जान जोखिम में डाल चार ड्रम के सहारे कर रहे सैंकड़ों ग्रामीण नदी पार

जान जोखिम में डाल चार ड्रम के सहारे कर रहे सैंकड़ों ग्रामीण नदी पार

Vikas Tiwari | Updated: 23 Jul 2019, 12:29:38 PM (IST) Mandsaur, Mandsaur, Madhya Pradesh, India

जान जोखिम में डाल चार ड्रम के सहारे कर रहे सैंकड़ों ग्रामीण नदी पार

मंदसौर
मंदसौर मुख्यालय से लगभग 17 किलोमीटर की दूरी पर ग्राम दमदम में सोमली नदी पर लोग अपनी जान जोखिम में डालकर 4 ड्रम के जुगाड़ पर नदीं पार करते हैं। आजादी के 70 वर्ष बाद भी यहां के ग्रामीणों की समस्या अभी तक हल नहीं हुई है। ग्रामीणों का कहना है कि चुनावी समय में नेता आते हैं और बड़े-बड़े वादे कर कर चले जाते हैं लेकिन चुनाव होने के बाद आज तक कोई पलट कर नहीं देखता। इस जुगाड़ पर रोजाना लगभग 500 से 600 की संख्या में महिला और पुरुष नदीं पार करते हैं। नदी पार करते वक्त कई बार तो लोग नदीं में गिर भी जाते है। कई बार हादसे होते-होते बचे है।
एक बार में बैठते ८ से १० लोग
नाव पर लगभग एक बार में 8 से 10 लोग बैठ कर जाते हैं यहां पर नदी पार करने वाले बारी-बारी से अपना इंतजार करते हैं। गत वर्ष कलेक्टर और विधायक यशपाल सिंह सिसोदिया पौधारोपण करने के लिए ग्राम दमदम गए थे तो लोगों ने वहां के नदी की समस्या को बताया। उस समय कलेक्टर और विधायक ने भी आश्वासन दिया था। लेकिन अभी तक कुछ नहीं हुआ।
तीन से चार गांव के लोग करते नदी पार
चार ड्रम की नाव के जुगाड़ से लगभग 3 से 4 गांव के लोग रोजाना नदी पार करते हैं जिसमें सबसे ज्यादा दमदम,आकयाफ तु के ग्रामीण हैं। इन लोगों की मजबूरी है क्योंकि नदी के उस पार इन ग्रामीणों के खेत हैं। इनको रोजाना खेत पर जाने के लिए यह रास्ता सीधा पड़ता है। इस रास्ते से जाएं तो मात्र 2 किलोमीटर पड़ता है और अगर पानपुर अरनीया निजामुद्दीन रोड से आए तो 17 किलोमीटर पड़ता है। इसलिए ग्रामीणों की मजबूरी है कि इस खतरे भरे रास्ते से खेत पर जाते है।
ग्रामीण ज्यौति गुर्जर ने कहा कि हम यह 4 ड्रम की नाव पर रोजाना निकलते हैं आज से नहीं कई साल हो गए। लेकिन आज तक हमारी समस्या किसी ने नहीं सुनी। जान जोखिम में डालकर निकलना पड़ता है। सत्यनारायण गुर्जर ने कहा कि हमने कई बार कलेक्टर विधायक सभी को लिख कर दिया है लेकिन आज तक हमारी किसी ने नहीं सुनी। ग्रामीण बापूलाल रैकवार ने कहा िक आज से नहीं कई सालों से देखते हुए आ रहे हैं। सभी ग्रामीण मिलकर चंदा इक_ा कर यह जुगाड़ बनाते हैं सरकार से चाहिए कि कुछ भी वैकल्पिक व्यवस्था कर दे ताकि ग्रामीणों को परेशानी ना हो।
इनका कहना...
जिला पंचायत सीईओ क्षितिज सिंघल ने कहा कि जानकारी में नहीं था। अब जानकारी में आया है। इसके लिए आवश्यक कदम उठाए जाएंगे।

..........

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned