फरियादी थाने पर गया तो पुलिसकर्मी ने गाली गलौच कर धमकाते हुए मारने के लिए दौड़ा

फरियादी थाने पर गया तो पुलिसकर्मी ने गाली गलौच कर धमकाते हुए मारने के लिए दौड़ा

Vikas Tiwari | Updated: 03 Jul 2019, 12:40:27 PM (IST) Mandsaur, Mandsaur, Madhya Pradesh, India

फरियादी थाने पर गया तो पुलिसकर्मी ने गाली गलौच कर धमकाते हुए मारने के लिए दौड़ा

मंदसौर.
पुलिस थानों पर फरियादियों की सुनवाई नहीं होना आम बात सी हो गई है। कई परेशान फरियादी थाने से निराश होकर पुलिस अधीक्षक के पास पहुंचे है। लेकिन सोमवार को एक ऐसा मामला भी सामने आया है कि जिसमें फरियादी की शिकायत सुनी तो नहीं गई। साथ में उसके साथ गाली गलौच और धमकाया भी गया। बात यहां तक नहीं रुकी। पुलिसकर्मी फरियादी को मारने के लिए दौड़ा भी। सोमवार को फरियादी द्वारा यह आरोप लगाते हुए पुलिस अधीक्षक हितेश चौधरी को शिकायत की गई है।
श्यामलाल ने अपनी शिकायत में आरोप लगाया कि उसके भाई दशरथ को ससुराल वालों ने प्रताडि़त किया और उसे आत्महत्या के लिए मजबूर किया। हमे शक है कि दशरथ की पत्नी और दशरथ के साले कृष्णपाल द्वारा आत्महत्या के लिए प्रेरित किया गया। मेरे भाई दशरथ ने मुझे बताया था कि मेरा और पत्नी, सास, ससुर और साले से लड़ाई हो गई है। उन्होंने मुझे मानसिक रूप से प्रताडि़त किया है। हमने इसकी शिकायत भी की। मेरे पिता और मेरे परिवार वालों से अफजलपुर पुलिस द्वारा कोई बयान नहीं लिए गए। अफजलपुर थाने पर पता करने पर वहां पर मौजूद पुलिसकर्मी बलवंत ङ्क्षसह चौधरी ने कहा कि कार्रवाई नहीं होगी। मामला खत्म हो गया है। जब मेरे मौसी के लडक़े श्यामलाल ने बलवंत सिंह से अकारण शिकायत बंद करने की पूछा तो मौजूद अधिकारी ने मेरे भाई श्यामलाल को गाली दी और धमकाया। थानाप्रभारी से मिलने के लिए बोला तो मारने के लिए दौड़ा। श्यामलाल ने एसडीओपी भारतभूषण चौधरी से कहा कि इस मामले में मेरे भाई के ससुराल वालों के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया जाए। इस दौरान श्यामलाल, कन्हैयालाल सहित अन्य परिजन मौजूद थे।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned