चहूं और गूंजे नंदलाल के जयकारे, 5 मिनट के प्रयास में फोड़ दी माखन मटकी

चहूं और गूंजे नंदलाल के जयकारे, 5 मिनट के प्रयास में फोड़ दी माखन मटकी

harinath dwivedi | Publish: Sep, 04 2018 12:59:48 PM (IST) Mandsaur, Madhya Pradesh, India

चहूं और गूंजे नंदलाल के जयकारे, 5 मिनट के प्रयास में फोड़ दी माखन मटकी

मंदसौर.
जिलेभर के कृष्ण मंदिरों सहित अन्य मंदिरों में सोमवार को श्रीकृष्ण जन्माष्टमी की धूम रही। मंदिरों के पट सुबह ४ बजे से ही खुल गए। दिनभर पूजा-अर्चना व भजन-कीर्तन के साथ ही ‘हाथी-घोड़ा पालकी जय कन्हैयालाल की...’ श्रीकृष्ण गोविन्द हरे मुरारी, हे नाथ नारायण वासुदेवाय..., वो काला एक बांसुरी वाला..., वो कृष्णा है... जैसे भक्ति गीतों व नंदलाल के जयकारों से मंदिर परिसर गुजांयमान रहे। कृष्ण मंदिरों में फूलों से साज-सज्जा की गई। रात्रि में मंदिर विद्युत रोशनी से जगमगाते रहे। जिले में कहीं मटकी फोड़ प्रतियोगिता तो कहीं शोभायात्राएं निकाली गई।


झांकियां व अखाड़े हुए शामिल
शहर में विश्व हिंदू परिषद के तत्वावधान में सुबह १० बजे बंैड-बाजों के साथ विहिप ने स्थापना दिवस पर भगवान श्रीकृष्ण की झांकी के साथ चल समारोह निकाला। केशव सत्संग भवन खानपुरा में शोभायात्रा का शुभांरभ अतिथियों ने भगवान श्रीकृष्ण की प्रतिमा की पूजा-अर्चना कर किया। शोभायात्रा में कृष्ण-राधा की झांकी, शंकर-पार्वती, कृष्ण की वीरता के प्रसंग, भगवान श्रीकृष्ण की लीलाएं, पशुपतिनाथ मंदिर समिति, रेडक्रास सोसायटी, नगरपालिका की झांकी, मातृशक्ति एवं दुर्गावाहिनी सहित करीब ११ झाकियां शामिल थी। इसमें करीब १५ से अधिक अखाड़े भी शामिल हुए। मातृशक्ति एवं दुर्गावाहिनी की बालिकाएं लाल, हरे व पीले वस्त्रों में गरबा नृत्य करते चल रही थी। चल समारोह का विभिन्न राजनीतिक संगठनों, धार्मिक संस्थाओं, सामाजिक संगठनों ने स्वागत किया। कहीं केले की प्रसादी वितरित की गई तो साबुदाने की खिचड़ी। विभिन्न संस्थाओं द्वारा पेयजल व्यवस्था भी की गई थी। चल समारोह शहर के प्रमुख मार्गो से होता हुआ गांधी चौराहे पर सभा में बदल गया। यहां वक्ताओं ने विहिप की स्थापना के उद्देश्य व कार्यो के बारे में बताया। वक्ताओं ने कहा कि श्रीकृष्ण ने निरंतर कर्म करने का संदेश भगवान श्रीकृष्ण ने श्रीमद्भागवत गीता में दिया है। कृष्ण ने पूरे समाज के लिए मित्रता और प्रेम का जो अनुपम उदाहरण प्रस्तुत किया है, वह आज भी अनुकरणीय है।

ग्वाला समाज ने निकाली शोभायात्रा, लगे जयकारें
श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर श्रीकृष्ण चन्द्रवंशी ग्वाला गवली समाज एवं अभा ग्वाल महासभा द्वारा चल समारोह एवं कलश यात्रा निकाली गई। गाजे- बाजे और ढोल- ढमाकों के साथ गांंधी चौराहा स्थित हरदेवलाला मंदिर से प्रारंभ हुआ चल समारोह 6 घंटे तक शहर के विभिन्न मार्गो से होकर गुजरा। शोभायात्रा में जेल में कृष्ण जन्म की झांकी और कृष्ण के आसपास नृत्य करती गोपियों की झांकी आकर्षण का केन्द्र रही। जन्माष्टमी की संध्या में समाजजनों ने अपने घरों के आंगन में दीप जलाकर भगवान श्री कृष्ण के जन्म की खुशियां मनाई। रात में बालागंंज रोड एमआरसी स्कूल के सामने मार्ग पर भजन संध्या का आयोजन भी हुआ। रात 12 बजे आतिशबाजी के साथ केक काटकर कृष्ण जन्मोत्सव मनाया गया। जन्माष्टमी पर्व पर सुबह 9 बजे श्री हरदेवलालाजी की महाआरती ग्वाला समाज के पटेल प्यारेलाल बानिये, मुन्नालाल बानिये के आतिथ्य में हुई। पश्चात चल समारोह प्रारंभ हुआ। समारोह में सबसे आगे 251 महिलाएं एक समान वेशभूषा में सिर पर कलश धारण किए चल रही थी। डीजे पर युवक- युवतियां, महिला- पुरूष बच्चे कृष्ण के भजनों पर नृत्य करते चल रहे थे। भगवान कृष्ण की प्रतिमा बग्गी में सवार थी। पश्चात कृष्ण गोपियों एवं जेल में भगवान कृष्ण के जन्म पर आधारित झांकी, जयकारे लगाते चल रही युवाओं की टोली, कान्हा के भजन गुनगना रही महिलाएं और कृष्ण व राधा की वेशभूषा में बच्चे शामिल थे। चल समारोह में अभा ग्वाल महासभा जिला अध्यक्ष गोपाल दीवान, मुकेश हॉस, ईश्वर चंदेल, श्याम थम्मार, गोविन्द सुराह सहित बड़ी संख्या में समाजजन उपस्थित थे। समाजजनों एवं विभिन्न सामाजिक संगठनों द्वारा करीब 24 स्थानों पर चल समारोह का स्वागत कर शामिल समाजजनों को स्वल्पहार वितरित किया।

शामगढ में जन्माष्टमी को लेकर पोरवाल महिला मंडल द्वारा सोमवार को पोरवाल मांगलिक भवन में कार्यक्रम रखा गया। यशोदा और कान्हा के चरित्र चित्रण को लेकर कई तरह की प्रतियोगिताएं आयोजित हुई। इसमें आंख पर पट्टी बांधकर लकडी से मटकी फोडना जैसी कई प्रतियोगिताओ ने भाग लिया। इसमें लाईन पर पैर रखने के कारण कई महिलाएं प्रतियोगिता से बाहर हो गई तो कई मटकी फोड प्रतियोगिता में कामयाब हो गई। कार्यक्रम चरणो में हुआ। प्रतियोगिता में स्थान बनाने वाली महिलाओं को शिक्षक दिवस पर पुरुस्कृत किया जाएगा। संचालन मंडल अध्यक्ष सीमा मेहता ने किया।

भगवान श्रीकृष्ण के जन्मोत्सव जन्माष्टमी सोमवार को भानपुरा नगर में धूमधाम से मनाया गया। नगर में स्थित विभिन्न मंदिरों को आकर्षक रूप से सजाया गया एवं आकर्षक विद्युत सज्जा की गई। जन्माष्टमी पर्व पर नगर भानपुरा के प्रमुख मार्गो से भगवान कृष्ण, बलराम, राधाकृष्ण वासुदेव की आकर्षक झांकियां निकाली गई इसमें सैकड़ों युवाओं ने शामिल होकर धार्मिक जयकारो से आकाश को गुंजायमान कर डीजे पर बज रहे भजनों की धुन पर जमकर नृत्य किया। शोभायात्रा का जगह- जगह पुष्प वर्षा कर स्वागत किया गया। भगवान कृष्ण के जन्मोत्सव एवं विश्व हिंदू परिषद एवं बजरंग दल के स्थापना दिवस के रूप में जय हो हेल्थ क्लब भानपुरा द्वारा नगर के यशवंत राव होल्कर मार्ग स्थित सार्वजनिक हनुमानगढ़ी मंदिर से प्रात: 10.30 बजे नगर के मुख्य मार्गो पर आकर्षक झांकियां प्रारंभ हुई, जो लगभग 5 घंटे बाद पुन: हनुमानगढ़ी पहुंची। यहां भगवान कृष्ण-राधा की पूजा अर्चना कर हनुमान मंदिर परिसर में प्रसादी वितरण की गई। इस अवसर पर निकाली गई शोभायात्रा में डीजे की धुन पर युवाओं ने आकर्षक नृत्य प्रस्तुत किए। शोभायात्रा के दौरान जगह- जगह प्रसाद वितरण किया गया। इस अवसर पर नवीन माली, संदीप प्रजापति, रोहित विश्वकर्मा, दीपक राठौर, अर्जुन बागड़ी, विनीत बंबोरिया, आदित्य, शुभम बंबोरिया सहित अनेक कार्यकर्ता उपस्थित थे।

पांच मिनट के प्रयास में ही कान्हा ने फोड़ दी माखन मटकी
शहर के गांधी चौराहे पर जन्माष्टमी के अवसर पर सोमवार की शाम गोविंदाओं की कई टोलियां माखन मटकी फोडऩे पहुंची। जैसे ही पहला राउंड शुरु हुआ, गल्याखेड़ी के वीर हनुमान व्यायाम शाला के योगेश माली ने ५ मिनट के प्रयास में ही मटकी फोड़ दी। ऐसे में जो लोग मटकी फोड़ प्रतियोगिता का आनंद लेने आए थे, उनका उत्साह ५ मिनट में ही खत्म हो गया।
------------------------

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned