scriptMore prisoners than capacity, this is the problem of jails of the enti | क्षमता से ज्यादा बंदी यह पूरे प्रदेश की जेलों की समस्या है | Patrika News

क्षमता से ज्यादा बंदी यह पूरे प्रदेश की जेलों की समस्या है

क्षमता से ज्यादा बंदी यह पूरे प्रदेश की जेलों की समस्या है

मंदसौर

Updated: August 03, 2022 05:50:58 pm

मंदसौर.
शहरों के फैलाव से अब ज्यादातर जेल बीच शहर में होती जा रही हैं जिससे जेलों की सुरक्षा का मसला उत्पन्न होता है। जेलों को शहर से सुदूर क्षेत्र में ही होना चाहिए। प्रयास किया जा रहा है की जिन जिलों में जेल बहुत ज्यादा घनी बस्ती में आ गई है उन्हें अन्यत्र दूर शिफ्ट किया जाएगा। मंदसौर जिला जेल पर भी यही विचार चल रहा है। यह बात डीजी जेल मप्र शासन अरविंद कुमार ने। मंदसौर प्रवास के दौरान यशोधर्मन हाईवे ट्रीट पर पत्रकारों से चर्चा कर रहे थे। उन्होंने बताया कि वर्तमान में प्रदेश में 125 जेल हैं इनमें 11 केंद्रीय जेल हैं और 52 जिला जेल और शेष अन्य उप जेल हैं। क्षमता से अधिक कैदियों का होना आमतौर पर यह पूरे प्रदेश की जेलों का मसला है। प्रदेश में जितने भी जेल हैं उनमें लगभग 30 हजार कैदियों को रखने की क्षमता है लेकिन वर्तमान में 49 हजार बंदी जेलों में है। मंदसौर जिला जेल में 260 कैदियों को रखने की क्षमता है लेकिन इसके विपरीत यहां 612 कैदी हैं। रतलाम और खंडवा की जेलों के भी यही हालात हैं। हाउसिंग बोर्ड के माध्यम से बड़े बड़े जेल भवन बनाने की योजना की प्रचलित है।
patrika_samachar.jpg

डीजी जेल अरविंद कुमार ने कहा कि मेरा व्यक्तिगत दृष्टिकोण कैदियों को पैरोल पर ज्यादा से ज्यादा छोडऩे का इसलिए रहता है ताकि वह अपने परिवार से भी जुड़े रहें और जेल में रहकर उनके अंदर परिवार से मिलने की उत्सुकता बनी रहे यदि हम कैदियों को पैरोल पर नहीं भेजें परिवार के साथ समय बिताने का अवसर नहीं दें तो उनकी मानसिकता पर विपरीत प्रभाव पड़ता है। उनके अंदर के आपराधिक तत्व को भी हम खत्म नहीं कर सकते। प्रदेश के डीजी जेल ने खुले मन से इस बात को स्वीकार किया की जेलों के अंदर कई जगहों पर भ्रष्टाचार होता है हमने ज्यादा से ज्यादा कर्मचारियों पर कार्रवाई की है। उन्होंने कहा की जेलों में बिना कोरोना टेस्ट के किसी भी बंदी को अंदर प्रवेश नहीं दिया जाता। मंदसौर क्षेत्र के लिए उन्होंने कहा कि यहां एनडीपीएस के कैदी ज्यादा हैञ जल्द ही केंद्रीय जेलों में कैंटीन सुविधा शुरू करने की योजना पर थी विचार चल रहा है। डीजी जेल से अरविंद कुमार ने टेस्ला कंपनी के एमडी मनीष मारू द्वारा प्रदेश की जेलों में आवश्यकतानुसार एलईडी टीवी सेट भेंट करने का सेवा प्रकल्प प्रस्तुत किया है उज्जैन संभाग में मंदसौर जिला जेल से शुरू की गई यह सेवा सराहनीय पहल है।
...
उपाध्याय डॉ गौतममुनि की प्रेरणा से जिला जेल में कैदियों को देश दुनिया और रचनात्मकता से जोडऩे के लिए एलईडी सेट वितरण
गुरुदेव उपाध्याय आगम दाता गोत्तम मुनि की प्रेरणा से लक्ष्मीलाल सूरज बाई परमार्थिक ट्रस्ट एवं सर्व जन हिताय गुरु गोतम मुनि पारमार्थिक ट्रस्ट द्वारा बंद कैदियों के मनोरंजन व देश दुनिया व रचनात्मक गतिविधियों से जोडऩे तथाजैन दिवाकर गुरु प्रताप सेवा संस्थान की अगुआई में प्रदेश की जेलों में एलईडी टीवी सेट भेंट करने के सेवा प्रकल्प का संकल्प लिया गया है। जिसकी पहली कड़ी के रूप में उज्जैन संभाग की पहली जिला जेल मंदसौर में राष्ट्रसंत कमल मुनि कमलेश के सानिध्य में हुई। जिला जेल परिसर में आयोजित कार्यक्रम में विधायक यशपाल सिंह सिसोदिया एवं डीजी जेलअरविंद कुमार के आतिथ्य में यह हुआ। कलेक्टर गौतम सिंह और एसपी अनुराग सुजानिया भी मौजूद थे। ट्रस्ट अध्यक्ष अशोक मारू संस्थापक ऋषभ मारु भी मंचासीन थे।

राष्ट्रसंत कमल मुनि कमलेश ने कहा कि जो लोग किन्हीं कारणों से जेल में बंद रहते हैं उनमें से 40 प्रतिशत लोग निर्दोष होते हैं और 90 प्रतिशत विचाराधीन होते हैं तो ऐसे में इन्हें कैदी या बंदी कहने के इन्हें प्रेमी कहना चाहिए। जब तक अपराध साबित नहीं हो जाता तब तक किसी को भी कैदी कहना मानवाधिकार के भी विरुद्ध है। उन्होंने कहा कि पूरे देश में 80 हजार किलोमीटर यात्रा की है और 35 जेलों में जाकर वहां निरुद्ध प्रेमी बंधुओं से चर्चा की है। उन्हें समाज की मुख्य धारा में आने को प्रेरित किया। इस स्थान को जेल ना कहते हुए सुधार ग्रह कहना चाहिए। उन्होंने कहा कि संतों का यह दायित्व है कि वह सामाज में जा कर लोगों की पीड़ा में उनका ढांढस बंधाएं उनके आंसू पोंछें।

विधायक यशपाल सिंह सिसोदिया ने कहा कि मंदसौर क्षेत्र की तासीर है कि यहां जन भागीदारी के साथ मन भागीदारी भी बहुत है। उन्होंने इस बात पर भी डीजी जेल का ध्यान आकर्षित किया कि जेल में निरुद्ध बंदियों को गमी या किसी शुभ कार्य के लिए पैरोल पर छोडऩे की प्रक्रिया बहुत लंबी हो जाती है उन्हें उसी दिन पैरोल पर भेजना चाहिए। डीजी जेल अरविंद कुमार ने कहा कि प्रदेश की जेलों में बंदियों की सुविधा के लिए सरकार पूरी गंभीरता से प्रयास कर रही है। कलेक्टर गौतम सिंह ने कहा कि जेल वास्तव में एक सुधार गृह है यह यातना गृह नहीं होता। आरंभ में स्वागत भाषण मनीष मारू ने ने दिया। मंदसौर जिला जेल व रतलाम जिला जेल के लिए एलईडी टीवी सेट मंच पर जेलर पीके सिंह मंदसौर व लक्ष्मणसिंह भदोरिया रतलाम को भेंट किए। संचालन ब्रजेश जोशी ने किया।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Bihar News: तेज प्रताप भी बन सकते हैं मंत्री, बिहार में 16 अगस्त को मंत्रिमंडल विस्तारBilkis Bano Gang Rape: आजीवन कारावास की सजा काट रहे सभी 11 दोषी रिहा, राज्य सरकार की माफी योजना के तहत जेल से आए बाहरIndependence Day 2022: भारत की आजादी के 75 साल पूरे होने पर इन देशों ने दी बधाईयां और कही ये बातKarnataka News: शिवमोग्गा में सावरकर के पोस्टर को लेकर बढ़ा विवाद, धारा 144 लागूसिंगर राहुल जैन पर कॉस्ट्यूम स्टाइलिस्ट के साथ रेप का आरोप, मुंबई पुलिस ने दर्ज की एफआईआरशख्स के मोबाइल पर गर्लफ्रेंड ने भेजा संदिग्ध मैसेज, 6 घंटे लेट हुई इंडिगो की फ्लाइट, जाने क्या है पूरा मामलासिर्फ 'हर घर' ही नहीं, 'स्पेस' में भी लहराया 'तिरंगा', एस्ट्रोनॉट राजा चारी ने अंतरिक्ष स्टेशन पर लहराते झंडे की शेयर की तस्वीरबिहार : नीतीश कुमार का बड़ा ऐलान, 20 लाख युवाओं को देंगे नौकरी और रोजगार
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.