इन्होंने दी मुख्यमंत्री को चेतावनी, कहा- ग्वालियर में होने दे सम्मेलन

इन्होंने दी मुख्यमंत्री को चेतावनी, कहा- ग्वालियर में होने दे सम्मेलन

harinath dwivedi | Publish: Sep, 04 2018 01:16:26 PM (IST) Mandsaur, Madhya Pradesh, India

इन्होंने दी मुख्यमंत्री को चेतावनी, कहा- ग्वालियर में होने दे सम्मेलन

मंदसौर.
आजाद भारत का सबसे बड़ा क्षत्रिय सम्मेलन २३ सितबंर को चित्तौड़ में होने जा रहा है। इसमें आरक्षण व पद्मावत की समीक्षा के साथ सामाजिक क्षेत्र में जो समरसता का माहौल है। इन तीन प्रमुख मुद्दों के साथ अन्य शामिल है। इसी में आगे की चीजे तय की जाएगी। आरक्षण के मुद्दे पर हमारी सुन नहीं रहे है। समाज आरक्षण को लेकर बदलाव चाहता है। सरकारें यह बात समझ नहीं रही है। हमारा सामाजिक संगठन है कोई राजनीतिक नहीं और न हीं हमारा काम राजनीति का है। लेकिन जो हमारा साथ देगा, उसका हम देगेे। चाहे वह कोई भी हो। यह बात करणी सेना के संरक्षक लोकेंद्रसिंह काल्वी ने सोमवार को सुबह शहर में पत्रकार वार्ता के दौरान कही।


उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री संवेदनशीलता के साथ हमारी बात सुनते है। लेकिन ग्वालियर में जो 4 सितबंर को सम्मेलन है। उसे लेकर जो माहौल बनाया जा रहा है। वह गलत है। हम हमारी बात करने के लिए है। न की किसी का विरोध करने के लिए। काल्वी ने चर्चा के दौरान सीएम को चुनौती दी कि सीएम ग्वालियर में होने दे हमारा सम्मेलन। प्रशासन अपनी मर्जी से या उनकी मर्जी से जो कर रहा है वह गलत है। सुप्रीम कोर्ट की दी व्यवस्था सरकार क्यों लागू नहीं कर रही है और इसमें संशोधन कर नए कानून बनाए गए। जब कोर्ट कह रहा है कि पहले जांच करो और फिर गिरफ्तार करों तो इसमें क्या तकलीफ। 4 सितबंर ग्वालियर में जो सम्मेलन है। उसमें कई समाज व संगठनों ने अपना समर्थन दिया है। इस दौरान उनके साथ समाज के अन्य लोग मौजूद थे।


विरोध के दौरान गरमाया माहौल
काल्वी जब पत्रकारो से बात कर रहे थे। उसी दौरान श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के पदाधिकारी व सदस्य होटल के बाहर आ पहुंचे और काल्वी का विरोध करते हुए नारेबाजी शुरु कर दी। इसके बाद मामला गरमा गया। कुछ देर तक यह दौर चलता रहा।


समझोता एक्सप्रेस स्वीकार नहीं
राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के प्रदेश प्रवक्ता शैलेंद्रसिंह ने कहा कि प्रदेश में श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के सुखदेवसिंह गोगामड़ी और जीवनसिंह के नेतृत्व में समाज के लिए काम कर रहे है। यह समझोता एक्सप्रेस जो राजस्थान से मंदसौर में पहुंची है। कुछ लोगों ने इन्हें बुलाया है। यह स्वीकार नहीं होगा।

Ad Block is Banned