गरोठ क्षेत्र में 8 लाईन सड़क निर्माण के लिए किए जा रहे बिजली कार्य में लापरवाही


गरोठ क्षेत्र में 8 लाईन सड़क निर्माण के लिए किए जा रहे बिजली कार्य में लापरवाही

By: Vikas Tiwari

Published: 07 Mar 2020, 12:12 PM IST

मंदसौर
क्षेत्र के कुछ ग्रामों में निकलने वाले दिल्ली मुंबई एक्सप्रेस नेशनल हाईवे के लिए अधिग्रहित की गई कृषि भूमि में बिजली कंपनी के ठेकेदार द्वारा अनुभवहीन मजदूरों से खेतों की बिजली 11 केवी तथा एलटी लाइट को भी शिफ्ट किया गया। किंतु लापरवाही पूर्वक कार्य किये जाने के कारण 2 से 4 मार्च को खंबे खड़े कर लाइट जैसे ही चालू की गई किंतु खम्बे पर लगाए गए तार बार-बार टूटकर किसानों की सुखी हुई फसलों में गिर गए। जिससे फसलें जल सकती हैं अभी खेतों में बहुत सारे मजदूर तथा किसान काम में लगे हुए हैं जिससे कभी भी दुर्घटना हो सकती हैं। विद्युत विभाग को बार बार सूचित किया गया किंतु अभी तक कोई स्थाई काम ना कर बार-बार जुगाड़ू काम ही किया जा रहा है। किसानों का कहना है कि यदि किसी प्रकार की हानि होती हैं तो आठ लाइन के ठेकेदार तथा विद्युत विभाग की जिम्मेदारी होगी।
ठेकेदार मंदसौर का अनट्रेंड लोगों से करवा रहा है काम
किसान प्रकाश चौहान, कन्हैयालाल मेघवाल, दिनेश, मांगूसिंह, रामनिवास, गंगाराम, रामलाल मेघवाल, रतनलाल, दिनेश, कालूसिंह आदि ने बताया कि ग्राम जोडमी, रूपरा आदि ग्रामंों में किए गए इस लापरवाही पूर्वक कार्य के चलते लोहे के खम्बों पर नंगे तार उतारे हुए है। जो हवा से हिलने के कारण टूट टूट कर गिर रहे है। इस संबंध में कई बार अवगत कराने के बाद भी कंपनी के अधिकारी समाधान नहीं कर रहे हैं। बिजली कंपनी द्वारा बिजली संबंधित कार्य करने वाले के लिए ठेका पद्धति लागू कर रखी है। जिसमें नियमानुसार ट्रेंड लोगों की जगह अनट्रेंड व्यक्तियों को कार्य देकर कार्य करवाया जा रहा है।गरोठ क्षेत्र में बिजली कार्य का ठेका मंदसौर निवासी ठेकेदार का बताया जाता है जिसने स्थानीय स्तर के अनट्रेंड मजदूरों को इस कार्य में लगाकर कार्य करवाया जा रहा है। वही बिजली कंपनी अपने पास देखरेख का जिम्मा होने के बाद भी अनजान बनी हुई है।
8 लाइन निर्माण कंपनी करेगी ठीक.
क्षेत्र के कुछ ग्रामों से इस प्रकार तार टूटने की शिकायतें प्राप्त हुई है जिस पर 8 लाइन सड़क निर्माण कंपनी को अवगत कराया गया है जिसे उसी कंपनी के कर्मचारी ठीक कर देंगे।ष्
सतीश गौतम, जेईई बिजली कंपनी गरोठ

Vikas Tiwari Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned