लाखो खर्च के बाद भी स्वच्छ नहीं हो पाई यह नगर परिषद

लाखो खर्च के बाद भी स्वच्छ नहीं हो पाई यह नगर परिषद

harinath dwivedi | Publish: Feb, 15 2018 01:34:14 PM (IST) Mandsaur, Madhya Pradesh, India

- नगर परिषद का नहीं ध्यान, जगह-जगह पसरी है गंदगी

मंदसौर.
देशभर में चल रहे स्वच्छता अभियान के प्रति नारायणगढ़ नगर परिषद का कोई विशेष रुझान नहीं है। नगर की सफाई व्यवस्था के नाम पर लाखों रुपए बर्बाद करने के बावजूद यहां की परिषद मल्हारगढ़ तहसील सबसे फिसड्डी साबित हो रही है। मल्हारगढ़ विधानसभा की सबसे पुरानी नगर परिषद का स्वच्छता अभियान में प्रदर्शन नहीं कर पाने के पीछे मुख्य कारण यहां नगर पंचायत अधिकारी का न होना भी रहा है। प्रभारी मुख्य नगर पंचायत अधिकारी महिप श्रीवास्तव यहां अपना पूरा समय नहीं दे पाए। नगर परिषद द्वारा सफाई व्यवस्था के नाम पर पिछले साल नवंबर माह से 5 अतिरिक्त सफाई कर्मचारी रखे गए तथा उनको 1 लाख रुपये के लगभग का वेतन देने के बाद भी चारों तरफ गंदगी का साम्राज्य है। नगर परिषद ने जनता को स्वच्छता का संदेश देने के लिए 45 हजार रुपए खर्च कर वॉल पेंटिंग करवाई। यहीं नहीं फ्लेक्स आदि प्रिंटिंग खर्चे पर करीब 30 हजार तथा कुछ डस्टबिन खरीदने के लिए भी 30 हजार के करीब का व्यय किया गया। नगर परिषद की सफाई गाड़ी हजारों रुपए का डीजल पी गई, पर सर्वेक्षण के आंकड़ों में लोगों को कहीं मुंह दिखाने लायक स्थिति नहीं बन पाई। यही नहीं नारायणगढ़ नगर अभी तक खुले में शौच जैसी विकृति से मुक्त नहीं हो पाया है। प्रतिदिन सुबह मल्हारगढ़ एवं मंदसौर मार्ग पर कई लोग हाथ में लोटा या डिब्बा लेकर देखे जा सकते है। आश्चर्यजनक बात यह रही कि पद पर काबिज़ जिम्मेदार लोगों ने भी अपने नगर के प्रति सफाई अभियान में रुचि नही दिखाई।
------------------
रहवासियों का कहना...
क्षेत्र में गंदगी के कारण मच्छरों की भरमार है। साफ.- सफाई नहीं होने से बदबू के कारण जीना दूभर हो रहा है।
- विनोद पाटीदार, रहवासी बखारिया खाल
नाले की नियमित सफाई ना होने के कारण रहवासी गंदगी, बदबू एवं मच्छरों से परेशान है।
- रमेश पाटीदार, रहवासी बखारिया खाल, नारायणगढ़
------------------
इनका कहना...
शासन के निर्देशानुसार सभी गतिविधियां संचालित की जा रही है। बड़ा नगर है, कही कमी है तो उसे शीघ्र दूर किया जाएगा।
- जितेंद्र जाट, अध्यक्ष, नगर परिषद, नारायणगढ़
------------------

Ad Block is Banned