प्रतापगढ़ की गश्ती पुलिस ने शूटर मनीष को देखा, दौड़ाकर रात में पकड़ा

प्रतापगढ़ की गश्ती पुलिस ने शूटर मनीष को देखा, दौड़ाकर रात में पकड़ा

 

By: Rahul Patel

Published: 19 Jan 2019, 01:33 PM IST

मंदसौर.
मंदसौर नगरपालिका अध्यक्ष प्रहलाद बंधवार की गोली मारकर हत्या करने के आरोपी मनीष बैरागी को प्रतापगढ़ पुलिस ने शुक्रवार की देर रात को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने उसे जिला क्षेत्र से शुक्रवार की रात करीब 12.30 बजे घेराबंदी करके गिरफ्तार किया। सूचना पर मंदसौर पुलिस का दल प्रतापगढ़ के लिए रवाना हुआ। प्रतापगढ़ की कोतवाली पुलिस के थाना प्रभारी गोपाल चंदेल ने बताया कि आरोपी मनीष के संबंध में मंदसौर पुलिस से इनपुट मिला था। इसी आधार पर पुलिस दल ने उसे तलाशा और गिरफ्तार कर लिया। रात्रि गश्त के दोरान जिला अस्पताल के बाहर १० पुलिसकर्मी गश्त कर रहे थे उस समय मंदसौर में हुए घटनाक्रम के मुख्य आरोपी की शक्ल से मिलता हुआ पुलिस ने उसे रोकने की कोशिश की लेकिन उसने दौड़ लगा दी। पुलिस ने उसे दौडक़र दबोच लिया। उसे थाने लाकर मंदसौर पुलिस को सूचना दी।
आरोपी ने लिया हम्माल का मोबाइल लेकर किया भय्यू को फोन
पुलिस के विश्वसनीय सूत्रों की माने तो आरोपी मनीष बस के माध्यम से सीतामऊ पहुंचा था। यहां पर उसने एक हम्माल से मोबाइल किसी व्यक्ति को फोन लगाने के लिए मांगा। पुलिस सूत्रों की माने तो मोबाइल पर बात नहीं हो पाई। पुलिस ने हम्माल की पूरी जानकारी निकाली और उससे मंदसौर लाकर पूछताछ शुरु कर दी है। आरोपी मनीष ने जेल में रहे साथी भय्यू नामक व्यक्ति को फोन लगाया था। लेकिन वह नहीं आया। पुलिस के विश्वसनीय सूत्रों की माने तो भोपाल बस में मनीष बैठा। और सुवासरा चौपाटी पर बस रूकी। जहां वह उतरा। उसके बाद उसने उसके परिचित के बारे में पूछा जो जेल में उसके साथ रह चुका था। फिर वह उसी बस में बैठा और शामगढ़ तक पहुंचा। बस में उसे सैनिक रामस्वरूप ने देखा। बाद में उसने गरोठ का टिकट लिया। पुलिस ने शामगढ़ स्टेशन की सीसीटीवी फुटेज भी देखे है। लेकिन कोई जानकारी आरोपी की स्टेशन पर होने की नहीं मिली। यहां से वह प्रतापगढ़ पहुंच गया। पुलिस की माने तो मनीष ने अंकुर अपार्टमेंट के पास की सरकारी जमीन अपने नाम से करवाना चाहता था। इसको लेकर उसने कई बार नगर पालिका अध्यक्ष से आरोपी मनीष ने बात भी की थी। लेकिन नगर पालिका अध्यक्ष वो काम नहीं कर रहे थे। वो गुरुवार शाम को पहुंचा और इसी शासकीय जमीन को लेकर उसने नगर पालिका अध्यक्ष प्रहलाद बंधवार की गोलियां मारकर हत्या कर दी। उसके बाद वह मौके से फरार हो गया था।
चर्चाओं में बड़े व्यक्ति के होने की बात
नगर पालिका अध्यक्ष प्रहलाद बंधवार के पार्थिव शरीर का अंतिम संस्कार शुक्रवार को हुआ। यहां पर चर्चाओं का बाजार गर्म था कि दादा की हत्या करने वाले मनीष के पीछे किसी
बड़े आदमी का अन्य प्रापर्टी को लेकर भी हाथ हो सकता है। और साथ में हत्या वाले दिन मनीष के साथ किसी अन्य व्यक्ति के होने की चर्चाएं भी थी। हंालाकि पुलिस भी किसी दूसरे व्यक्ति के साथ में होने की संभावनाओं से इंकार नहीं कर रही है।
सीएसपी राकेश मोहन शुक्ला ने कहा कि अंकुर अपार्टमेंट के पास शासकीय भूमि पर नामातंरण मनीष करवाना चाहता था। इसी मामले को लेकर उसने हत्या की है। मनीष की गिरफ्तारी के बाद पूरे मामले का खुलासा होगा।

Rahul Patel Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned