंतर से हार मिली है। इनमें वार्ड ३, ४, ५, ६, १०, ११, १३, १६, १८, १९, २२, ३०, ३२, ३३, ३५, ३७, ३९ में ५०० या इससे अधिक मतों से पीछे रही है।

पूर्व नपाध्यक्ष व उपाध्यक्ष हारे चुनाव
इधर पूर्व नपाध्यक्ष व कांग्रेस के सालों से ब्लॉक अध्यक्ष हनीफ शेख को वार्ड 34 में इस बार करारी हार का सामना करना पड़ा। और उनके वार्ड में निर्दलीय शराफत शेख ने जीत हासिल की। वहीं पूर्व नपाध्यक्ष उपाध्यक्ष सुनील महाबली बागी होकर वार्ड 11 से पूर्व नपाध्यक्ष रामकोटवानी के खिलाफ चुनाव लड़े थे वह चुनाव हार गए। तो एनएसयूआई जिलाध्यक्ष सुनील बसेर की पत्नी प्रियंका बसेर वार्ड 39 से बड़े अंतर से चुनाव हार गई। वहीं कई अल्पसंख्यक वार्ड में भी भाजपा ने सालों बाद जीत हासिल की है। वहीं कांग्रेस जिलाध्यक्ष नवकृष्ण पाटिल के वार्ड में कांग्रेस प्रत्याशी कुसुम विश्वकर्मा तीसरे नंबर पर रही।

दिग्गजों ने हासिल की जीत
नपा के चुनाव में पूर्व गृहमंत्री कैलाश चावला की पुत्रवधु नम्रता चावला ने वार्ड 1 से तो भाजपा किसान मोर्चा राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बंशीलाल गुर्जर की पत्नी रमादेवी गुर्जर ने वार्ड 3 से तो वार्ड 39 से पिछड़ा मोर्चा प्रदेश मंत्री धीरज पाटीदार की पत्नी भारती पाटीदार व वार्ड 6 से पूर्व मंडल अध्यक्ष नरेश चंदवानी की पत्नी निर्मला चंदवानी ने जीत हासिल की। तो वार्ड ११ में पूर्व नपााध्यक्ष राम कोटवानी जीत गए है। वार्ड १ में २२ सालों बाद भाजपा को जीत मिली है। तो वहीं कई अल्पसंख्यक क्षेत्र के कई वार्डो में बीजेपी पहली बार जीतकर आई है।
29 पर भाजपाए 8 पर कांग्रेस और 3 निर्दलीय जीतें
40 वार्डो वाली मंदसौर नगर पालिका में भाजपा ने एकतरफा अंदाज में बहुमत हासिल किया। भाजपा को 29 वार्डो में जीत मिली। तो वहीं कांग्रेस सिर्फ 8 सीट पर सीमट गई। पिछले चुनाव में कांग्रेस के 17 पार्षद थे लेकिन इस बार 8 तक ही रह गए। वहीं तीन सीटें निर्दलीय ने एकतरफा अंदाज में जीती है। जो तीन निर्दलीय जीते है उनमें से भी दो भाजपा व एक कांग्रेस के बागी है।
सहानुभूति की लहर में निर्दलीय के आगे धराशायी हो गए दल
शहर के तीन वार्डो में निर्दलीय जीतकर आए है। इसमें दो भाजपा समर्थित है। दोनों ही वार्ड में सहानुभूति की लहर में जीतकर आए है। सहानुभूति की इस लहर में दोनों प्रमुख दलों की रणनीति काम नहीं आई और उन्हें हार का सामना करना पड़ा। वार्ड १९ में सुनील बंसल निर्दलीय जीते है। कोविड के समय मुक्तिधाम से लेकर राशन, भोजन पहुंचाने के अलावा किए कामों से सहानुभूमि की लहर थी तो वहीं वार्ड २० में दिव्या अनूप माहेश्वरी ने निर्दलीय होकर जीत हासिल की। माहेश्वर को भाजपा ने टिकिट दिया था लेकिन अंतिम समय में प्रदेश संगठन के हस्तक्षेप के बाद टिकिट काटा था और वह निर्दलीय लड़े। टिकिट कटने के कारण सहानुभूति मिली। वहीं वार्ड ३४ में कांग्रेस के सालों से ब्लॉक अध्यक्ष व पूर्व नपा अध्यक्ष हनीफ शेख को निर्दलीय शराफत शेख ने पटखनी दी।

चावला, गुर्जर, पाटीदार में से एक बनेगी अध्यक्ष
मंदसौर नगर पालिका की सीट ओबीसी महिला के लिए आरक्षित है। भाजपा ने ४० वार्डो में करीब १३ ओबीसी की महिलाओं को टिकिट दिया था और इसमें से कई ने जीत हासिल की है। ऐसे में भाजपा की कई ओबीसी की महिलाएं जीती है। तो भाजपा में अध्यक्ष के दावेदार कई है, लेकिन अध्यक्ष के लिए सीधे तौर पर भाजपा किसान मोर्चा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बंशीलाल गुर्जर की पत्नी रमादेवी गुर्जर, पूर्व मंत्री कैलाश चावला की पुत्रवधु नम्रमा और पिछड़ा मोर्चा के प्रदेश मंत्री भारती पाटीदार में होड़ है। परिणाम के साथ ही अध्यक्ष के लिए समीकरण बनने का दौर भी शुरु हो गया है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

बिहार में पलटी बाजी, बीजेपी के सभी मंत्री देंगे इस्तीफा, RJD के साथ सरकार बनाने की तैयारी में नीतीश कुमारBihar Political Crisis Live Updates: CM नीतीश ने राज्यपाल से मांगा समय, रोहिणी आर्चाय का ट्वीट- राजतिलक की करो तैयारी आ रहे है लालटेनधारीबिहारः जदयू और भाजपा के बीच तकरार की वो पांच वजहें, जिससे टूटने के कगार पर पहुंची नीतीश कुमार सरकारMaharashtra Cabinet Expansion Live Updates: महाराष्ट्र कैबिनेट का शपथ ग्रहण समारोह खत्म, शिवसेना और बीजेपी के 18 विधायकों ने ली शपथताइवान का चीन समेत दुनिया को संदेश: चीन के सैन्य अभ्यास के तुरंत बाद ताइवान ने भी शुरू की Live Fire Artillery Drill, बज गए युद्ध के नगाड़े18 से 22 अक्टूबर तक गुजरात के गांधीनगर में दिखाई जाएगी भारत की सबसे बड़ी रक्षा प्रदर्शनी, गुजरात चुनाव से पहले बदली तारीखहिंदुओं को अल्पसंख्यक घोषित करना अदालत का काम नहीं: सुप्रीम कोर्टFBI का छापा : अमरीका में भी भारत की तरह छापेमारी, Donald Trump के फ्लोरिडा वाले घर पर FBI की रेड
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.