कर्जमाफी और मुआवजे की मांग को लेकर सीएम के नाम सौंपा ज्ञापन

कर्जमाफी और मुआवजे की मांग को लेकर सीएम के नाम सौंपा ज्ञापन
कर्जमाफी और मुआवजे की मांग को लेकर सीएम के नाम सौंपा ज्ञापन

Nilesh Trivedi | Updated: 01 Sep 2019, 12:20:43 PM (IST) Mandsaur, Mandsaur, Madhya Pradesh, India

कर्जमाफी और मुआवजे की मांग को लेकर सीएम के नाम सौंपा ज्ञापन

मंदसौर.
भारतीय किसान संघ ने किसानों की मांगों को लेकर शनिवार को तहसीलदार नारायण नंदेड़ा को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा। इसमें उन्होंने कर्जमाफी के वादें को पूरा करने के साथ ही जिले में बारिश से नष्ट हुई फसलों का मुआवजा देने की मांग की है। मांगों को लेकर किसान संघ के पदाधिकारियों ने रैली निकाली और नारेबाजी करते हुए तहसील कार्यालय पहुंचे। वहां ज्ञापन दिया। इस दौरान किसान संघ से जुड़े पदाधिकारी व किसान मौजूद थे।


किसान संघ के बैनर तले सीएम के नाम सौंपे गए ज्ञापन में बताया कि अतिवृष्टि के कारण जिले के किसानों की समस्य फसलें जलमग्न हो गई है। और इसके कारण फसल नष्ट हो गई है। बारिश के कारण ८० प्रतिशत फसलें खराब हो गई। अब किसानों के सामने आर्थिक संकट खड़ा हो गया है। पीला मौजक की बीमारी से भी फसल प्रभावित हो रही है। फसलों की ऐसी स्थिति बन गई है जिससे किसानों की मशीनों का भाड़ा और फसल की लागत भी नहीं निकल पाएगी। उन्होंने पुन:अनावरी कराए जाने की मांग की है। साथ ही २ लाख तक के कर्जमाफी की घोषणा के बाद भी अब तक कर्ज किसानों का माफ नहीं हुआ।

इसे किसानों ने धोखा बताया। १० दिन में कर्जमाफी की घोषणा करने के बाद ८ माह बीत गए लेकिन अब तक कर्जमाफी नहीं किया गया। इससे अनेक किसान फसल बीमा से वंचित रह गए और अब फसल खराब हो गए। जिससे उन्हें फसल बीमा का लाभ भी नहीं मिलेगा। इसके लिए सरकार की जिम्मेदार है। कर्जमाफी में हो रही देरी के बाद किसानों पर ब्याज थोपा जा रहा है। इसे भी उन्होंने अनुचित बताया है।

२ लाख से अधिक वाले किसानों का कर्ज माफ नहीं होने की बात भी इसमें कही गई है। जिससे किसान बैंकों से लेकर सोसायटियों में लेन-देन नहीं कर पाया है। उन्होंने किसानों के लिए बनी इस संकट की घड़ी में शासन से सहयोग देने की मांग की है। इस दौरान जिला संयोजक रमेशचंद्र जाट, जिला मंत्री राधेश्याम ठन्ना, राधेश्याम पाटीदार, बद्रीालाल, रामचंद्र, मुकेश जाट के साथ ही अन्य मौजूद थे।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned