नवतपा शुरु, आसमान से बरसेगी आग

नवतपे में तेज हवाएं व भीषण गर्मी के योग, बारिश में होगी उत्तम वर्षा

By: harinath dwivedi

Published: 24 May 2018, 09:00 PM IST

मंदसौर । सूर्य के रोहिणी नक्षत्र में आते ही 25 मई से नवतपा की शुरुआत होगी। यह तीन जून तक रहेगा, जिसमें गर्मी भी तेज महसूस की जाएगी। नवतपा में बन रही ग्रहों की स्थिति के अनुसार इस दौरान तेज हवाएं व भीषण गर्मी के योग हैं। तेज गर्मी का असर वर्षाकाल में खंड वृष्टि के रूप में नजर आएगा, लेकिन उपरोक्त स्थितियों से वर्षा की अनुकूलता रहेगी। पंडितो के अनुसार पहला दिन अधिक ज्येष्ठ शुक्ल पक्ष की एकादशी को पड़ेगा। दोपहर 2.20 बजे इसका समय बताया गया है। ग्रह गोचर की स्थिति के अनुसार इस बार उत्तम वर्षा के संकेत नजर आ रहे हैं।
वृषभ राशि में सूर्यपरिभ्रमण करता है तपिश पैदा
ज्योतिषाचार्यों के अनुसार वृषभ राशि का स्वामी शुक्र है। इसकी राशि में सूर्य का परिभ्रमण तपिश पैदा करता है। इससे रोहिणी में भीषण गर्मी पड़ती है। सूर्यदेव के वृषभ राशि व रोहिणी नक्षत्र में परिभ्रमण के 13 दिन इसकी दिशा तथ वास के आधार पर वर्षा ऋ तु की स्थिति का बोध कराते हैं। दो जून आषाढ़ कृष्ण पक्ष द्वितीया शनिवार तक सूर्य रोहिणी नक्षत्र में रहेगा। इस समय ग्रहो की स्थिति रोहिणी नक्षत्र में सूर्य हस्त में, चंद्र उत्तरा आषाढ़ में, मंगल भरणी में, बुध विशाखा में, गुरुआद्र्रा में, शुक्र पूर्व में स्थिर रहेंगे। सूर्य के रोहिणी संचरण काल में शनि का वक्रत्व काल रहेगा। शनि अपनी वक्र दृष्टि का प्रभाव दिखाएंगे।
सुबह ६.४० से शुरु होगा नौतपा
पंडित के अनुसार नौतपा 25 मई को सुबह 6 .40 बजे शुरू होंगे और 2 जून की अर्धरात्रि तक रहेंगे। अर्धरात्रि की गणना के हिसाब से यह तारीख 3 जून भी हो सकती है। हिंदू ग्रंथों के अनुसार ज्येष्ठ मास में सूर्य जब चन्द्रमा प्रधान रोहिणी नक्षत्र में प्रवेश करता है तो उसी दिन से नौतपा शुरू हो जाते हैं। इन 9 दिनों में सूर्य तेजी के साथ ऊर्जा उत्सर्जित करता है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि सूर्य और पृथ्वी के बीच की कुछ दूरी इस दौरान कम हो जाती है।
आंधी और बारिश की संभावना
इस साल सूर्य चन्द्रप्रधान हस्त नक्षत्र की उपस्थिति और मंगल केतु के संयोग में रोहिणी में प्रवेश करेगा। संवत्सर का राजा भी सूर्य ही है, वहीं मंत्री शनिदेव हैं। सूर्य- शनि दोनों ही तीव्र ऊष्मा और वायु का प्रतिनिधित्व करते हैं, इसके चलते इस वर्ष नौतपों में तेज गर्मी के साथ आंधी और बारिश के आने के भी संकेत मिल रहे हैं। पंडित के अनुसार 22 जून को आद्र्रा नक्षत्र में सूर्य के प्रवेश करते ही वर्षा का योग बनेगा। 22 जून को सूर्य के प्रवेश के समय रवि योग का होना यह संकेत देता है कि इस साल औसत से ज्यादा बारिश होगी। पूरे मानसून में 55 दिन बारिश होने की संभावना है। तूफान व भूकंप जैसी आपदाओं के आने का भी संकेत है।
गर्मी का सितम जारी
भीषण गर्मी का सितम जारी है। एक दिन पूर्व की तुलना में तापमान 0.४ डिग्री अधिक होने के बाद भी गुरुवार को जैसे आसमान से आग बरस रहीं थी। दिनभर गर्म हवाओं ने सभी को बेचैन कर दिया। लगातार गर्म हवा चलने के कारण गुरुवार को अधिकतम तापमान 43.१ डिग्री दर्ज किया गया।

harinath dwivedi Editorial Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned