रतलाम का रुपनिया डेम बुझाएगा नगरीवासियों की प्यास

साढ़े सात करोड़ की योजना से मिलेगी पर्याप्त पेयजल सुविधा

By: harinath dwivedi

Published: 04 May 2018, 07:47 PM IST

मंदसौर । नगरी नगर में पेयजल समस्या के स्थाई समाधान के लिए नप की करीब साढे सात करोड़ की उदय योजना पर शुक्रवार से काम प्रारंभ हो चुका है। शुक्रवार को नप इंजीनियर, अध्यक्ष एवं तकनीकी टीम ने समीपस्थ रुपनीया डेम से पानी लाने की योजना के तहत पाईप लाईन, इंटकवेल आदि कार्यो के लिए सीमांकन एवं लाइनिंग के काम का श्रीगणेश करते हुए निरीक्षण किया। नप अध्यक्ष ने बताया कि नगर के लिए सालों से पेयजल की स्थाई सुविधा के अभाव में नागरिकों को परेशान होना पड़ता रहा है। यह योजना पूरी होने से नगर में पेयजल की स्थाई आपूर्ति हर सीजन में सुगमता से होगी। नगर में पिछले कई सालों से गर्मी के अलावा आम दिनों में नागरिकों को पीने के पानी के लिए काफी परेशान होना पड़ता था। नप ने पेयजल समस्या के स्थाई समाधान के लिए रतलाम जिले के रुपनीया बांध से पानी लाने की योजना बनाई। शासन स्तर से योजना की प्रशासकीय स्वीकृति एवं सर्वे के बाद शुक्रवार से योजना के क्रियान्वयन पर काम प्रारंभ हो गया है। नप से मिली जानकारी के अनुसार नगरी से करीब 10 किमी दूर रतलाम जिले के रुपनिया बांध से पानी लाकर उससे नगर में पेयजल आपूर्ति के उपयोग से नगर में पेयजल वितरण मे होने वाली समस्या से मुक्ति मिल पाएगी। योजना के तहत बांघ के पास इंटकवेल बनाकर वहां से नगर तक पाईप लाइन डालकर वार्ड क्रमांक-15 में स्थित करीब साढे चार लाख लीटर की टंकी के पास फिल्टर प्लांट बनाकर इस टंकी के साथ ही स्कूल ग्राउंड की 1 लाख लीटर क्षमता वाली टंकी से संयुक्त रुप से नगर में पर्याप्त पेयजल 24 घंटे सप्लाय संभव होगा।
निरीक्षण किया है...
नगर में रुपनीया डेम से पानी लाने की योजना के तहत आज साईट निरीक्षण कर लाईनिंग का काम किया है। शिघ्र ही योजना का काम प्रारंभ होगा। योजना से नगरी में पेयजल की पर्याप्त आपूर्ति सुनिश्चित होगी।
- अरविंद गंगराड़े, इंजीनियर नप नगरी
माह भर में काम शुरु होगा
नगर में साढे सात करोड़ की योजना के तहत शुक्रवार को तकनिकी दल ने निरीक्षण किया है। ठेकेदार ने माहभर में काम प्रारंभ करने की बात कही है। योजना के तहत नागरिकों को स्वच्छ पेयजल 24 घंटे मिलेगा। नगर में पिछले 15 सालों से चली आ रही पेयजल समस्या का स्थाई समाधान इस योजना के पूरा होने पर होगा।
- रविशंकर सोनी अध्यक्ष नप नगरी

harinath dwivedi Editorial Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned