मलबा हटाने पहुंची टीम पर प्रभावित लोगों ने जताया आक्रोश

मलबा हटाने पहुंची टीम पर प्रभावित लोगों ने जताया आक्रोश

harinath dwivedi | Publish: Sep, 09 2018 09:38:37 PM (IST) Mandsaur, Madhya Pradesh, India

मलबा हटाने पहुंची टीम पर प्रभावित लोगों ने जताया आक्रोश

मंदसौर । भानपुरा नगर परिषद द्वारा निमथुर गेट से नगर माता ब्रिज तक बनाए जाने वाले सीमेंट- कांक्रिट बाईपास रोड निर्माण के मार्ग में आने वाले अतिक्रमणों व मकानों को 7 सितंबर को तोड़ा गया था। 8 सितंबर को पूरे दिनभर बारिश के चलते मलबा हटाया नहीं जा सका था। जिन लोगों के मकान हटाए गए उनमें से अधिकांश गरीब और दलित वर्ग के लोग हैं। यह लोग अभी भी क्षतिग्रस्त हिस्सों में रुके हुए हैं। इसके चलते कभी भी गंभीर घटना हो सकती हैं। रविवार को नगर परिषद की जेसीबी मशीन द्वारा मलबा हटाने का कार्य शुरू किए जाने पर प्रभावित लोगों द्वारा आक्रोश व्यक्त करते हुए काम को रुकवा दिया। प्रभुलाल मेघवाल, रशीद खान, छोटू, सितारा बाई, वसीम, पप्पू, कारु मेघवाल, बिलाल खान सहित कई लोगों द्वारा मांग की गई है कि नगर परिषद पहले प्रभावित लोगों को सहायता व मुआवजा देवें। हमारे परिवार भारी मुसीबत में है, नगर परिषद में हमारे मकानों को तोड़कर हमें हमारे हाल पर छोड़ दिया है। पुलिस प्रशासन मौके पर पहुंचा एवं समझाइश के बाद मलबा हटाने का कार्य शुरू हुआ।
रामद्वारा स्थल पर किसी प्रकार का नहीं हैअतिक्रमण
इसी मार्ग में आने वाले रामद्वारा व्यवस्थापक अरविंद कोठारी ने सीएमओ को प्रमाण सहित एक पत्र लिखकर मांग की है कि रामद्वारा स्थल पर किसी प्रकार का अतिक्रमण नहीं है स्वामित्व पर सब निर्माण है। इस कारण बन रहे सीसी रोड में राम द्वारे की बाउंड्रीवाल को ना तोड़ा जाएं। दो बार ढाई फीट दीवार तोडऩे का नोटिस दिया गया जो गैर कानूनी है। 18 फीट रोड चौड़ा बनना है तो जिसका अतिक्रमण है वह तोड़कर बनाया जाएं। खसरा नंबर 773, 774 पर रामद्वारा की जमीन है इस पर ही निर्माण है। रतनचंद पिता रामधन कोठारी के नाम से यह जमीन रजिस्टर्ड है एवं नगर परिषद के रिकॉर्ड में दर्ज हैं।
इनका कहना...
- कांग्रेस नेता दिलीप तिल्लानी ने कहा कि जिस स्थान से नगर परिषद द्वारा जो अतिक्रमण हटाया गया है वहां गरीब व दलित वर्ग के लोग निवासरत हैं। बारिश के मौसम में नगर परिषद ने इनको भारी मुसीबतों में डाल दिया है। शासन प्रशासन को इन लोगों के पुनर्वास की व्यवस्था करनी चाहिए एवं हुए नुकसान का मुआवजा प्रभावितों को दिया जाएं।
- अनुसूचित जाति प्रकोष्ठ कांग्रेस के जिला उपाध्यक्ष सुभाष बागड़ी ने कहा कि नगर परिषद द्वारा बारिश के मौसम में गरीब व दलित वर्ग के लोगों के आशियाने उजाड़कर इन्हें भारी मुसीबतों में डाल दिया है। इन लोगों के दुखों को देखा नहीं जा सकता। नगर परिषद प्रभावित लोगों को सहायता राशि उपलब्ध कराएं ताकि यह लोग अपने निवास स्थान को ठीक करा सके।
- प्रभारी मुख्य नगरपालिका अधिकारी शंभूलाल शर्मा ने कहा कि बायपास निर्माण के लिए जो अतिक्रमण हटाए गए शासन की जगह पर हैं शासन की भूमि पर मुआवजा नहीं दिया जा सकता। फिर भी प्रभावित लोग नगर परिषद में लिखित आवेदन करें इस विषय को परिषद के विचार के लिए रखा जाएगा। पूरा मार्ग 18 फीट चौड़ा बनाना है, जो भी अतिक्रमण है, हटेगा इसमें कोई पक्षपात नहीं होगा। रामद्वारा व्यवस्थापक के पास जो भी प्रमाण है देख कर कार्य करेंगे।

Ad Block is Banned