मृतकों के परिजनों को संबल योजना का लाभ मिलने की संभावना, प्रशासन ने भेजा पत्र

मृतकों के परिजनों को संबल योजना का लाभ मिलने की संभावना, प्रशासन ने भेजा पत्र

Vikas Tiwari | Publish: Feb, 23 2019 11:37:18 AM (IST) Mandsaur, Mandsaur, Madhya Pradesh, India

मृतकों के परिजनों को संबल योजना का लाभ मिलने की संभावना, प्रशासन ने भेजा पत्र

मंदसौर.
संबल योजना में जिन लोगों ने आवेदन किए और सत्यापन से पहले उनकी मौत हो गई। ऐसे करीब ३५ से अधिक प्रकरण है। अब इन मृतकों के परिजनों योजना का लाभ मिलने की संभवानाएं बनी है। प्रशासन ने कुछ समय पहले एक पत्र श्रम विभाग को भेजा है। सब कुछ ठीक ठाक रहा तो मृतकों का सत्यापन कर उनके परिजनों को योजना की राशि मिल सकती है।
विभाग से मिली जानकारी के अनुसार १ अप्रैल से संबल योजना शुरु हुई थी। इस योजना के तहत आवेदन भी एक अप्रैल से शुरु हो गए थे। जिसके चलते बड़ी संख्या में आवेदन किए गए। लेकिन सत्यापन अधिकारियों द्वारा नहीं किया गए। अधिकारियों की माने तो उस समय सत्यापन वाला पोर्टल ही १ मई से शुरु हुआ था। ऐसे में करीब ३५ आवेदनकर्ताओं की मौत आवेदन करने के बाद हो गई। संबंधित आवेदनकर्ताओं के परिजनों ने आवेदन दिया और वे स्वयं को पंजीकृत भी मान लिए। लेकिन जब मृत्यु के बाद वे योजना का लाभ लेने के संबंधित अधिकारियों के पास पहुंचे तो सामने आया कि अभी तक आवेदनकर्ता का पंजीयन ही नहीं हुआ है।
सबसे अधिक मंदसौर के प्रकरण
श्रम विभाग से मिली जानकारी के अनुसार सत्यापन से जिन आवेदनकर्ताओं की मौत हो गई है। वे करीब ३५ है। इनमें सबसे अधिक मंदसौर विकासखंड के है। यहां पर करीब २० से २५ आवेदनकर्ता, सीतामऊ विकासखंड में करीब पांच, गरोठ विकासखंड में शून्य, भानपुरा विकासखंड में दो और मल्हारगढ़ विकासखंड में तीन आवेदनकर्ताओं की सत्यापन से पहले मौत हो गई थी। ऐसे करीब ३५ से अधिक प्रकरण है।
इनका कहना....
जिले में ऐसे कई मामले है। जिनमें सत्यापन से पहले आवेदनकर्ताओं की मौत हो गई। ऐसे कई जिलों में हुआ है। श्रम विभाग को जानकारी में आने के बाद ही योजना का लाभ मिले इसके लिए पत्र लिखा जा चुका है।
्रआदित्य ङ्क्षसह, जिला पंचायत सीईओ।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned