बैंक अधिकारी बन लगाया फोन, 95 वर्षीय वृद्ध के खाते से 40 हजार रुपए निकाल लिए

बैंक अधिकारी बन लगाया फोन, 95 वर्षीय वृद्ध के खाते से 40 हजार रुपए निकाल लिए

Mukesh Mahawar | Publish: Jul, 20 2019 05:53:06 PM (IST) Mandsaur, Mandsaur, Madhya Pradesh, India

बीएसएनएल के रिटायर्ड सुपरवाइजर पुरुषोत्तम शर्मा के साथ ठगी

रतलाम. बैंक खाताधारकों को फर्जी कॉल के जरिये चूना लगाने वाले कभी बैंक अधिकारी तो कभी कुछ और बनकर खाताधारकों के खातों से राशि निकाल रहे हैं। बावजूद इसके लोगों में जागरुकता नहीं आ रही है। ताजा मामला कस्तूरबानगर का है। क्षेत्र के निवासी 95 वर्षीय वृद्ध पुरुषोत्तम पिता अंगतराम शर्मा को शाम को एक अनजान नंबर से मोबाइल पर फोन आया जिसमें उसने खुद को बैंक अधिकारी के रूप में होना बताते हुए मोबाइल फोन पर ही ओटीपी मांग कर उनके खाते से 10-10 हजार चार बार करके 40 हजार रुपए निकाल लिए।


पीडि़त पुरुषोत्तम शर्मा के पुत्र रेलवे कॉट्रेक्टर वैभव शर्मा ने बताया कि शाम करीब साढ़े चार से पांच बजे के बीच उनके पापा के मोबाइल फोन पर 6289809553 नंबर से कॉल आया और खुद को बैंक से बोलना बताकर उनसे कहा कि आपका एटीएम कार्ड लॉक हो रहा है। ओटीपी आए बताओ तो इसे निरंतर कर देंगे। पिता वृद्ध हैं और उन्हें इस बात की जानकारी नहीं थी कि ये लोग फ्राड हैं। उन्होंने ओटीपी बता दिए जिससे खाते से 10-10 हजार करके चार बार में 40 हजार रुपए निकाल लिए। पिता से जानकारी मिली तो मैंने उन्हें किसी को ओटीपी नहीं बताने की बात कही। तब तक तो राशि निकल चुकी थी। पीडि़त परिवार शाम थाने पहुंचा और वारदात के बारे में जानकारी दी। वैभव ने बताया कि उनके पिता और माता का एसबीआई की कस्तूरबानगर शाखा में संयुक्त खाता है। जिससे राशि निकाली गई है।


एसबीआई फ्राड के नाम से है नंबर
जिस मोबाइल नंबर से पुरुषोत्तम शर्मा के मोबाइल फोन पर कॉल आया था। यह नंबर बदमाशों का है और उन्होंने इसे किसी नाम से सेव नहीं कर रखा है। ट्रू कालर पर इसका नंबर चेक करने पर एसबीआई फ्राड नाम से यह नंबर मिल रहा है। औद्योगिक क्षेत्र पुलिस थाने के एसआई जितेंद्रसिंह जादौन ने बताया कि पैसा खाते से निकलने के बाद तुरंत ही ये लोग आ गए जिससे हमने सायबर सेल पर खाते से पैसों के ट्रांसफर पर रोक लगाने के लिए प्रक्रिया शुरू कर दी है। संभवत: शनिवार की सुबह बैंक खुलने के बाद पूरी स्थिति पता चल पाएगी। फ्राड करने वालों ने बैंक से पैसा किसी वस्तुओं के खरीदने में खर्च किया है। ज्यादातर मामलों में ये लोग ऐसा ही करते हैं।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned