मां से जुदा हुए बच्चे बोले- मां तूने ऐसा क्यों किया

मां से जुदा हुए बच्चे बोले- मां तूने ऐसा क्यों किया

कोर्ट का फैसला, अब पिता के पास रहेंगे बच्चेः माता-पिता के झगड़े का खामियाजा बच्चों को भुगतना पड़ता है। कुछ समय से माता-पिता में अनबन चल रही थी। मामला तलाक तक पहुंच गया। मां अपने प्रेमी के साथ रह रही है। अब सब अलग हो गए....।

मंदसौर। माता-पिता के झगड़े का खामियाजा बच्चों को भुगतना पड़ता है। ऐसा ही एक मामला मंदसौर न्यायालय में आया। कुछ समय से माता-पिता में अनबन चल रही थी। मामला तलाक तक पहुंच गया। मां अपने प्रेमी के साथ रह रही है। कोर्ट ने बच्चों को मां के पास से लेकर पिता को सौंपने का आदेश दे दिया। लेकिन जब अलग हो रहे थे तो मां की ममता जाग गई और उसने बच्चों को बाहों में भर लिया। वह एक पल भी बच्चों को नहीं छोड़ना चाहती थी, लेकिन कोर्ट के फैसले के आगे उसकी एक न चली। यह नजारा देख देखने वालों की भी आंखें भर आईं।

उज्जैन जिले के ग्राम दताना निवासी सुरेश सुतार का विवाह 8 साल पहले सगोर हामु दलौदा की ललिता सुतार से हुआ था। दोनों को सात साल की बेटी माही और तीन साल का बेटा मनन हैं। हंसी-खुशी से गुजर रही थी जिंदगी, लेकिन 2014 में पति-पत्नी के बीच हुई एक अनबन ने उनकी दुनिया ही तबाह कर दी। दोनों में तलाक हो गया। अब पिता ने बच्चों की परवरिश के लिए उन्हें मांगा था। 14 जनवरी को हुए अंतरिम आदेश के बाद सुरेश दोनों बच्चों को लेने पहुंचा था।

Mandsaur Court decision

(कोर्ट परिसर में अपने बच्चों को गले से लगाकर रोती ललिता।)
मामले में पैरवी एडवोकेट बाबूलाल प्रजापत ने की थी। बताया जाता है कि 5 नवंबर 2014 को ललिता गायब हो गई थी। उसके पति सुरेश ने नरवर थाने में रिपोर्ट लिखाई थी। 24 नवंबर को पुलिस ने ललिता को तलाश कर लिया। उसने बताया कि उसका तलाक हो चुका है और अक्षय शुक्ला नामक व्यक्ति के साथ उसने प्रेम विवाह कर लिया। यह सुनकर इस परिवार में अचानक खलल आ गया। पति भी परेशान हो गया। उसके सामने दो बच्चों के भविष्य की चिंता सताने लगी। तब तक बच्चे पिता के पास ही थे। लेकिन ललिता ने उज्जैन में ही SDM कोर्ट में आवेदन देकर बच्चों को वापस लेने के लिए सर्च वारंट जारी कराया। 16 जनवरी 2015 को बच्चे ललिता के सुपुर्द कर दिए गए। इसके बाद सुरेश ने सत्र न्यायाधीश उज्जैन के समक्ष अपील की। कोर्ट के फैसले के बाद बच्चे सुरेश को मिल गए।

इस बारे में पति सुरेश का कहना है कि हमारे बीच कोई विवाद नहीं था, मेरी पत्नी खुद ही बच्चों को छोड़कर चली गई थी। लेकिन पहले उसकी ममता कहां गई थी, जब वह बच्चों को छोड़ गई थी। पुलिस के सामने भी उसने दूसरे से शादी करना कबूल किया था। अब बच्चे मेरे पास ही रहेंगे।


इधर ललिता का कहना है कि मेरे पति को गलत फहमी हुई है। उसने मुझे मारा-पीटा। डर के कारण मैं वहां से चली आई। अक्षय शुक्ला से मेरा कोई सबंध नहीं हैं। मैं मेरी बहन के घर पर रह रही हूं। मेरे पति माफ कर दे तो मैं अब भी साथ रहना चाहती हूं।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned